BREAKING NEWS

NCB ने क्रूज मामले की बेहद ढीली जांच की : SIT◾RR vs RCB ( IPL 2022) : बटलर के चौथे शतक से राजस्थान रॉयल्स फाइनल में , 29 मई को गुजरात से होगा मुकाबला ◾राजनाथ ने भारतीय नौसेना के पोत आईएनएस घड़ियाल के चालक दल से बात की◾केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने राहुल गाँधी पर साधा निशाना◾CBI ने ‘वीजा रिश्वत’ मामले में कार्ति चिदंबरम से आठ घंटे पूछताछ की◾मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾ Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾आर्यन खान केस में पूर्व निदेशक की जांच में थी गलतियां.. NCB ने कबूली यह बात, जानें वानखेड़े की प्रतिक्रिया ◾

मोदी का उपलब्धियों भरा US दौरा, जानिए Howdy Modi से लेकर ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड तक PM का सफर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 7 दिन की अमेरिका यात्रा को समापन कर भारत वापिस लौट रहे हैं। पीएम मोदी 21 सितंबर को अमेरिका के टैक्सास प्रांत के हयूस्टन शहर पहुंचे थे। जहां एयरपोर्ट पर लोगो ने मोदी का जोरदार के स्वागत किया। 22 सितंबर को मोदी हयूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में आयोजित हाउडी मोदी कार्यक्रम में पहुंचे। 

हाउडी मोदी कार्यक्रम में मोदी ने अपने अभिभाषण की शुरूआत ‘सुप्रभात ह्ययूस्टन, टेक्सास और सुप्रभात अमेरिका’ से की। उसके बाद मोदी ने स्टेडियम में मौजूद भारतीय मूल के लोगों को याद दिलाया कि ट्रंप ने कहा था, ‘‘अबकी बार ट्रंप सरकार ’’। उन्होंने कहा कि ट्रंप के शासनकाल में व्हाइट हाउस में दीवाली मनाया जाना भी अनोखा रहा। मोदी के भाषण से पहले करीब 90 मिनट तक स्टेडियम में रंगारंग कार्यक्रम पेश किया गया। हाउडी मोदी के इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा भारतवंशियों ने हिस्सा लिया. जिसे देख कर डोनाल्ड ट्रंप भी हैरान रह गए।

तीसरे दिन की यात्रा के लिए पीएम मोदी 23 सितंबर को न्यूयॉर्क पहुंचे जहां पर उन्होंने संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में जलवायु परिवर्तन से जुड़े सत्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में दुनिया को कड़ा संदेश दिया और कहा कि जलवायु परिवर्तन में भारत क्या कार्य कर रहा हैं। वहीँ, पीएम मोदी ने कहा कि अब बात करने का समय खत्म हो चुका हैं।

 इस दौरान उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान के बारे में भी कहा कि हमने पर्यावरण की रक्षा के लिए यह कदम उठाए हैं। वहीँ, रविवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कार्यक्रम में कहा कि उन्हें बहुत ही खुशी है कि जल्द ही ह्यूस्टन में भगवान श्री गणेश का सिद्धि विनायक मंदिर होगा। पीएम मोदी ने 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में भारतीय समुदाय के लोगों से कहा कि वह प्रत्येक वर्ष कम से कम पांच गैर-भारतीय परिवारों को पर्यटक के रूप में भारत भेजने की कोशिश करें। 

पीएम मोदी ने अमेरिका में चौथे दिन की यात्रा के दौरान यानी 24 सितंबर को एक बार फिर डोनाल्ड ट्रंप मुलाकात की. इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय वार्ता की और ट्रंप ने साफ किया कि भारत और अमेरिका के बीच जल्द ही व्यापारिक रिश्तों के लिए करार होना है. द्विपक्षीय वार्ता के दौरान मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उनके मित्र हैं और वह भारत के भी घनिष्ठ मित्र हैं।

वहीँ, डोनाल्ड  ट्रंप ने कहा कि वह चाहते हैं कि मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष कश्मीर पर मिलकर बात करें। अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगे कहा कि भारत का व्यवहार संयमित एवं संतुलित है। उन्होंने दुनिया के विशालतम लोकतंत्र को सही नेतृत्व देने के लिए मोदी की प्रशंसा की और कहा कि वह ‘फादर ऑफ इंडिया’ की तरह है। पीएम मोदी ने वित्तीय क्षेत्र के शीर्ष अमेरिकी मुख्य कार्यकारी अधिकारियों के साथ गोलमेज बैठक में हिस्सा लिया और उन्हें भारत में निवेश का न्योता दिया। 

 

25 सितंबर यानी को  ‘बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन’ ने भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘ग्लोबल गोलकीपर’ पुरस्कार से सम्मानित किया और प्रधानमंत्री ने इसे देशवासियों को समर्पित किया। पीएम मोदी ने यूएन को भारत की तरफ से सोलर पार्क का तोहफा दिया, जिसका उद्घाटन  प्रधानमंत्री मोदी ने किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा का दौर कुछ इसी तरह चलता रहा। 26 सितंबर को पीएम मोदी ने कई देशों के प्रमुखों के साथ बैठक की। मोदी ने साइप्रस के राष्ट्रपति, न्यूजीलैंड और अमेरिका के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की और अपने दौरे के आखिरी दिन प्रधानमंत्री मोदी ने यूएनजीए सेशन को संबोधित किया। इसके अलावा ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी से भी मुलाकात की।

पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करते पर्यावरण,विकास, आतंकवाद, लोकतंत्र,जन कल्याण जैसे मुद्दों के बारे में कहा। पीएम मोदी ने सीधे तौर पर पाकिस्तान और कश्मीर का जिक्र नहीं किया, लेकिन पड़ोसी मुल्क को कड़ा संदेश जरूर दिया. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिया है।

27 सितंबर यानी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में आतंकवाद के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करते हुए कहा कि भारत ने दुनिया को 'युद्ध' का संदेश नहीं, बल्कि शांति का संदेश 'बुद्ध' दिया है। इसलिए जब हम आतंकवाद के विरुद्ध दुनिया को आगाह करते हैं तो हमारी आवाज में न केवल गंभीरता होती है, बल्कि आक्रोश भी होता है। 

इस दौरान मोदी ने कहा कि भारत की विकास गाथा पूरी दुनिया के गरीबों में विश्वास पैदा करने और दुनिया को एक नई आशा देने का काम करती है। उन्होंने कहा, "विकास के प्रयास हमारे हैं, लेकिन इसका फल सभी के लिए है, संपूर्ण विश्व के लिए है।" मोदी ने कहा, "हमारा प्रयास सारे संसार के लिए है। जब मैं उन देशों के बारे में सोचता हूं कि जो भारत की तरह ही प्रयास कर रहे हैं, तो हमारा विश्वास और दृढ़ हो जाता है।" मोदी का भाषण सुनने के लिए काफी संख्या में भारतीय भी संयुक्त राष्ट्र महासभा पहुंचे। संयुक्त राष्ट्र महासभा के बाहर भारतीय काफी संख्या में मौजूद रहे और 'भारत माता की जय' के नारे लगा रहे थे।