BREAKING NEWS

ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾

कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस प्रमुख पद के लिए लॉबिंग हुई तेज

कर्नाटक में कांग्रेस को आगे ले जाने के लिए आम राय बनाने की खातिर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक के एक दिन बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद हासिल करने की दौड़ तेज हो गई। 

पार्टी के वरिष्ठ नेता डी. के. शिवकुमार इस पद की दौड़ में सबसे आगे माने जा रहे हैं। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया से उनके आवास पर मुलाकात की। सिद्धरमैया के अपने एक विश्वस्त के पक्ष में लॉबिंग करने की खबरों के बीच शिवकुमार ने उनसे यह मुलाकात की। 

इस बीच, पार्टी के एक अन्य वरिष्ठ विधायक सतीश जरकीहोली ने स्पष्ट कर दिया कि यदि पार्टी आलाकमान ने उन्हें यह दायित्व सौंपा तो वह इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए सक्षम हैं। 

वहीं, पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री रामलिंगा रेड्डी के विश्वस्तों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए उनके नाम को आगे बढ़ाया। 

कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरमैया और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख दिनेश गुंडु राव ने हालिया विधानसभा उपचुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे दिया था। 

गौरतलब है कि कांग्रेस 15 सीटों पर हुए उपचुनाव में सिर्फ दो सीट पर ही जीत हासिल कर सकी, जबकि पहले 12 सीटों पर उसका कब्जा था। 

पार्टी सूत्रों के मुताबिक सिद्धरमैया विपक्ष के नेता पद पर बने रह सकते हैं, वहीं कांग्रेस विधायक दल के नेता का पद किसी और को दिया जा सकता है। 

सूत्रों ने बताया कि प्रदेश प्रमुख का पद किसी और नेता को दिए जाने की संभावना है क्योंकि राव का इस्तीफा स्वीकार किया जा सकता है। 

शिवकुमार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद की दौड़ में सबसे आगे माने जा रहे हैं और इस बारे में पार्टी आलाकमान से पहले ही चर्चा कर चुके हैं। 

सिद्धरमैया से उनकी मुलाकात इन खबरों के बीच मायने रखती है कि पूर्व मुख्यमंत्री इस पद के लिए अपने एक विश्वस्त का समर्थन कर रहे हैं। 

पार्टी आलाकमान के साथ चर्चा करने के लिए सिद्धरमैया के जल्द ही दिल्ली की यात्रा करने की उम्मीद है। 

सूत्रों ने बताया कि शिवकुमार ने मुलाकात के दौरान इस प्रतिष्ठित पद पर अपनी नियुक्ति के लिए सिद्धरमैया से सहयोग का अनुरोध किया, साथ ही उनके नेतृत्व के तहत काम करने का वादा किया। 

हालांकि, मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए शिवकुमार ने कहा कि उन्होंने विधायक एवं मंत्री के तौर पर सिद्धरमैया के तहत काम किया है और करीब दो घंटे की मुलाकात के बारे में कुछ भी खास नहीं है। 

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘...मैं किसी पद के लिए प्रतिस्पर्धी नहीं हूं, मैं कोई पद नहीं मांगूगा, वह वक्त खत्म हो गया है। मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं और कार्यकर्ता के रूप में काम करूंगा।’’ 

वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस नेता एवं विधायक सतीश जरकीहोली ने कहा, ‘‘पार्टी आलाकमान जिस किसी के बारे में फैसला करेगा, उसके नेतृत्व के तहत काम करने और सहयोग करने का फैसला लिया गया है। देखते हैं, यह फैसला आलाकमान को करना है (केपीसीसी प्रमुख कौन होगा)। ’’ 

यह पूछे जाने पर कि क्या वह इस पद के आकांक्षी हैं, जरकीहोली ने बेलगावी में कहा, ‘‘मैंने नहीं मांगा है, लेकिन यदि दिया गया तो मैं इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाउंगा।’’ 

इस बीच, सात बार विधायक चुने गए कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी के विश्वस्तों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर उन्हें प्रदेश कांग्रेस प्रमुख बनाने की मांग की। 

बेंगलुरु के पूर्व मेयर एवं रेड्डी के करीबी विश्वस्त माने जाने वाले बीएन मंजूनाथ रेड्डी ने ट्वीट कर उन्हें प्रदेश कांग्रेस प्रमुख बनाये बनाए जाने का समर्थन किया। 

पिछले साल गठबंधन सरकार द्वारा राजनीतिक घमासान का सामना किए जाने के दौरान रेड्डी ने इस्तीफा देने की धमकी दी थी। दरअसल, वह पार्टी में दरकिनार किए जाने को लेकर नाखुश थे। हालांकि, पार्टी अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद उन्होंने कांग्रेस में बने रहने का फैसला किया था। 

विधानसभा उपचुनाव में पार्टी को मिली करारी शिकस्त के बाद प्रदेश में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के इस्तीफा देने से संभवत: एक शून्य पैदा हो जाने को ध्यान में रखते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने शनिवार को यहां मुलाकात की। उनका उद्देश्य आगे के लिए एक आमराय बनाना था। 

सूत्रों के मुताबिक चर्चा के लिए कर्नाटक के कांग्रेस नेताओं के दिल्ली आने से पहले यह बैठक प्रदेश इकाई में मतभेदों को दूर करने, पार्टी को आगे ले जाने के लिए आम राय बनाने के लिए और अहम पदों पर नियुक्तियों के बारे में पार्टी आलाकमान से मिले निर्देशों के बाद बुलाई गई। 

प्रदेश प्रमुख पद के अन्य आकांक्षियों में पार्टी के वरिष्ठ नेता के एच मुनियप्पा और प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यकारी प्रमुख ईश्वर खांडरे का नाम भी शामिल समझा जा रहा है। 

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जी परमेश्वर और एच के पाटिल, उन नेताओं में शामिल हैं जिन्हें कांग्रेस विधायक दल पद की दौड़ में आगे देखा जा रहा है। यह पद सिद्धरमैया ने खाली किया है।