BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾बलोच, सिंधी और पख्तून समूहों को PM मोदी और डोनाल्ड ट्रंप से मदद की आस◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने ऊर्जा कंपनियों के 17 सीईओ से की वार्ता, अमेरिका से LNG पर करार◾VIDEO : ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से मिले PM मोदी, बोले- जो आपने कष्ट झेला वो कम नहीं है◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने पेश की स्वच्छता की मिसाल, गिरा हुआ फूल खुद उठा कर सबको चौंकाया, देखें VIDEO◾भारतीय अमेरिकी समुदाय ने कहा- PM नरेंद्र मोदी की यात्रा ह्यूस्टन के लिए बड़ी बात◾अयोध्या के विवादित ढांचा को ढहाए जाने के मामले में कल्याण सिह को समन जारी◾‘Howdy Modi’ के लिए ह्यूस्टन तैयार, 50 हजार टिकट बिके ◾‘Howdy Modi’ कार्यक्रम के लिए PM मोदी पहुंचे ह्यूस्टन◾प्रधानमंत्री का ह्यूस्टन दौरा : भारत, अमेरिका ऊर्जा सहयोग बढ़ाएंगे ◾क्या किसी प्रधानमंत्री को ऐसे बोलना चाहिए : पाक को लेकर मोदी के बयान पर पवार ने पूछा◾कश्मीर पर भारत की निंदा करने के लिये पाकिस्तान सबसे ‘अयोग्य’ : थरूर◾राजीव कुमार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज ◾AAP ने अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने में देरी पर ‘धोखा दिवस’ मनाया ◾ शिवसेना, भाजपा को महाराष्ट्र चुनावों में 220 से ज्यादा सीटें जीतने का भरोसा◾आधारहीन है रिहाई के लिए मीरवाइज द्वारा बॉन्ड पर दस्तखत करने की रिपोर्ट : हुर्रियत ◾TOP 20 NEWS 21 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

देश

मुंबई से बेंगलुरु के लिए रवाना हुए कर्नाटक के बागी विधायक

मुंबई के एक होटल में ठहरे कर्नाटक के 16 बागी विधायक गुरुवार की दोपहर छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से बेंगलुरु के लिए रवाना हो गए जहां वे विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात करेंगे। सूत्रों ने बताया कि विधायक विशेष विमान से 2:00 बजकर 50 मिनट पर बेंगलुरु के लिए रवाना हुए। 

सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस- जद(एस) गठबंधन के बागी विधायकों को शाम 6 बजे तक विधानसभा अध्यक्ष से मिलकर इस्तीफा देने के अपने फैसले की जानकारी देने की अनुमति दे दी थी। इसके बाद यह घटनाक्रम हुआ है। मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।  मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने विधानसभा अध्यक्ष से विधायकों से मुलाकात के बाद ही इस बारे में निर्णय लेने को भी कहा है। 

बागी विधायकों के अध्यक्ष से मुलाकात करने के लिए विमान से मुंबई से बेंगलुरु जाने की संभावना है। विधायकों ने अपनी याचिका में आरोप लगाया कि अध्यक्ष ने उनसे एक साथ मुलाकात करने से इंकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक को सभी बागी विधायकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आदेश दिया है। मामले की अगली सुनवाई 12 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दी गई है। 

पीठ ने विधानसभा अध्यक्ष से सुप्रीम कोर्ट को शुक्रवार को सुनवाई के दौरान इस मामले की प्रगति से अवगत कराने का भी आग्रह किया है। इस बीच बेंगलुरु में महत्वपूर्ण गतिविधियां जारी है। बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने विधान सौधा के दो किलोमीटर के दायरे में निषेधाज्ञा लागू कर दी है। 

विधानसभाध्यक्ष से मिलेंगे, लेकिन इस्तीफे नहीं लेंगे वापस

मुंबई के एक होटल में रुके कर्नाटक के बागी विधायकों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुरूप वे राज्य के विधानसभाध्यक्ष से मुलाकात करेंगे लेकिन अपने इस्तीफे वापस नहीं लेंगे। कोर्ट  के निर्देश पर प्रतिक्रिया व्यक्ति करते हुए पोवई स्थित एक होटल में अन्य बागी विधायक साथियों के साथ ठहरे बागी विधायक बी बसावराज ने संवाददाताओं से कहा कि वे कर्नाटक के विधानसभाध्यक्ष से शाम चार बजे मुलाकात करेंगे। 

उन्होंने कहा, ‘‘हम उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का सम्मान करते हैं। हम आज ही शाम चार बजे विधानसभाध्यक्ष से मिलेंगे और उन्हें हमारे इस्तीफे देंगे। हम अपने इस्तीफे वापस नहीं लेंगे।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या कर्नाटक विधानसभा से उनके इस्तीफा देने के निर्णय के पीछे बीजेपी का हाथ है, बसावराज ने कहा, ‘‘हमारे निर्णय के पीछे बीजेपी नहीं है। इसका बीजेपी से कोई लेना देना नहीं है।’’ 

कांग्रेस, जदएस और निर्दलीयों सहित 14 विधायक कर्नाटक विधानसभा से इस्तीफा देने और दक्षिणी राज्य में गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद यहां के होटल में रुके हुए हैं। बुधवार को कर्नाटक के वरिष्ठ मंत्री डी के शिवकुमार को पुलिस ने तब होटल में प्रवेश करने से रोक दिया था जब उन्होंने बागी विधायकों से मुलाकात की जिद की। 

शिवकुमार को बाद में बेंगलुरू वापस भेज दिया गया था। यदि बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार हो जाते हैं तो दक्षिणी राज्य में सत्तारूढ़ गठबंधन के बहुमत खोने का खतरा है। गठबंधन में विधानसभाध्यक्ष को छोड़ कर कुल विधायकों की संख्या 116 (कांग्रेस..78, जदएस..37 और बसपा एक) है।