BREAKING NEWS

यूपी के गाजीपुर में हैवानियत! प्रेमी जोड़े को गांव के प्रधान ने दी क्रूर सजा, जमकर की पिटाई , फिर चटवाया धूक◾पाकिस्तान से निकले तालिबान ने कर दी, 17 पाकिस्तानी सैनिकों का सिर कलम ◾हिमाचल विश्वविद्यालय में मचा बवाल, लेफ्ट-राइट फिर आमने-सामने, पुलिस ने डाला डेरा ◾केजरीवाल ने MCD में फेरी झाड़ू, CM बोले- दिल्ली को बदलने के लिए PM मोदी के आशीर्वाद की जरूरत ◾Bihar News: एक मुस्लिम और दूसरा हिन्दू बेटा, मां के अंतिम संस्कार को लेकर भाई के बीच हुआ विवाद ◾खुद को पैगम्बर बताने वाले बेटमैन की 20 नाबालिग पत्नियां, बेटी के साथ भी की शादी◾पंजाब: पॉपुलर गायक बब्बू मान से मानसा में पूछताछ हो रही, मारने की मिली थी धमकी, जानें पूरा मामला ◾MCD Election Result: क्या गुजरात-हिमाचल में भी पलटेगी बाजी? दिल्ली में Exit Polls क्यों हुए फेल◾MCD Results: दिल्ली में बड़ा चेहरा न होने से फंसी भाजपा, केजरीवाल के इलाके में किसने मारी बाजी, यहां देखे ◾Kanpur News: BJP नेता को घसीटकर MCD के दफ्तर से बाहर फेंका, जानें पूरा मामला◾राजधानी में 'मेयर' भी केजरीवाल का! जश्न में जुटी 'AAP' पार्टी ने दी BJP को चुनौती- अब बनाकर दिखाओ◾लगेगा ट्रैफिक जाम की समस्या पर लगाम, दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर बनेगी 6 लेन वाली टनल, जानें इसके फायदे ◾MCD ELECTION 2022 : आप ने दर्ज की जीत, भाजपा प्रवक्ता ने CM केजरीवाल के दावे को याद दिलाया ◾Delhi MCD Results: राजधानी में नही चला 'मोदी मंत्र', केजरीवाल की 'झाड़ू' ने 'कमल' को किया साफ◾केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का विवादित बयान, कहा-‘नीतीश कुमार नपुंसकता के शिकार हो गए हैं…’◾ कांग्रेस ने 'BSP' बन किया खेल खराब, पहले से ज्यादा वोट पाकर भी AAP से क्यों पिछड़ी BJP◾MCD में भाजपा शासन का अंत, AAP ने लहराया परचम, CM केजरीवाल का रिएक्शन- अब नए युग की शुरूआत◾ दोस्तों ने युवती को उठाकर तीसरी मंज़िल से नीचे फेंका, PRANK VIDEO VIRAL◾इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान का ट्वीट- दिल गलती कर बैठा है... अब बोल तुम्‍हारा क्‍या होगा?◾क्या सत्येंद्र जैन की वजह से AAP को हुआ नुकसान? शकूर बस्ती के सभी वार्डों पर भाजपा का जलवा, दर्ज की जीत ◾

मसालों का किंग MDH नहीं बेच रही अपना कारोबार, हिंदुस्तान यूनिलीवर को बेचने की खबरों को किया खारिज

MDH के संस्थापक धर्मपाल सिंह का 2020 में निधन हो गया था । यह वही मसाले के राजा धर्मपाल सिंह है जिन्होने खाने के स्वाद को और चार चांद लगा दिया था। धर्मपाल लाहौर के रहने वाले थे इन्होने कठिन परिश्रम करके इन मसालों को विदेश तक पहुंचा दिया था। लेकिन हांल ही एक खबर सामने आई है कि MDH के राजा धर्मपाल की कंपनी MDH लिमिटेड के बेचने की बात चल रही हैं। जो कि एक आश्चर्यजनक किस्सा हैं। इस कंपनी को  एफएमसीजी सेक्‍टर (FMCG Sector) की कंपनी Hindustan Unilever के पास बेचने की बात चल रही हैं। यह सब जानकारी सूत्रों से पता चली हैं.।

 MDH के चेयरमैन राजीव गुलाटी ने कहा

MDH ने ट्विटर पर  ऐसी खबरों को अर्तक बताया है  उसके मुताबिक ऐसी खबरों में कोई दम नहीं है। निवेशकों को अफवाह पर गौर नहीं करना चाहिए। MDH के चेयरमैन राजीव गुलाटी ने कहा कि एमडीएच प्राइवेट लिमिटेड एक विरासत है, जिसे महाशय चिमी लाल जी और महाशय धर्मपाल जी ने अपने पूरे जीवन में आगे बढ़ाया और हम उस विरासत को पूरे दिल से आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

MDH मसाले की रूपरेखा

जानकारी के मुताबिक पता चला है कि MDH भारत में हर घर की पसंद हैं। इनके मसाले का स्वाद काबिले तारीफ हैं। लेकिन एफएमसीजी कंपनी एचयूएल लोकप्रिय घरेलू ब्रांडों जैसे - लक्स, लाइफबॉय, सर्फ एक्सेल, रिन, व्हील, पॉन्ड्स को बाजार में बेचती है। उसने भी इस खबर पर टिप्‍पणी से इनकार किया है। उसके प्रवक्‍ता ने कहा कि इस अफवाह पर हम कुछ नहीं कहेंगे। 

MDH ने विदेशों पर भी कब्जा किया 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, FMCG के दूसरे बड़े ब्रांडों-ITC और टाटा कंज्‍यूमर मसाले के कारोबार में अपनी पहुंच बढ़ा रहे हैं। इस बिजनेस में मार्जिन काफी अच्‍छा है। 2020 में ITC ने सनराइज फूड्स का अधिग्रहण किया था, जो पूर्वी भारत में मसाला बाजार में एक प्रमुख खिलाड़ी है। यह सौदा 2,150 करोड़ रुपये में हुआ था।

धर्मपाल का अचानक निधन हुआ था

मसालों के सरताज  धर्मपाल गुलाटी का दिसंबर 2020 में निधन हो गया था। वह बंटवारे के बाद पाकिस्तान के सियालकोट से पारिवारिक कारोबार को भारत लाए थे। और वह उस समय यह सोच रहे थे कि इस मसालों के व्यापार को तेजी से कैसे बढ़ाया जा सकें । हालांकि धर्मपाल जी ने अपने व्यापार को एक करोड़ से भी ज्यादा में बदल कर दिखाया दिया और भारत के किचन में अपना कब्जा कर लिया ।

हाल ही में एक रिपोर्ट में कहा गया था कि एचयूएल की एमडीएच में बहुलांश हिस्सेदारी की खरीद के लिए बातचीत चल रही है। इस सौदे का मूल्य 10,000 करोड़ रुपये से लेकर 15,000 करोड़ रुपये के बीच रहने की संभावना भी जताई गई थी।एफएमसीजी क्षेत्र की अन्य बड़ी कंपनियों आईटीसी और टाटा कंज्यूमर्स लिमिटेड ने पिछले कुछ समय में मसाला कारोबार में अपनी मौजूदगी बढ़ाई है। आईटीसी ने वर्ष 2020 में सनराइज फूड्स का 2,150 करोड़ रुपये में अधिग्रहण किया था।