BREAKING NEWS

केजरीवाल सरकार ने दिए निर्देश, कहा- बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को 24 घंटे के अंदर अस्पताल से दें छुट्टी◾एकता कपूर की मुश्किलें बढ़ी, अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान के आरोप में FIR दर्ज◾बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अमित शाह कल करेंगे ऑनलाइन वर्चुअल रैली, सभी तैयारियां पूरी हुई ◾केजरीवाल ने दी निजी अस्पतालों को चेतावनी, कहा- राजनितिक पार्टियों के दम पर मरीजों के इलाज से न करें आनाकानी◾ED ऑफिस तक पहुंचा कोरोना, 5 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद 48 घंटो के लिए मुख्यालय सील ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी◾राहुल गांधी का केंद्र पर वार- लोगों को नकद सहयोग नहीं देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है सरकार◾वंदे भारत मिशन -3 के तहत अब तक 22000 टिकटों की हो चुकी है बुकिंग◾अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से होगी शुरू,15 दिनों तक जारी रहेगी यात्रा, भक्तों के लिए होगा आरती का लाइव टेलिकास्ट◾World Corona : वैश्विक महामारी से दुनियाभर में हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 67 लाख के पार◾CM अमरिंदर सिंह ने केंद्र पर साधा निशाना,कहा- कोरोना संकट के बीच राज्यों को मदद देने में विफल रही है सरकार◾UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा दस हजार के करीब ◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 36 हजार के पार, अब तक 6642 लोगों की मौत ◾प्रियंका गांधी ने लॉकडाउन के दौरान यूपी में 44,000 से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचने में मदद की ◾वैश्विक महामारी से निपटने में महत्त्वपूर्ण हो सकती है ‘आयुष्मान भारत’ योजना: डब्ल्यूएचओ ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1330 नए मामले आए सामने , मौत का आंकड़ा 708 पहुंचा ◾हथिनी की मौत पर विवादित बयान देने पर केरल पुलिस ने मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की FIR◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत के ज्यादातर भागों में लॉकडाउन, 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेन और अंतरराज्यीय बस सेवाएं रहेगी बंद

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण से रविवार को तीन और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या सात हो गई। मृतकों में बिहार और गुजरात में हुई एक-एक व्यक्ति की मौत का मामला भी शामिल हैं। कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 360 हो गई है। 

इस बीच इस वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 22 मार्च की मध्य रात्रि से 31 मार्च की मध्यरात्रि तक सभी यात्री ट्रेन और अंतरराज्यीय बस सेवाओं को बंद करने की रविवार को घोषणा की गई और अभूतपूर्व कदम उठाते हुए 80 जिलों में लॉकडाउन किया गया है। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि 23 मार्च को सुबह छह बजे से 31 मार्च तक राजधानी लॉकडाउन में रहेगी और यहां स्थानीय स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण के छह मामले सामने आने के बाद कड़े कदम उठाने होंगे। 

उन्होंने उप राज्यपाल अनिल बैजल के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में बताया कि लॉकडाउन 31 मार्च को अर्द्धरात्रि तक चलेगा। 

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि बिहार, गुजरात और महाराष्ट्र से रविवार को एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। 

पटना स्थित एम्स में कोरोना वायरस से संक्रमित एक मरीज की रविवार को कोविड-19 के कारण मौत हो गई। इस व्यक्ति का कतर की यात्रा करने का इतिहास है। 

अस्पताल के अधीक्षक सी एम सिंह ने बताया कि मुंगेर जिले के निवासी 38 वर्षीय एक व्यक्ति को गुर्दे की बीमारी के कारण शुक्रवार को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से महाराष्ट्र में दूसरे मरीज की मौत की पुष्टि की। 

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि रविवार को मुंबई में कोरोना वायरस के 63 वर्षीय मरीज की मौत हो गई। इसके साथ ही महाराष्ट्र में इस रोग से दो लोगों की मौत हो चुकी है। 

इस व्यक्ति को शनिवार को यहां एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

गुजरात के सूरत में कोरोना वायरस से संक्रमित 67 वर्षीय एक व्यक्ति की रविवार को मौत हो गई। राज्य में कोरोना वायरस से होने वाली यह पहली मौत है। इस व्यक्ति को यहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। व्यक्ति ने दिल्ली और जयपुर की यात्रा की थी। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। 

अधिकरियों ने बताया कि व्यक्ति को 17 मार्च को किडनी और अस्थमा से संबंधित कई दिक्कतों के  साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसका विदेश की यात्रा का कोई इतिहास नहीं था। अधिकारियों ने कहा कि 21 मार्च को उस व्यक्ति की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट सकारात्मक आयी थी।  

सूरत के कलेक्टर धवल कुमार पटेल ने कहा, ‘‘कोरोना वायरस पॉजिटिव एक मरीज की रविवार दोपहर में एक निजी अस्पताल में मौत हो गई।’’ 

सूरत के नगर आयुक्त बी एन पाणि ने कहा, ‘‘व्यक्ति को गत 17 मार्च को किडनी की समस्या और अस्थमा जैसी कई स्वास्थ्य जटिलताओं के कारण एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार दोपहर करीब 2.50 बजे उसका निधन हो गया।’’ 

राजस्थान सरकार ने वायरस को रोकने के लिए शनिवार की रात को लॉकडाउन का फैसला किया था। 

वायरस के मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है। केन्द्र और राज्य सरकारों ने 17 राज्यों में 80 जिलों में लॉकहाउन करने का फैसला किया है। 

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को घोषणा की कि राज्य विशेष रूप से कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए कुछ अस्पतालों की संख्या निर्धारित करेंगे। 

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोविड-19 संक्रमण की कड़ी को कैसे तोड़ा जाये, यह हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है। 

उन्होंने कहा, ‘‘प्रत्येक राज्य ने यह प्रतिबद्धता जताई है कि कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए अस्पतालों को चिन्हित करेंगे। उदाहरण के लिए दिल्ली में एम्स के झज्जर (हरियाणा) में स्थित राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का इस्तेमाल कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए किया जायेगा। इसमें लगभग 800 बिस्तर हैं। 

भार्गव ने कहा कि कोविड-19 की जांच के लिए अब तक 60 निजी प्रयोगशालाओं ने पंजीकरण किया है। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि भारत में अब तक कोरोना वायरस के कारण पांच लोगों की मौत हुई है। सरकार ने 1,200 नए वेंटिलेटर खरीदने का आदेश दिया है। 

देश में आज ‘जनता कर्फ्यू’ चल रहा है और इस वायरस को फैलने से रोकने में मदद के लिए लोगों ने घरों में रहने का फैसला किया है। पंजाब में 31 मार्च तक राज्य में लॉकडाउन का फैसला किया गया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में रविवार शाम पांच बजे पूरे देश ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दिन रात कड़ी मेहनत कर रहे चिकित्सा पेशवरों और आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों की ताली,थाली और घंटी बजाकर प्रशंसा की और उनके प्रति आभार व्यक्त किया। 

प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की थी कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लोग रविवार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करें और इस संकट के दौर में भी काम कर रहे डॉक्टरों, पैरा मेडिकल कर्मी, पुलिस और अन्य जरूरी सेवाओं से जुड़़े कर्मियों की प्रशंसा के लिए शाम पांच बजे अपने घरों पर ताली, थाली और घंटी बजाकर उनका उत्साह बढ़ाएं। उनकी इस अपील पर बच्चे, बूढ़े, आम जन और खास सभी घरों से बाहर बालकनी, लॉन और छत पर आए और ताली, थाली और घंटी बजाकर आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों का उत्साह बढ़ाया। 

प्रधानमंत्री ने लोगों की इस भावना के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। 

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘कोरोना वायरस की लड़ाई का नेतृत्व करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को देश ने एक मन होकर धन्यवाद अर्पित किया। देशवासियों का बहुत-बहुत आभार।’’ 

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘ ये धन्यवाद का नाद है, लेकिन साथ ही एक लंबी लड़ाई में विजय की शुरुआत का भी नाद है। आइए, इसी संकल्प के साथ, इसी संयम के साथ एक लंबी लड़ाई के लिए अपने आप को बंधनों (सामाजिक दूरी) में बांध लें।’’ 

इसके कुछ देर बाद ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि उनकी सरकार राष्ट्रीय राजधानी को लॉकहाउन में रखेगी। महाराष्ट्र, केरल, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों ने अलग-अलग अवधि के लिए आंशिक या पूर्ण लॉकडाउन किया। 

नगालैंड ने कहा कि रविवार की मध्य रात्रि से अनिश्चितकालीन लॉकडाउन लगाया जा रहा है। 

देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने दिल्ली के पास गुड़गांव और मानेसर के कारखानों में उत्पादन रोक दिया है। कंपनी ने रविवार को कहा कहा कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए यह निर्णय किया गया है। 

महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड ने कोरोना वायरस की चिंताओं के चलते अपने नागपुर संयंत्र में विर्निमाण कार्य तत्काल प्रभाव से बंद करने की घोषणा की है। 

महिंद्रा ने एक बयान में कहा कि कंपनी के चाकन और कांदिविली संयंत्रों में भी उत्पादन सोमवार रात से बंद कर दिया जाएगा। 

देश की सबसे बड़ी दोपहिया वाहन कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ने कोरोना वायरस के संक्रमण से अपने कर्मचारियों को बचाने के लिये दुनियाभर के अपने सभी संयंत्रों का परिचालन 31 मार्च 2020 तक बंद रखने की घोषणा की है। कार बनाने वाली कंपनी फिएट ने भी महीने के अंत तक देश में विनिर्माण बंद करने का निर्णय लिया है। 

इससे पूर्व रेलवे ने अप्रत्याशित कदम उठाते हुए अपनी सभी यात्री सेवाएं 22 मार्च की आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक बंद रखने की रविवार को घोषणा की। 

रेलवे ने कहा कि इस अवधि में केवल मालगाड़ियां चलेंगी। 

रेलवे ने अपनी कई ट्रेनें रद्द करके शुक्रवार को ही अपनी सेवाओं में कटौती कर दी थी, लेकिन उसने उन ट्रेनों को यात्रा जारी रखने की अनुमति दे दी थी जो पहले ही अपनी यात्रा शुरू कर चुकी थीं। 

रेलवे के नए आदेश के अनुसार 22 मार्च की आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक केवल मालगाड़ियां चलेंगी। 

सरकार ने सभी अंतरराज्यीय बस सेवाओं को 31 मार्च तक स्थगित कर दिया है। 

पश्चिम बंगाल सरकार ने एक अधिसूचना में कहा कि कोलकाता और राज्य के अन्य क्षेत्रों में सोमवार की शाम पांच बजे से 27 मार्च तक लॉकहाउन रहेगा। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के पुष्ट मामलों की संख्या सबसे अधिक 67 है, इसके बाद केरल (52) और दिल्ली (29) है। 

उत्तर प्रदेश में 27 मामले दर्ज किये गये है जबकि तेलंगाना में 27, राजस्थान में 24 और हरियाणा में 21 मामले सामने आये है। 

कर्नाटक में 26 मरीज हैं। पंजाब में 21 मामले और गुजरात में 18 मामले हैं। 

लद्दाख में 13 मामले और तमिलनाडु में छह मामले सामने आये है। चंडीगढ़ और आंध्र प्रदेश में पांच-पांच मामले सामने आये है। मध्य प्रदेश, जम्मू कश्मीर और पश्चिम बंगाल में चार-चार मामले सामने आये है। उत्तराखंड में तीन मामले जबकि बिहार, ओडिशा और हिमाचल प्रदेश में दो-दो मामले दर्ज किये गये है। 

पुडुचेरी और छत्तीसगढ़ में एक-एक मामला सामने आया है। 

चेन्नई से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार स्पेन से लौटा एक व्यक्ति तमिलनाडु में कोरोना से संक्रमित पाया गया है जिससे राज्य में कुल मामलों की संख्या सात हो गई है। राज्य में लोगों ने ‘जनता कर्फ्यू’ को पूरा समर्थन दिया। 

हैदराबाद से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार तेलंगाना में 31 मार्च तक पूर्ण लॉकडाउन रहेगा और लोगों को एहतियातन घरों में ही रहने को कहा गया है। राज्य में छह नये मामले सामने आने के बाद रविवार को इसके मामलों की संख्या बढ़कर 27 पहुंच गई। 

जम्मू कश्मीर में अब तक कोरोना वायरस से चार पॉजिटिव मामले सामने आये है। इसके अलावा केन्द्र शासित प्रदेश के बाहर से लौटे और संक्रमण के संदिग्ध लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों समेत 3,938 लोगों को निगरानी में रखा गया है। 

हैदराबाद और तेलंगाना के अन्य हिस्सों में सड़कें रविवार को सूनी पड़ी रहीं और लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से प्रस्तावित ‘जनता कर्फ्यू’ को पुरजोर समर्थन दिया। 

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने 22 मार्च सुबह छह बजे से 24 घंटे का स्वैच्छिक कर्फ्यू लगाने का आह्वान किया था जिसके बाद रविवार सुबह से शहर और राज्य भर में लोग घरों के भीतर ही रहे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक ‘जनता कर्फ्यू्’ के आह्वान का समर्थन करने वाले राव ने तेलंगाना के लोगों से रविवार सुबह छह बजे से सोमवार सुबह छह बजे तक घर के अंदर ही रहने की अपील की है। 

केरल में रविवार को कोरोना वायरस के एक दिन में सबसे अधिक 15 मामले दर्ज किये गये जिससे संक्रमित लोगों की कुल संख्या राज्य में 64 पहुंच गई। 

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 15 मामलों में से कसारगोड जिले में पांच मामले, कन्नूर में चार और मलप्पुरम, कोझीकोड और एर्नाकुलम जिलों में दो-दो मामले दर्ज किये गये। 

विभाग ने यहां जारी एक बयान में कहा, ‘‘राज्य में कुल 59,295 लोगों को निगरानी में रखा गया है जिनमें से 314 लोगों को राज्य में पृथक वार्ड में रखा गया है।’’