BREAKING NEWS

नागरिकता संशोधन विधेयक: डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू में ढील, गुवाहाटी में प्रदर्शनकारी कर रहे हैं अनशन◾निर्भया गैंगरेप : चारों आरोपियों की जल्दी फांसी की मांग को लेकर पटियाला हाउस कोर्ट में आज होगी सुनवाई◾केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾CAB : अमेरिका ने भारत से धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करने का किया अनुरोध◾झारखंड विधानसभा चुनाव : झरिया में देवरानी-जेठानी के बीच दिलचस्प मुकाबला◾किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए सरकार ने बनाया रोडमैप : कृषि मंत्री ◾उत्तर भारत में बर्फबारी के बाद बढ़ी ठंड, दिल्ली में भी हुई बारिश ◾भाजपा नेता विनय कटियार को मिली जान से मारने की धमकी◾नागरिकता विधेयक पर बवाल के बीच गुवाहाटी के पुलिस प्रमुख हटाए गए, अन्य अधिकारियों का भी तबादला ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को राष्ट्रपति की मंजूरी, कानून बना ◾राज्यों की जीएसटी क्षतिपूर्ति के वादे को पूरा करेगा केन्द्र, समयसीमा नहीं बताई - सीतारमण◾ठाकरे ने गृह शिवसेना, वित्त राकांपा और राजस्व कांग्रेस को दिया ◾फिर बढ़े प्याज के दाम, सरकार ने किए 12660 टन आयात के नए सौदे◾असम के हथकरघा मंत्री के आवास पर हमला, तेजपुर, ढेकियाजुली में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू◾जब लोकसभा में मुलायम सिंह ने पूछा ... ‘‘सत्ता पक्ष कहां है''◾केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक को लोकसभा की मंजूरी, निशंक ने सभी भारतीय भाषाओं को सशक्त बनाने पर दिया जोर ◾भारत और अमेरिका के बीच ‘टू प्लस टू’ वार्ता 18 दिसम्बर को वाशिंगटन में होगी : विदेश मंत्रालय◾TOP 20 NEWS 12 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की सभी पुनर्विचार याचिकाएं◾महाराष्ट्र में BJP की कोर समिति की सदस्य नहीं, बावजूद पार्टी नहीं छोड़ूंगी : पंकजा मुंडे◾

देश

ममता ने मोदी को पत्र लिख आयुध कारखानों के निगमीकरण की प्रक्रिया रोकने की अपील की

 mamta banerjee

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा हितों के लिये आयुध कारखानों के निगमीकरण की प्रक्रिया रोक उन्हें पहले जैसी स्थिति में रखने की अपील की। 

केन्द्र ने आयुध फैक्टरी बोर्ड (ओएफबी) समेत देशभर के सभी आयुध कारखानों के निगमीकरण का फैसला लिया है, जिसके मद्देनजर ममता ने यह पत्र लिखा है। गौरतलब है कि आयुष फैक्टरी बोर्ड का मुख्यालय कोलकाता में स्थित है। 

ममता ने लिखा कि ओएफबी को देशभर में अपने 41 कारखानों, नौ प्रशिक्षण संस्थानों और करीब 1.6 लाख अधिकारियों तथा कर्मचारियों के साथ अकसर भारतीय रक्षा तंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है, जो सशस्त्र बलों के लिये बड़े पैमाने पर हथियार और उपकरण बनाता है। 

मुख्यमंत्री ने लिखा कि मैं यह जानकर हैरान हूं कि देश की रक्षा का यह महत्वपूर्ण स्तंभ और हमारी इस महत्वपूर्ण औद्योगिक पहल के अचानक गैर-सरकारीकरण पर विचार किया जा रहा है, जिसके लिए इसके हितधारकों से भी चर्चा नहीं की गई। 

ममता ने इस कथित कदम को 'बेहद संवेदनशील और आवश्यक मुद्दा' करार देते हुए देश के सशस्त्र बलों के लिये हथियार और विस्फोटक बनाने वाली ओएफबी के महत्व पर भी बात की। 

बनर्जी ने लिखा, 'मुझे खबरें मिली हैं कि सरकार ने कथित रूप से आयुध फैक्टरी बोर्ड समेत सभी आयुध कारखानों के निगमीकरण का फैसला लिया है। खबरों में यह भी कहा गया है कि इससे अंतत: इन कीमती राष्ट्रीय संपत्तियों के निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा।' 

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार को यह जानकारी नहीं मिली है कि भारत सरकार ने यह कदम क्यों उठाया। 

उन्होंने कहा, 'इसलिए, मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि हमारे देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा हित में निगमीकरण और निजीकरण की इस प्रक्रिया को रोकें और इसे पहले जैसा ही रहने दें।'