BREAKING NEWS

अमेरिका ने हाफिज सईद की पूर्व में हुई गिरफ्तारियों को बताया 'दिखावा', कहा- गतिविधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा◾योगी सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है : सुरजेवाला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के पूर्व विभाग से महत्वपूर्ण फाइलें गायब◾प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस में बिताई रात, प्रशासन से दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम◾चंद्रकांत पाटिल का दावा : चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता BJP होंगे शामिल◾एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण◾सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी ,जमानत लेने से किया इनकार, बोलीं- जेल जाने को तैयार हूं◾योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस ◾जारी रहेगी MS Dhoni की धूम, मैनेजर बोले - माही की अभी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं◾कर्नाटक : विधानसभा विश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बिना सोमवार तक स्थगित ◾रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾

देश

कर्नाटक : बागी विधायकों के इस्तीफे के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

बेंगलुरू : कर्नाटक में कांग्रेस के 10 बागी विधायकों के इस्तीफे के खिलाफ यहां कांग्रेस के दो सौ कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदर्शन किया और जनता दल (एस) के साथ सरकार को बनाए रखने के लिए इन इस्तीफों को वापस लेने की मांग की। 

पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया, 'बेंगलुरू और आस-पास के जिलों के पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्लेकार्ड और बैनरों के साथ धरना दिया। उन्होंने पार्टी को संकट में डालने वाले बागियों के इस्तीफों के प्रति विरोध जताया और इन्हें वापस लेने की मांग की।'

कांग्रेस के नौ विधायकों ने शनिवार को इस्तीफे का ऐलान किया। एक अन्य विधायक, आनंद सिंह एक जुलाई को इस्तीफे का ऐलान कर चुके हैं। 

कार्यकर्ताओं ने पार्टी की राज्य इकाई के नेताओं से संकट का जल्द से जल्द समाधान करने की अपील की। उन्होंने बागियों से मुंबई से वापस बेंगलुरू लौटने और अपनी चिंताओं व मांगों पर पार्टी नेताओं से बात करने का आग्रह किया। 

यहां पार्टी कार्यालय पर कांग्रेस के वरिष्ठ कार्यकर्ता जी. पुत्तुस्वामी ने कहा, 'जनता दल (एस) के बागियों के साथ इस्तीफा देने के बजाए, इन विधायकों को पार्टी नेतृत्व से बात करनी चाहिए थी न कि गठबंधन सरकार के भविष्य को अनिश्चितता में डाल कर संकट पैदा करने वाला कदम उठाना चाहिए था।'

उन्होंने कहा, 'हमें उम्मीद है कि पार्टी के नेता बागियों को इस्तीफा वापस लेने के लिए मना लेंगे और अपने मतभेदों को भुलाकर सभी के हित में गठबंधन सरकार को बनाए रखने में मदद करेंगे।' 

कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन कड़ी सुरक्षा के बीच करीब एक घंटे तक चला। इस दौरान पार्टी के नेता और मंत्री कार्यालय तक नहीं आ सके।