BREAKING NEWS

TOP 20 NEWS 16 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सीएए के खिलाफ धरने पर बैठे कांग्रेसी नेताओं पर भाजपा का तंज, कहा- पहले राहुल फेल हुए, अब प्रियंका फेल होंगी◾जामिया हिंसा के विरोध में इंडिया गेट पर धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी◾झारखंड : अमित शाह बोले- अयोध्या में चार महीने के भीतर बनेगा भव्य राम मंदिर◾जामिया हिंसा पर दिल्ली पुलिस का बयान- बाहर के लोग थे शामिल, अफवाहों से बचें◾उन्नाव रेप केस में कुलदीप सिंह सेंगर दोषी करार, 19 को सुनाई जाएगी सजा ◾NRC के खिलाफ सड़क पर उतरीं ममता बनर्जी, बोलीं- अगर सबका साथ नहीं रहेगा तो सबका विकास कैसे होगा?◾जामिया में हुई झड़प को लेकर बोलीं VC नजमा - बिना अनुमति के कैंपस में घुसी पुलिस, दर्ज कराएंगे FIR◾मायावती ने की नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हो रही हिंसा की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच की मांग◾पुलिस कार्रवाई के खिलाफ जामिया के छात्रों ने कपड़े उतारकर किया विरोध प्रदर्शन ◾जामिया विवाद पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, CJI बोले-हिंसा रुकेगी तब होगी मामले की सुनवाई◾जामिया के छात्रों को मिला VC नजमा अख्तर का साथ, बोलीं-अकेले छात्रों की लड़ाई नहीं, मैं हूं उनके साथ◾दिल्ली: जामिया में स्थिति तनावपूर्ण, घर का रुख कर रहे हैं छात्र-छात्राएं◾प्रियंका गांधी बोली- तानाशाह सरकार दबाना चाहती है छात्रों की आवाज, विश्वविद्यालयों में घुसकर छात्रों को पीटा◾Citizenship Amendment Law के विरोध में चल रहे हिंसक प्रदर्शनों के बीच सरिता विहार से कालिंदी कुंज के बीच यातायात बंद◾उन्नाव रेप केस: आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को सजा होगी या नहीं, फैसला आज◾लालू की बहू ऐश्वर्या ने सास पर मारपीट का लगाया आरोप, बोलीं- राबड़ी देवी ने बाल नोंचे और पीटा◾जामिया में प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए 50 छात्र रिहा : दिल्ली पुलिस ◾झारखंड विधानसभा चुनाव: चौथे चरण के लिए 15 सीटों पर मतदान जारी ◾कैब प्रदर्शनों के बाद सभी मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास द्वार खोले गए: DMRC◾

देश

जम्मू-कश्मीर पर भारत की पहल से पाकिस्तान बेचैन : विदेश मंत्रालय

 raveesh kumar

विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर पर भारत की पहल से पाकिस्तान बेचैन है और उसे लगता है कि अगर जम्मू कश्मीर में विकास होगा तो वह लोगों को गुमराह नहीं कर पाएगा और इसलिये वह दुनिया के सामने द्विपक्षीय संबंधों की चिंताजनक तस्वीर पेश करने का प्रयास कर रहा है। 

मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा भारत के राजनयिक स्तर में कटौती करने सहित अन्य कदम का मकसद दुनिया के सामने द्विपक्षीय संबंधों की चिंताजनक तस्वीर पेश करना है जिसे न तो भारत और न ही अंतरराष्ट्रीय समुदाय मानता है। मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान को लगता है कि अगर जम्मू कश्मीर में विकास होगा तो वह लोगों को गुमराह नहीं कर पाएगा। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि शांति समझौते के साथ कश्मीर मुद्दे को जोड़ने के पाकिस्तान के प्रयास सफल नहीं हुए। उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर के बेहतर हितों को ध्यान में रखते हुए कदम उठाए हैं। विदेश मंत्रालय ने अनुच्छेद 370 से जुड़ा, हाल का सम्पूर्ण घटनाक्रम पूरी तरह से भारत का आतंरिक मामला बताया। 

पाकिस्तान द्वारा समझौता एक्सप्रेस को बंद किये जाने पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है और हमें इसका अफसोस है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद के पाकिस्तान से जुड़े घटनाक्रम में प्रश्नों के उत्तर में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान ऐसी तस्वीर पेश करना चाहता है कि दोनों देशों के रिश्ते चिंताजनक स्थिति में हैं । उन्होंने कहा, "लेकिन हम यह नहीं मानते हैं।" 

उन्होंने कहा कि वे :पाकिस्तान: हालात को बेहद चिंजातनक, युद्ध जैसी स्थिति के रूप में पेश करना चाहते हैं, जबकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ऐसा नहीं मानता। रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान को नई वास्तविकता को स्वीकार करना चाहिए और इस प्रकार से हस्तक्षेप (आंतरिक मामलों) करना बंद करना चाहिए। 

पाकिस्तान की ओर से राजनयिक दर्जे में कटौती करने सहित अन्य कदमों के बारे में एक सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि हम इसकी निंदा कर चुके हैं। इस प्रकार के एकतरफा फैसले के बारे में उनको फिर से विचार करने के लिये कह चुके हैं । हम कह ही सकते हैं। 

अनुच्छेद 370 के संबंध में दुष्प्रचार के बारे में एक सवाल के जवाब में कुमार ने कहा कि इस बारे में हम यह कहना चाहते हैं कि हमारे प्रधानमंत्री (नरेन्द्र मोदी) ने राष्ट्र के नाम जो संबोधन दिया वह काफी सकारात्मक और उम्मीदों से भरा है, हम उसे मानते हैं । उन्होंने कहा कि हम अटकलों पर आधारित बातों पर नहीं जाते । कुलभूषण जाधव को राजनयिक संपर्क मुहैया कराने पर कुमार ने कहा-हम पाकिस्तान के संपर्क में हैं।