BREAKING NEWS

बेंगलुरु हिंसा के दौरान मुस्लिम युवाओं ने पेश की एकता की मिसाल, मानव श्रृंखला बनाकर उपद्रवियों से बचाया मंदिर◾सुशांत सिंह केस : माफी की मांग पर बोले राउत-मैंने जो कहा जानकारी के आधार पर कहा◾GDP को लेकर राहुल का केंद्र सरकार पर तंज- ‘मोदी है तो मुमकिन है’◾बेंगलुरु हिंसा : शहर में धारा 144 लागू, 110 लोग गिरफ्तार, CM येदियुरप्पा ने की शांति की अपील◾हम अपने सभी मतभेदों को दूर करके राज्य की सेवा के संकल्प को पूरा करेंगे : CM गहलोत◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 60 हजार से अधिक नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 23 लाख के पार◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ 20 लाख के पार, अमेरिका में 51 लाख से अधिक मामले ◾US चुनाव में हुई भारत की एंट्री, भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस को चुना गया VP कैंडिडेट◾J&K में एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने एक आंतकवादी को मार गिराया, एक जवान भी हुआ शहीद ◾बेंगलुरु में कांग्रेसी विधायक के घर पर हमला, 2 की मौत, 60 पुलिसकर्मी घायल ◾ बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त फेफड़ों के कैंसर का इलाज के लिए जा सकते है अमेरिका ◾राजस्थान: कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट की वापसी पर गहलोत खेमे के कई विधायक खफा◾उत्तर प्रदेश : CM योगी ने प्रधानमंत्री से HFNC उपकरणों की खरीद में मदद करने का किया अनुरोध◾पर्यावरण सरंक्षण कानून के खिलाफ और भारत के भविष्य से समझौता है EIA का मसौदा : कांग्रेस◾दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.47 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,257 नए केस ◾उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में कोरोना के 5,130 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.31 लाख के पार◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों से राज्यों को अधिक चिंतित नहीं होना चाहिए◾उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती◾पुतिन का दावा-रूस ने बना ली कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन, बेटी को लगाया गया टीका◾ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

MDMK और DMK ने राज्यसभा में उठाई सुप्रीम कोर्ट की क्षेत्रीय पीठ की मांग

दक्षिण भारतीय राज्यों के लोगों को हाई कोर्ट के फैसलों को आवश्यकता पड़ने पर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने के समय होने वाली कठिनाइयों की ओर ध्यान दिलाते हुए राज्यसभा में बुधवार को कई सदस्यों ने चेन्नई में सुप्रीम कोर्ट की पीठ स्थापित किए जाने की मांग की। शून्यकाल में एमडीएमके सदस्य वाइको ने चेन्नई में सुप्रीम कोर्ट की पीठ स्थापित किए जाने की मांग करते हुए कहा कि ऐसा होने पर खुद सुप्रीम कोर्ट का ही बोझ कम होगा। वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट में 54,013 मामले लंबित हैं। 

वाइको ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में है और दक्षिण भारतीय राज्यों के लोगों को हाई कोर्ट के फैसलों को आवश्यकता के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने के लिए दिल्ली आना पड़ता है। यहां आने, ठहरने पर होने वाला खर्च और भाषा की दिक्कत तथा अन्य समस्याएं होती हैं। 

उन्होंने कहा कि इन समस्याओं से राहत मिल सकती है अगर चेन्नई में सुप्रीम कोर्ट की एक पीठ स्थापित कर दी जाए। द्रमुक के पी विल्सन ने कहा कि पूर्व में स्थायी संसदीय समितियां सुप्रीम कोर्ट के क्षेत्रीय पीठ स्थापित किए जाने की सिफारिश कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली आने, ठहरने पर होने वाला खर्च और भाषा की दिक्कत तथा अन्य समस्याओं के कारण वही लोग सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं जो इनका सामना कर सकते हैं। 

विभिन्न दलों के सदस्यों ने इस मुद्दे से स्वयं को संबद्ध किया। इनमें से ज्यादातर सदस्य दक्षिण भारतीय राज्यों के थे। शून्यकाल में भाजपा के डी पी वत्स ने मांग की सांसद क्षेत्रीय विकास निधि (एमपीलैड) के तहत पांच करोड़ रुपये की किस्त सालाना जारी की जानी चाहिए और इसके लिए कोष की उपयोगिता संबंधी प्रमाणपत्र की अनिवार्यता नहीं होनी चाहिए। 

वत्स ने कहा कि कोष जारी करने में दो से तीन साल का समय लग जाता है क्योंकि पहले अनुमान तैयार किया जाता है, फिर उसे मंजूरी दी जाती है और उसके बाद काम पूरा होता है। इसके पश्चात राशि जारी की जाती है। इस पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने जानना चाहा कि अगर धन राशि जारी कर दी जाए और उसका उपयोग न हो पाए, वह राशि बैंक में पड़ी रहे तो इसके लिए जिम्मेदार कौन होगा।