BREAKING NEWS

दिल्ली : 24 घंटे में कोरोना से 35 लोगों की मौत, 1606 नए मामले◾राजस्थान में सियासी घमासान के बीच पायलट ने कहा-राम राम सा! तो विश्वेंद्र व मीणा ने पूछा क्या गलती की?◾राजस्थान: सियासी उठापटक के बीच कल सुबह दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे सचिन पायलट ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2.67 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,741 नए केस◾कानपुर शूटआउट : गिरफ्तार शशिकांत पांडेय का खुलासा, विकास के कहने पर ही हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में कोरोना के 50 फीसदी मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से◾बिहार में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 16 से 31 जुलाई तक लगाया गया लॉकडाउन ◾राज्यपाल से मुलाकात के बाद बोले गहलोत- कुछ लोग 'आ बैल मुझे मार' रवैये के साथ कर रहे थे काम◾सचिन पायलट की अध्यक्ष पद से बर्खास्ती के बाद गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपा गया कार्यभार◾कांग्रेस के एक्शन के बाद सचिन पायलट ने किया ट्वीट- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन ने पैंगोग झील, देपसांग से सैनिकों को हटाने पर की वार्ता ◾कांग्रेस का सचिन पायलट पर बड़ा एक्शन, प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से किया बर्खास्त◾राजस्थान के मौजूदा संकट के लिए उमा भारती ने कांग्रेस और राहुल को बताया जिम्मेदार◾केजरीवाल ने प्लाज्मा बैंक का किया उद्धाटन, बोले- दिल्ली में कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों को प्लाज्मा मिला ◾CBSE 10वीं का रिजल्ट कल होगा जारी, HRD मंत्री पोखरियाल ने की घोषणा ◾अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावे को किया खारिज, कही ये बात◾पायलट का गहलोत के खिलाफ बगावती सुर बरकरार, मनाने में जुटा कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व◾कानपुर मुठभेड़ : एक और आरोपी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस को विकास दुबे के घर पर मिली AK-47◾भगवान राम को नेपाली बताने वाले बयान पर भड़के सिंघवी, बोले-ओली का बिगड़ गया है मानसिक संतुलन◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के पार, अब तक 24 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लद्दाख LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी

पूर्वी लद्दाख सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले करीब एक महीने से जारी सैन्य गतिरोध को दूर करने के लिए भारत और चीन के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के बीच आज उच्च स्तरीय बैठक हो रही है। लेफ्टिनेंट जनरल स्तर के अधिकारियों की यह बैठक चीन के चुशूल मोल्डो स्थित बार्डर पर्सनल मीटिंग प्वाइंट पर हो रही है जो इस तरह की बैठकों के लिए लद्दाख में निर्धारित दो केन्द्रों में से एक है।

बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व लेह स्थित 14 वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिन्दर सिंह कर रहे हैं जबकि चीन की और दक्षिण शियांग सैन्य डिविजन कोर के कमांडर मेजर जनरल लिन बातचीत की मेज पर हैं। मेजर जनरल को चीन ने दो दिन पहले ही नये पद की जिम्मेदारी सौंपी थी।

बैठक में भारत की यह होगी मांग 

मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में भारत इस बात पर जोर देगा कि अप्रैल में जो स्थिति लद्दाख इलाके में थी वही चीन बरकरार रखे। वहीं इस बैठक में भारत की मांग होगी कि चीन एलएसी के पास के इलाकों से अपनी सेना के साथ पीछे हटे। चीन सीमा पर तैनात हथियारबंद और गाड़ियों को पीछे ले जाए। वहीं भारत भारतीय सेना पैंगोंग त्सो पर जारी विवाद को खत्म करने के लिए भी चीन पर दबाव बनाएगी।

मीडिया से तथ्यों और अटकलों पर आधारित रिपोर्टिंग करने से बचने की अपील

सेना की ओर से आज सुबह जारी वक्तव्य में कहा गया है कि दोनों देशों के अधिकारी स्थापित सैन्य और रायनयिक चैनलों से सीमा पर उत्पन्न स्थिति का समाधान करने के लिए बातचीत कर रहे हैं। मीडिया से बिना तथ्यों और अटकलों पर आधारित रिपोर्टिंग करने से बचने की अपील की गयी है।

राहुल गांधी का केंद्र पर वार- लोगों को नकद सहयोग नहीं देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है सरकार

इस बैठक से एक दिन पहले ही शुक्रवार को दोनों देशों के विदेश मंत्रालयों में संयुक्त सचिव स्तर की बातचीत में की ओर से स्थिति को सामान्य बनाने के लिए सकारात्मक संकेत दिये गये। विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (पूर्व एशिया) नवीन श्रीवास्तव और चीनी विदेश मंत्रालय में महानिदेशक वू च्यांगाओ के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बातचीत के बाद जारी एक बयान में कहा गया कि भारत एवं चीन के बीच शांतिपूर्ण, स्थिर एवं संतुलित संबंध वर्तमान वैश्विक परिस्थितियों में स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण हैं।

इससे पहले विभिन्न स्तर के अधिकारियों की हो चुकी करीब 8 बैठकें 

मंगलवार को सेना की 3 डिवीजन के प्रमुख जो मेजर जनरल रैंक के अधिकारी हैं उन्होंने अपने चीनी समकक्ष के साथ इस मुद्दे पर बात की थी लेकिन यह बातचीत बेनतीजा थी। इसके बाद शुक्रवार को उच्च स्तरीय बैठक का निर्णय लिया गया। इसके अलावा भी दोनों पक्षों के बीच विभिन्न स्तर के अधिकारियों की करीब 8 बैठकें हो चुकी हैं। वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मुख्य रूप से तीन जगहों पर दोनों सेनाओं के बीच गतिरोध है और करीब पिछले एक महीने से दोनों ने वहां अच्छी खासी संख्या में सैनिकों का जमावड़ा कर रखा है।