BREAKING NEWS

INX मीडिया मामला : चिदंबरम की जमानत याचिका पर SC का ED को नोटिस ◾राज्यसभा में सीट बदले जाने पर भड़के संजय राउत, स्पीकर वेंकैया नायडू को लिखा पत्र ◾CM ममता का अमित शाह पर पलटवार, कहा- बंगाल में एनआरसी को नहीं लागू होने देंगे◾पूरे देश में लागू होगा NRC, किसी को भी डरने की जरूरत नहीं : अमित शाह◾ महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच NCP प्रमुख शरद पवार ने PM मोदी से की मुलाकात◾राज्यसभा में बोले शाह- जम्मू एवं कश्मीर में 5 अगस्त के बाद से नहीं हुई एक भी मौत ◾कांग्रेस ने राज्यसभा में फिर उठाया SPG सुरक्षा का मुद्दा, भाजपा ने दिया ये जवाब◾INX मीडिया केस: चिदंबरम की जमानत याचिका पर SC का ईडी को नोटिस, 26 नवंबर को होगी अगली सुनवाई◾JNU विवाद : दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर प्रदर्शन करने जा रहे नेत्रहीन छात्रों को थाने ले गई पुलिस◾महाराष्ट्र में सरकार बनाने की प्रक्रिया अगले 5-6 दिनों में हो जाएगी पूरी : संजय राउत◾सरकारी उपक्रमों को खोखला कर बेच रही है सरकार : प्रियंका गांधी◾राजनाथ सिंह ने क्रांजी युद्ध स्मारक का किया दौरा, द्वितीय विश्वयुद्ध में मारे गए लोगों को दी श्रद्धांजलि◾गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाने के खिलाफ प्रदर्शन करेगी युवक कांग्रेस ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर दिल्ली में कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की मुलाकात आज ◾PMC बैंक के खाताधारकों को बड़ी राहत, मेडिकल इमरजेंसी में 1 लाख रुपये तक निकाल सकेंगे◾सदन में रणनीति को लेकर कांग्रेस ने बुलाई लोकसभा सांसदों की बैठक, अध्यक्षता करेंगी सोनिया गांधी◾महाराष्ट्र : सरकार बनाने की राह में आदित्य को सीएम बनाने की मांग से बाधा ◾आतंक वित्तपोषण : प्रवर्तन निदेशालय ने सलाहुद्दीन, अन्य से जुड़ी सम्पत्तियों को कब्जे में लिया ◾श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 29 नवम्बर को आयेंगे भारत की यात्रा पर : जयशंकर ◾रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾

देश

Modi सरकार ने पहले ही दिन किसानों, व्यापारियों और सुरक्षाकर्मियों को दिये तोहफे

मोदी सरकार ने अपना दूसरा कार्यकाल आरंभ करते ही लोकसभा चुनाव से पहले किये गये वादों को पूरा करने की शुरूआत कर दी और किसानों, छोटे कारोबारियों और सुरक्षाकर्मियों के कल्याण के लिए कई बड़े फैसले लिये।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सत्ता संभालने के पहले ही दिन मंत्रिमंडल की बैठक बुलायी जिसमें प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि योजना का लाभ देश के सभी किसानों को देने तथा छोटे किसानों के लिए पेंशन योजना शुरू करने का निर्णय लिया। पहले प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दो हेक्टेयर तक जमीन वाले किसानों को मिलता था लेकिन अब सभी किसानों को इसका लाभ मिलेगा। 

इसके तहत सभी किसानों को सालाना 6000 रूपये की राशि दी जायेगी। पहले इस योजना के तहत 12.5 करोड़ किसानों को लाभ मिलता लेकिन अब 14.5 करोड़ किसान इससे लाभांवित होंगे। भारतीय जनता पार्टी ने अपने संकल्प पत्र में इन योजनाओं की घोषणा की थी। चालू वित्त वर्ष में इस मद में सरकारी खजाने पर 87,217.50 करोड़ रुपये का बोझ आयेगा। 

दूसरे महत्वपूर्ण फैसले से छोटे किसानों को पेंशन योजना के तहत 3,000 रुपये मासिक पेंशन का लाभ मिलेगा। अठारह से 40 वर्ष की उम, तक के किसान कम से कम 55 रुपये प्रति माह की प्रीमियम जमा कर योजना से जुड़ सकते हैं। सरकार भी समान प्रीमियम राशि अपनी ओर से जमा करायेगी। योजना से जुड़ने वाले किसानों को 60 साल की उम, के बाद पेंशन मिलनी शुरू हो जायेगी। 

किसान चाहें तो सीधे प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से भी अपना प्रीमियम कटवा सकते हैं। पेंशन पा रहे किसी किसान की मौत होने पर आधी पेंशन राशि उसकी पत्नी को मिलेगी। सरकार ने तीन साल के दौरान पाँच करोड़ किसानों को इसके दायरे में लाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

किसानों से जुडे तीसरे फैसले में सरकार ने पशुओं की बीमारियों की रोकथाम के लिए पूरे देश में टीकाकरण अभियान चलाने का निर्णय लिया है। इसके तहत 51 करोड़ पशुओं को टीके लगाये जायेंगे। इसका पूरा खर्च केन्द, सरकार वहन करेगी और ये टीके पूरी तरह निशुल्क होंगे। 

सरकार ने छोटे व्यापारियों और दुकानदारों के लिए भाजपा के संकल्प पत्र में किये गये वादे को पूरा करते हुए देशभर के छोटे कारोबारियों को 3000 रुपए प्रति माह पेंशन देने की घोषणा की है। इस फैसले से तकरीबन तीन करोड़ छोटे कारोबारियों को लाभ होगा। इस योजना के सामान्य नियम असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए घोषित पेंशन योजना के समान होंगे। कारोबारियों को 60 वर्ष की आयु पर 3000 रूपये पेंशन मिलेगी। 

उन्होंने बताया कि सरकार की इस योजना में डेढ़ करोड़ रुपए तक का सालाना कारोबार करने वाले सभी दुकानदार और अपना कारोबार करने वाले लोग शामिल हो सकेंगे। योजना के शामिल होने की आयु 18 से 40 वर्ष होगी और देशभर में तीन लाख 25 हजार सामान्य सेवा केंद्रों के जरिये योजना में नामांकन कराया जा सकता है। 

सरकार के इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद, मोदी ने कहा है कि इससे अनेक भारतीयों का सशक्तिकरण होगा और उनकी प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ जनता पहले, जनता हमेशा। 

अपने इस कार्यकाल में कैबिनेट में किये गए क्रांतिकारी फैसलों से खुशी हुई। इन फैसलों से परिश्रमी किसानों और उद्यमियों को बहुत फायदा होगा।’’ इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने दूसरी बार कार्यभार संभालते ही पहला निर्णय देश की रक्षा करने वाले सैन्य तथा सुरक्षाकर्मियों के परिजनों के लिए लिया जिसमें उनके बच्चों को दी जाने वाली छात्रवृति की राशि में वृद्धि करने के साथ-साथ आतंकवादी और माओवादी हमलों में शहीद पुलिसकर्मियों के बच्चों को भी इसके दायरे में लाया गया है। 

इस योजना के तहत सैन्य तथा सुरक्षाकर्मियों के बेटों को दी जाने वाली 2000 रूपये प्रति माह की राशि बढाकर 2500 और बेटियों को दी जाने वाली राशि 2250 रूपये से बढाकर 3000 रूपये प्रति माह की गयी है। आतंकवादी और माओवादी हमलों में शहीद पुलिसकर्मियों के बच्चों को भी अब इसके दायरे में लाया गया है। हर साल 500 पुलिसकर्मियों के बच्चों को यह छात्रवृति दी जायेगी। गृह मंत्रालय इसके लिए नोडल मंत्रालय होगा। 

प्रधानमंत्री ने यह कदम देश की रक्षा, सुरक्षा और उसके लिए प्राणों की बाजी लगाने वालों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए उठाया है।