कोरबा: पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने आज छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के साथ इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) के कोरबा के निकट गोपालपुर में विकसित स्मार्ट ऑयल टर्मिनलों का लोकार्पण किया। साथ ही इस अवसर पर कोरबा में स्थापित किये जा रहे अत्याधुनिक एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का भूमि पूजन भी किया।

श्री प्रधान ने इस अवसर पर अपने संबोधन में नवनिर्मित टर्मिनल की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र, मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की आर्थिक विकास योजनाओं को सफल बनाने की दिशा में यह एक और कदम है। आईओसीएल की यह नई सुविधा छत्तीसगढ़ में पहले से मौजूद भण्डारण क्षमता का विस्तार करेगी तथा इसके जरिये पेट्रोलियम पदार्थों की आपूर्ति और सुगम बनेगी।

डॉ सिंह ने केन्द्रीय तेल एवं गैस मंत्रालय द्वारा छत्तीसगढ़ को मिल रहे सहयोग की सराहना की और कहा कि इंडियन ऑयल के इन प्रयासों से प्रदेश में तेल एवं गैस की आपूर्ति सुगम होगी तथा प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगारों का सृजन होगा। इस अवसर पर श्री प्रधान और डॉ सिंह ने टर्मिनल का दौरा कर यहां स्थापित आधुनिकतम सुरक्षा उपकरणों और अन्य सुविधाओं का जायजा भी लिया।

इस अवसर पर आईओसीएल के अध्यक्ष संजीव सिंह उपस्थित थे। कोरबा के निकट गोपालपुर में 219 करोड़ रुपये की लागत से 80 एकड़ भूमि पर विकसित टर्मिनल की भण्डारण क्षमता 55600 किलोलीटर है। इससे छत्तीसगढ़ के 10 जिलों में 240 खुदरा केन्द्रों तथा 50 थोक खरीदारों को पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति की जायेगी। इन जिलों में राजगढ़, कोरबा,जांजगीर, चाम्पा, बिलासपुर, मुंगेली, सूरजपुर, जशपुर, सरगुजा, बलरामपुर तथा कोरिया शामिल हैं। यह टर्मिनल पारादीप, रांची, रायपुर पाइपलाइन से वर्ष भर अपनी आपूर्ति प्राप्त करेगा।