BREAKING NEWS

चुनावी बांड से चुनावी राजनीति में साफ धन आया : भाजपा ◾SPG सुरक्षा हटाए जाने पर बोलीं प्रियंका - यह राजनीति है ◾सेना ने मुख्यमंत्री पद के लिए नए नाम सुझाए, राकांपा ने उद्धव पर दिया जोर◾ED ने कश्मीर में आतंकवादियों से संबंधित छह संपत्तियां जब्त की ◾प्रदूषण पर राज्यसभा में भाजपा और आप में तकरार, केंद्र ने कहा ‘अच्छे’ दिन बढे◾केजरीवाल के दबाव में केंद्र ने अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को दिया मालिकाना हक : आप◾मोदी की जीत आशाओं तथा अपेक्षाओं की जीत : रविशंकर प्रसाद ◾विकास के कार्य पूरे करने को झारखंड में भाजपा को दें पूर्ण बहुमत : शाह◾राज्यसभा में विपक्षी दलों ने ट्रांसजेन्डर विधेयक को प्रवर समिति में भेजने की मांग की◾शिवसेना सदस्य ने की बिरसा मुंडा, वीर सावरकर को भारत रत्न देने की मांग◾TOP 20 NEWS 21 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾महाराष्ट्र : कांग्रेस और NCP के बीच बातचीत पूरी, कल नई सरकार की रुपरेखा पर होगा अंतिम निर्णय◾महाराष्ट्र : कांग्रेस के साथ संयुक्त बैठक से पहले NCP नेताओं की बैठक ◾अमित शाह ने झारखंड में चुनावी रैली को किया संबोधित, राम मंदिर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना◾लोकसभा में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने उठाया चुनावी बॉन्ड का मुद्दा◾साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की समिति में मिली जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण◾दिल्ली : महाराष्ट्र में शिवसेना संग गठबंधन पर सीडब्ल्यूसी ने लगाई मुहर ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रकिया 1 दिसंबर से पहले हो जाएगी पूरी : संजय राउत ◾दिल्ली : सोनिया गांधी के आवास पर सीडब्ल्यूसी की बैठक, महाराष्ट्र पर चर्चा की संभावना◾झारखंड विधानसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा के लिए सीटें बचाना हुआ मुश्किल , 'अपने' दे रहे कड़ी टक्कर ◾

देश

मोदी ने दी 'प्रचंड' को बधाई

 prachand

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल में स्थानीय चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने के लिए वहां के निवर्तमान प्रधानमंत्री प्रचंड को बधाई दी। प्रधानमंत्री कर्यालय ने ट्वीट में कहा कि मोदी ने फोन पर प्रचंड को बधाई दी। मोदी ने पुष्प कमल दहल 'प्रचंड' को नेपाल में लोकतंत्र को मजबूत करने के प्रति उनकी कटिबद्धता के लिए बधाई दी।

PM @narendramodi also felicitated Shri Pushpa Kamal Dahal 'Prachanda' for his strong commitment to strengthen democracy in Nepal.

— PMO India (@PMOIndia) May 26, 2017
लाखों नेपालियों ने 14 मई को दो दशक में देश के पहले स्थानीय चुनाव के लिए वोट डाले थे जब नेपाल ने राजनीतिक अस्थिरता के बीच लोकतंत्र को मजबूत करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया। चुनाव से पहले प्रचंड ने मोदी से बात की थी जिन्होंने नेपाल में चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने के लि भारत की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया था।

\"\"

पिछले साल अगस्त में प्रधानमंत्री बनने वाले प्रचंड ने नेपाली कांग्रेस नेता शेर बहादुर देउबा के साथ एक समझौते के तहत दो दिन पहले पद से इस्तीफा दे दिया था। समझौते के तहत वे अगले साल होने वाले चुनाव तक बारी-बारी से सत्ता साझा करेंगे। समझौते के चलते प्रचंड को नौ महीने बाद इस्तीफा देना पड़ा।