BREAKING NEWS

किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾आज का राशिफल (27 जनवरी 2021)◾ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाएं बंद◾दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा, लालकिले में भी प्रदर्शनकारियों ने मचाया उत्पात ◾प्रदर्शनकारी किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान हिंसा में 86 पुलिसकर्मी घायल हुए◾ट्रैक्टर परेड के बाद किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर अपने प्रदर्शन शिविरों में लौटना शुरू किया◾बवाल : गाजीपुर, सिंघू, टिकरी बॉर्डर से बैरिकेड तोड़ दिल्ली में घुसे किसान, पुलिस ने दागे आंसूगैस के गोले ◾राजपथ पर अत्याधुनिक हथियार, मिसाइल, लड़ाकू विमानों, भारतीय सैनिकों ने दिखाई भारत की ताकत ◾72वां गणतंत्र दिवस : राजपथ पर दिखी ऐतिहासिक विरासत, सांस्कृतिक धरोहर और शौर्य की झलक◾पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की दी शुभकामनाएं ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लॉकडाउन : प्रकाश जावड़ेकर बोले- दवाएं, आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकाने खुलेंगी

नयी दिल्ली : केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने को लेकर जारी 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन (बंद) के दौरान हर रोज दवाओं और आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाली दुकानें खुलेंगी, ऐसे में लोगों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है । जावड़ेकर ने कहा कि जमाखोरी एवं कालाबाजारी करने वालों से निपटने के लिये पर्याप्त कानूनी उपाए हैं ।

केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कोरोना वायरस से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई।’’ उन्होंने कहा कि सभी आवश्यक वस्तुएं एवं सेवाएं बंद के दौरान उपलब्ध रहेंगी। उन्होंने कहा कि इस दौरान दूध, सब्जी, दवा एवं रोजमर्रा की जरूरतों के सामान की दुकानें खुली रहेंगी लेकिन लोग दुकानों पर भी सामाजिक मेलजोल से दूरी बनाये रखें और एक दूसरे के बीच 5-6 फुट का अंतराल रखें ।

मंत्री ने लोगों से कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध में जीत के लिये घर में रहने, सामाजिक मेलजोल से दूरी बनाने, लगातार साबुन व सैनेटाइजर से हाथ साफ करते रहने तथा संक्रमण का कोई भी लक्षण दिखने पर डाक्टर से सम्पर्क करने के मंत्र पर कड़ाई से अमल करने की अपील की । उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के सभी कर्मियों के अलावा अनुबंध पर काम कर रहे कर्मियों को भी वेतन मिलेगा । निजी क्षेत्र में काम करने वालों को न्यूनतम वेतन देने का अनुरोध किया गया था और इस पर अच्छी प्रतिक्रिया मिली है ।

असंगठित क्षेत्र के लोगों एवं दिहाड़ी मजदूरों को जरूरी सामग्री उपलब्ध कराने को लेकर पूछे गए एक सवाल के उत्तर में जावड़ेकर ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर देश के 80 करोड़ लोगों को प्रतिव्यक्ति सात किलो गेहूं दो रूपये मूल्य पर और चावल तीन रूपये मूल्य पर उपलब्ध कराया जाता है। इस योजना के तहत अब केंद्र राज्यों को तीन महीने का अग्रिम अनाज देने जा रहा है। इसके अलावा राज्य सरकारें अपनी- अपनी तरह से लोगों को राहत देने की काम कर रही हैं । उन्होंने कहा कि 21 दिनों का बंद हमारे लिये, हमारे परिवार की सुरक्षा के लिये है, ऐसे में लोग घरों में ही रहें ।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा, ‘‘लोग अफवाहों पर विश्वास नहीं करें और सरकार की ओर से पुष्ट खबरों पर ही भरोसा करें।’’जावडेकर ने कहा कि सभी राज्य सरकारें इस प्रयास में केंद्र के साथ मिलकर काम कर रही हैं क्योंकि बंद का अनुपालन मूल रूप से राज्यों को ही कराना है । उन्होंने कहा कि हर राज्य को कहा गया है कि हर जिले में हेल्पलाइन शुरू करे । यह पूछे जाने पर कि क्या कोविड-19 के आर्थिक प्रभावों पर विचार हो रहा है, मंत्री ने कहा कि वित्त मंत्रालय ऐसी हर स्थिति पर नजर रखता है, सरकार संज्ञान लेती है और इसपर भी अध्ययन होगा।

कोरोना वायरस के प्रसार की पृष्ठभूमि में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को हुई बैठक में बड़ी अंडाकार मेज नहीं थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी एक निश्चित दूरी बनाकर कुर्सियों पर बैठे और सामाजिक मेलजोल से दूरी के संकल्प का अनुपालन किया । केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक की तस्वीर में मंत्री एक दूसरे से दूरी बनाकर और प्रधानमंत्री की ओर मुखातिब होकर कुर्सियों पर बैठे थे और उनकी कुर्सी के बगल में छोटी मेज थी जिस पर उनके दस्तावेज रखे थे ।

आमतौर पर केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में मंत्रिगण अंडाकर मेज के इर्द-गिर्द कुर्सियों पर बैठे होते हैं । केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक 7 लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री के सरकारी आवास पर हुई । जावडेकर ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये प्रधानमंत्री के बंद के ऐलान को पूरे देश ने स्वीकार किया है और दुनिया इस प्रयोग को देख रही है कि 130 करोड़ की आबादी वाला देश लॉकडाउन (बंद) पर अमल कर सकता है ।