BREAKING NEWS

मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾शिवसेना का बीजेपी पर प्रहार, कहा- मोदी के लिए नीतीश ने खड़ा किया तूफ़ान◾

विशेषज्ञों ने सरकार को चेताया, कहा- अचानक से प्रतिबंध हटाना ठीक नहीं, महामारी अभी खत्म नहीं हुई

देश में कोरोना वायरस का कहर अब नियंत्रण में है, ऐसे में कई राज्य सरकारों ने कोरोना प्रतिबंधों को पूरी तरह से समाप्त कर दिया है। ऐसे में लैंसेट आयोग और कोविड-19 टास्क फोर्स की सदस्य डॉ सुनीला गर्ग ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार और अन्य संबंधित प्रतिबंधों को अचानक से हटाना अच्छा नहीं है, क्योंकि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। 

डॉ गर्ग ने बताया, मास्क का जनादेश भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जारी रहना चाहिए। चूंकि हर कोई मास्क पहनकर थक गया है, इसलिए उन पर जुर्माना नहीं लगाने से अधिक लोग मास्क लगाना छोड़ देंगे, जो अच्छा नहीं है, क्योंकि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। दुनिया के कुछ हिस्से एक और प्रकोप के खतरे का सामना कर रहे हैं।  

मास्क अन्य हवाई संक्रमणों, प्रदूषण और सांस की अन्य बीमारियों को भी रोकता है  

डॉ गर्ग ने कहा कि कोविड प्रतिबंध हटाने के लिए एक एकीकृत ²ष्टिकोण होना चाहिए। उन्होंने कहा, मास्क ना केवल कोविड संक्रमण को रोकता है, बल्कि यह अन्य हवाई संक्रमणों, प्रदूषण और सांस की अन्य बीमारियों को भी रोकता है। मास्क को जारी रखना चाहिए। डॉ गर्ग ने कहा कि मास्क अनिवार्यता को हटाने से टीबी और दवा प्रतिरोधी टीबी का चुनौतीपूर्ण बोझ आएगा, क्योंकि पिछले दो वर्षों के दौरान इस तरह की घटनाएं नियंत्रण में थीं।  

मास्क नहीं पहनने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा 

वैश्विक स्तर पर कोविड संक्रमण में अचानक उछाल के बावजूद भारत में गिरावट का रुख जारी है। महाराष्ट्र, दिल्ली, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों ने अप्रैल से शुरू होने वाले कोविड -19 मानदंडों में ढील देने की घोषणा की है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने शुक्रवार को अपने आदेश में कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में तत्काल प्रभाव से मास्क नहीं पहनने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। हालांकि, उन्होंने भीड़-भाड़ वाली जगहों पर इसका इस्तेमाल जारी रखने की सलाह दी है।  

मास्क संक्रमण की दर को कम कर सकता है, लेकिन यह दूसरी लहर को नहीं रोक सकता 

डीडीएमए ने अपने आधिकारिक आदेश में कहा, अब डीडीएमए ने फैसला किया है कि जनता के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना उचित है। हालांकि, अगले आदेश तक उन्हें नहीं पहनने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। सीएमसी वेल्लोर के महामारी विज्ञानी डॉ जैकब जॉन ने कहा कि मास्क संक्रमण की दर को कम कर सकता है, लेकिन यह दूसरी लहर को नहीं रोक सकता। 

डॉ जॉन ने कहा, जुर्माना लोगों को नियंत्रित करने के अनुचित तरीके हैं। मास्क श्वसन स्राव को कम करते हैं और लोगों की रक्षा करते हैं, लेकिन इसकी सिफारिश की जानी चाहिए, लागू नहीं। इसे भीड़-भाड़ वाली जगहों पर पहना जाना चाहिए क्योंकि यह ना केवल कोविड संक्रमण बल्कि निमोनिया, एलर्जी, प्रदूषकों और कई अन्य बीमारियों से भी बचाता है।