BREAKING NEWS

'भारत बचाओ' रैली से पहले राहुल गांधी का ट्वीट, कहा- BJP सरकार की तानाशाही के खिलाफ बोलूंगा◾पीएम मोदी निर्मल गंगा के दर्शन करने पहुंचे कानपुर, एयरपोर्ट पर CM योगी ने किया स्वागत ◾केजरीवाल को मिला प्रशांत किशोर की कंपनी आई-पैक का साथ, विधानसभा चुनाव में AAP के लिए करेंगे काम◾पति ने मेट्रो के आगे कूदकर की आत्महत्या, पत्नी ने बेटी को फांसी लगाने के बाद की खुदकुशी ◾CAB : असम के गुवाहाटी में सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू में दी गई ढील◾दिल्ली के मुंडका में लकड़ी के गोदाम में लगी भीषण आग, दमकल की 20 गाड़ियां मौके पर मौजूद◾भारत में CAB से पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित है अमेरिका◾आज कानपुर दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अविरल-निर्मल गंगा पर करेंगे मंथन◾एनएसएफ ने CAB विधेयक के खिलाफ आज छह घंटे का बंद का आह्वान किया ◾बजट 1 फरवरी को हो सकता है पेश : सूत्र ◾BJP की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से की राहुल गांधी की शिकायत ◾दिल्ली में अभी चुनाव हुए तो भाजपा को मिलेंगी 42 सीटें◾अवसाद में निर्भया कांड के दोषी, खाना-पीना कम किया : तिहाड़ जेल के सूत्र◾योगी ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से 11 रुपये, पत्थर मांगे ◾सर्जिकल स्ट्राइक की इजाजत देने से पहले पर्रिकर ने कहीं थीं दो बातें : दुआ◾‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी को लेकर भाजपा . कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर ◾महिलाओं की सुरक्षा को लेकर केजरीवाल बोले - हरसंभव कार्य कर रहा हूँ◾उत्तराखंड में भूकंप के हल्के झटके महसूस किये गये◾केवल भाजपा दे सकती है स्थिर और विकास उन्मुख सरकार : मनोज तिवारी◾अर्थव्यवस्था को गति देने के जब भी जरूरत होगी, कदम उठाये जाएंगे : वित्त मंत्री◾

देश

हिंदी को लेकर अमित शाह के बयान पर बोले कमल हासन - कोई 'शाह' नहीं तोड़ सकता, 1950 का वादा

 kamal

मक्कल नीधि मय्यम (एमएनएम) के संस्थापक व दिग्ग्ज अभिनेता कमल हासन ने हिंदी को ‘‘थोपने’’ के किसी भी प्रयास का विरोध करते हुए सोमवार को कहा कि यह दशकों पहले देश से किया गया एक वादा था, जिसे ‘‘किसी शाह, सुल्तान या सम्राट को तोड़ना नहीं चाहिए।’’

उन्होंने एक वीडियो में कहा, ‘‘विविधता में एकता का एक वादा है जिसे हमने तब किया था जब हमने भारत को एक गणतंत्र बनाया था। अब, उस वादे को किसी शाह, सुल्तान या सम्राट को तोड़ना नहीं चाहिए। 1950 में जब भारत गणतंत्र बना तो ये वादा किया गया था कि हर क्षेत्र की भाषा और कल्चर का सम्मान किया जाएगा और उन्हें सुरक्षित रखा जाएगा। हम सभी भाषाओं का सम्मान करते हैं, लेकिन हमारी मातृभाषा हमेशा तमिल रहेगी।’’ 

‘‘शाह या सुल्तान या सम्राट’’ टिप्पणी में स्पष्ट रूप से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ओर इशारा किया गया है। गौरतलब है कि शाह ने हिंदी दिवस के मौके पर कहा था कि आज देश को एकता की डोर में बाँधने का काम अगर कोई एक भाषा कर सकती है तो वो सर्वाधिक बोले जाने वाली हिंदी भाषा ही है। 

शाह के इस बयान पर द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धरमैया सहित कई विपक्षी नेताओं ने तीखी प्रतिक्रियाएं दी थीं। हासन ने वीडियो में कहा कि भारत विभिन्न व्यंजनों से भरी शानदार थाली के समान है। हमें इसका मिलकर लुत्फ उठाना चाहिये और किसी एक व्यंजन (हिंदी) को थोपने से इसका जायका बिगड़ जाएगा। कृपया ऐसा नहीं करें। 

CJI रंजन गोगोई बोले-जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट

हासन ने यहां 2017 के जल्लीकट्टू के समर्थन में हुए प्रदर्शन का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘यह सिर्फ एक विरोध था, हमारी भाषा की लड़ाई इससे कहीं ज्यादा बड़ी होगी।’’ उन्होंने कहा कि भारत या तमिलनाडु को इस तरह की लड़ाई की कोई जरूरत नहीं है। देश के राष्ट्रगान का जिक्र करते हुए, हासन ने कहा कि यह एक ऐसी भाषा (बंगाली) में लिखा गया था जो अधिकांश नागरिकों की मातृभाषा नहीं है। अधिकांश देशवासी खुशी के साथ बंगाली में अपने राष्ट्रगान को गाते हैं और वे ऐसा करते रहेंगे।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इसका कारण कवि (रवींद्रनाथ टैगोर) हैं जिन्होंने राष्ट्रगान लिखा था, जिसमें उन्होंने सभी भाषाओं और संस्कृति को उचित सम्मान दिया और इसलिए, यह हमारा राष्ट्रगान बन गया।’’ उन्होंने कहा कि समावेशी भारत को एक अलग तरह का देश बनाने की कोई कोशिश नहीं की जानी चाहिए क्योंकि ‘‘इस तरह की अदूरदर्शिता की वजह से सभी को नुकसान होगा।’’