BREAKING NEWS

ट्रंप की मुम्बई में बास्केटबाल प्रतियोगिता देखने आने की इच्छा , मोदी ने दिया न्योता ◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का किया आह्वान◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : PM मोदी ने 50 हजार से अधिक भारतीय अमेरिकी समुदाय को किया संबोधित◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : अब की बार, ट्रंप सरकार - PM मोदी◾'Howdy Modi' कार्यक्रम : हमने आर्टिकल 370 को फेयरवेल दे दिया - PM मोदी◾Howdy Modi : मोदी ने ट्रंप को बताया विशेष शख्सियत, उनके योगदान की सराहना की ◾अमित शाह ने कश्मीर मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना◾ट्रंप-मोदी ने कहा, टेक्सास मे आज का दिन बेहद अहम◾Howdy Modi : मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा NRG स्टेडियम◾हम भारत की ऊर्जा सुरक्षा जरूरतों को पूरा करने को प्रतिबद्ध : सऊदी अरब ◾अनुच्छेद 370 समाप्त होने से कश्मीर के जनजातीयों को मिलेगा आरक्षण का लाभ : रविशंकर◾भारतीय समय अनुसार रात 9 बजे 'हाउडी मोदी' में प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे PM मोदी ◾कश्मीरी पंडितों का मोदी को पुरजोर समर्थन, सिखों ने कहा ‘शेर’◾TOP 20 NEWS 22 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शिवसेना का नाम लिए बिना बोले अमित शाह-महाराष्ट्र में NDA को मिलेगा तीन चौथाई बहुमत ◾पटना से पाक को राजनाथ की चेतावनी, कहा-1965 और 1971 की गलतियों को न दोहराए◾महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾

देश

मद्रास HC को ‘टिक-टॉक’ एप संबंधी याचिका पर 24 अप्रैल तक निर्णय लेने का निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को मद्रास हाई कोर्ट को ‘टिक-टॉक’ एप पर लगाए प्रतिबंध को हटाने की मांग वाली याचिका पर 24 अप्रैल तक निर्णय लेने का निर्देश दिया। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि अगर मद्रास हाई कोर्ट 24 अप्रैल तक याचिका पर फैसला नहीं कर पाया तो टिक-टॉक एप पर प्रतिबंध लगाने वाला उसका आदेश निरस्त माना जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने इससे पहले मद्रास हाई कोर्ट के केन्द्र को ‘टिक-टॉक’ एप पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश देने के फैसले पर रोक लगाने से मना कर दिया था। मद्रास हाई कोर्ट ने इस एप के जरिए अश्लील एवं अनुचित सामग्री परोसे जाने का हवाला देते हुए केन्द्र को ‘टिक-टॉक’ एप पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दिया था।

\"Madras

बता दें कि टिकटॉप पर अश्लील सामग्री परोसने का आरोप है। टिक टॉक एप पर यह फैसला तब आया जब एक व्यक्ति ने इस पर प्रतिबंध के लिए एक जनहित याचिका दायर की। गूगल ने मद्रास हाईकोर्ट के निर्देशों का पालन करते हुए टिक टॉकबैन कर दिया है। जिसके बाद गूगल के प्ले स्टोर एप से टिक टॉक वीडियो एप को डाउनलोड नहीं किया जा सकता है।

3 युवतियों ने पंजाबी गीत पर श्री दरबार साहिब परिक्रमा में वीडियों बनाकर डाली टिक-टॉक पर

भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) ने गूगल और एप्पल को अपने ऐप स्टोर से चीनी वीडियो एप्लिकेशन टिक टॉक को हटाने के लिए कहा था, जिसके बाद यह कदम सामने आया था।