BREAKING NEWS

आप नेता सुनीता, उमेद और अनवर भाजपा में शामिल◾बैंक धोखाधड़ी : हीरा कारोबारी के 13 ठिकानों पर सीबीआई छापे◾केजरीवाल के नामांकन पत्र दाखिले में चुनाव आयोग ने जानबूझकर विलंब नहीं किया : दिल्ली निर्वाचन कार्यालय◾केजरीवाल के पास कुल 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति, 2015 से 1.3 करोड़ रुपये बढ़त◾दावोस में डोनाल्ड ट्रंप से मिले इमरान , अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कश्मीर पर करीबी नजर◾टुकड़े-टुकड़े गैंग का अस्तित्व है और वह सरकार चला रहा है : थरूर◾गणतंत्र दिवस : 23 जनवरी को परेड रिहर्सल, दिल्ली पुलिस ने जारी की सूचना, ये मार्ग रहेंगे बंद, यहां से जाना होगा !◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को चार दिवसीय यात्रा पर आएंगे भारत◾दिल्ली को सर्दी से मिली फौरी तौर पर राहत, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में अभी भी शीत लहर ◾भारत कठिन दौर से गुजर रहा है, नीचे बनी रहेगी आर्थिक वृद्धि दर : अर्थशास्त्री◾अदालत ने आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾अमित शाह की रैली में शरणार्थियों का छलका दर्द◾जम्मू कश्मीर के लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में सुनना चाहता है केंद्र : नकवी ◾छह घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने नामांकन पत्र किया दाखिल◾TOP 20 NEWS 21 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बेटियों के खिलाफ FIRदर्ज होने पर मुनव्वर राना बोले- मुझ पर दर्ज करो मुकदमा, मैंने ऐसी बागी बेटियां पैदा की◾कोर्ट ने चंद्रशेखर आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने CAA पर PM मोदी और अमित शाह को बहस की चुनौती दी◾लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾

कुमारस्वामी सरकार का हटना कर्नाटक की जनता के लिए खुशखबरी : BJP

कर्नाटक में कांग्रेस - जनता दल यूनाइटेड सरकार के विश्वास मत में हार जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि राज्य के लोगों के लिए एक भ्रष्ट और अवैधानिक गठबंधन के सत्ता से हटना एक बड़ खुशखबरी है। 

कर्नाटक में भाजपा द्वारा नयी सरकार बनाने का दावा पेश किये जाने की संभावनाओं के बीच भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसिंहराव ने कहा कि भाजपा जल्द ही कर्नाटक की जनता के हित में निर्णय करेगी। 

उन्होंने कहा कि विश्वास मत में पराजित हुई कर्नाटक सरकार एक अवैधानिक सरकार थी जो पिछले दरवाजे से सत्ता में आयी थी और विधायी बहुमत खो देने के बावजूद हफ्तों से सत्ता में बनी हुई थी। एक भ्रष्ट और अवैधानिक सरकार के सत्ता से हटना कर्नाटक के लोगों के लिए खुशखबरी है। 

कर्नाटक की 14 माह पुरानी जनता दल (एस) और कांग्रेस गठबंधन सरकार मंगलवार को गिर गयी जिसके साथ ही छह दिन तक चले सियासी नाटक का पटाक्षेप हो गया। मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी की तरफ से लाये गये विश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 99 और विरोध में 105 मत पड़। 

कांग्रेस और जनता दल (एस) के 15 विधायकों के इस्तीफा देने से गठबंधन सरकार अल्पमत में आ गयी थी। गठबंधन के नेताओं ने सरकार बचाने की भरसक कोशिश की। मुख्यमंत्री ने विश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराये जाने से बचने के कई ‘उपाय’ किये। चार दिन चली चर्चा के बाद आज शाम साढ़ सात बजे मतदान कराया गया जिसका नतीजा गठबंधन दलों के विपरीत गया और आखिरकार सरकार गिर गयी। 

कांग्रेस और जद एस ने विपक्षी भाजपा पर ‘ऑपरेशन लोट्स' के तहत पैसा और मंत्री पद देने का लालच देकर गठबंधन के विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाया है। अध्यक्ष द्वारा समन जारी करने के बावजूद गठबंधन के बागी विधायक विश्वास प्रस्ताव के दौरान सदन में उपस्थित नहीं हुए। 

मुख्यमंत्री ने रात करीब साढ़ आठ बजे राजभवन जाकर राज्यपाल वजूभाई वाला को सरकार का इस्तीफा सौंप दिया। राज्यपाल ने इस्तीफा तुरंत स्वीकार कर लिया। इसके बाद भाजपा विधायक दल के नेता येदियुरप्पा ने विधायकों के साथ बैठक की। 

उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बात करेंगे तथा एक दो दिन में राज्य की जनता के हित में निर्णय लेंगे। 

राजधानी में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पार्टी अध्यक्ष श्री शाह और भाजपा के नये संगठन महामंत्री बी एल संतोष से कर्नाटक के घटनाक्रम पर विचार विमर्श किया।