BREAKING NEWS

कोरोना से जंग के बीच टीकाकरण अभियान जारी, राज्यों के पास 2.75 करोड़ खुराक उपलब्ध : केंद्र◾शिवराज का ऐलान- MP में जहरीली शराब बेचने वालों को होगा आजीवन कारावास या मौत की सजा◾दिल्ली सरकार ने विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी को दी मंजूरी, अब 54 की जगह 90 हजार होगी सैलरी◾दिवंगत बाला साहेब ठाकरे से काफी प्रभावित है राहुल, वे जल्द महाराष्ट्र दौरे पर आएंगे: संजय राउत◾गरीबों का सशक्तीकरण है सर्वोच्च प्राथमिकता, लाखों परिवारों को फ्री राशन दे रही सरकार : PM मोदी◾CBSE 10th रिजल्ट : त्रिवेंद्रम क्षेत्र ने 99.99 फीसदी के साथ मारी बाजी, TOP-10 में सबसे नीचे दिल्ली◾संसद में पेगासस और कई मुद्दों को लेकर विपक्ष का हंगमा, राज्यसभा की बैठक स्थगित◾पेगासस पर नीतीश के बाद अब मांझी के भी विरोधी सुर- देश को पता चले कि कौन करवा रहा है जासूसी ◾जम्मू-कश्मीर : कठुआ में रणजीत सागर बांध के पास क्रैश हुआ भारतीय सेना का हेलीकॉप्टर◾CBSE बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, स्टूडेंट्स ऐसे कर सकेंगे चेक◾विपक्ष पर बरसे PM- संसद बाधित करना लोकतंत्र और संविधान का अपमान, माफी नहीं मांगना दर्शाता है अहंकार◾नीतीश की पेगासस मामले में जांच की मांग पर शिवसेना ने जताया आभार, राउत बोले-PM को अब सुन लेना चाहिए◾त्रिपुरा में उग्रवादियों का BSF पर हमला, सब इंस्पेक्टर सहित दो जवान शहीद◾भारत में कोरोना के मामलों में मिली बड़ी राहत, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 30,549 नए केस की हुई पुष्टि ◾राहुल की अगुवाई में संसद तक विपक्ष का साइकिल मार्च, ब्रेकफास्ट मीटिंग से दूर रहीं 'आप' और BSP◾अगस्त-सितंबर में हो सकती है सामान्य से अधिक बारिश, जानें कहां कैसा रहेगा मौसम◾ Tokyo Olympics : हॉकी में हार के बाद रेसलिंग में भी निराशा, भारतीय पहलवान सोनम पहले दौर में ही हारी◾World Corona Update : विश्व में संक्रमितों की संख्या 19.88 करोड़ के पार, 42.3 लाख लोगों ने गंवाई जान ◾ सेमीफाइनल में हॉकी टीम की हार पर बोले PM मोदी-हार जीत जीवन का हिस्सा, टीम ने किया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन ◾Tokyo Olympics : भारत को हॉकी सेमीफाइनल में बेल्जियम से 2-5 से मिली हार, अब कांस्य पदक की आस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों को दंडित करने के मामलों से सावधानी से निपटने की जरूरत : न्यायालय

उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को कहा कि राजनीतिक दलों अथवा उम्मीदवारों द्वारा अपनी आपराधिक पृष्ठभूमि का खुलासा नहीं करने पर उनको दंडित करने के मुद्दे से सावधानी से निपटा जाना चाहिए क्योंकि राजद्रोह और देश विरोधी जैसे आरोप अक्सर ‘राजनीतिक रंग’ लिए होते हैं। 

उच्चतम न्यायालय उस अवमानना याचिका पर विचार कर रहा था जिसमें कहा गया है कि उच्चतम न्यायालय ने उम्मीदवारों द्वारा अपनी आपराधिक पृष्ठभूमि का खुलासा करने के संबंध में 25 सितंबर 2018 को जो निर्देश दिए थे, उनका पालन नहीं हो रहा है। 

न्यायाधीश न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति एस रवीन्द्र भट की पीठ ने कहा,‘‘ अब राजनीतिक रंग वाले अरोप लग रहे हैं। इस पर आरोप तय करना बहुत आसान हैं... ऐसे मामलों में आरोप तय करना बहुत आसान है जो राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने राजद्रोह और देश विरोध सहित लगाए हों। हमें बहुत सावधान रहना होगा।’’ 

चुनाव आयोग ने अदालत को बताया कि सांसदों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामले बढ़ रहे हैं, जो परेशान करने वाला है और आकड़ों के अनुसार वर्तमान में संसद में 43 फीसदी सांसदों के खिलाफ आपराधिक मामले हैं।