BREAKING NEWS

किसानों को अमित शाह का संदेश- हर समस्या और मांग पर सरकार विचार करने को तैयार◾दिल्ली में 24 घंटे में संक्रमण के 4998 नए मामले आये सामने, 89 और लोगों की मौत◾दिल्ली में कम हो रहा महामारी का संक्रमण, बीत चुका है कोरोना का तीसरा पीक : CM केजरीवाल◾पंजाब के CM अमरिंदर का बड़ा हमला- मेरे किसानों पर हुई निर्दयता, माफी मांगें खट्टर◾ओवैसी के गढ़ में CM योगी का भव्य स्वागत, लोगों ने लगाए आया-आया शेर आया के नारे◾हैदराबाद नगर निगम चुनाव: भाजपा के संबित पात्रा ने AIMIM और TRS पर जमकर हमला बोला ◾हरियाणा : प्रदर्शनकारी किसान नेताओं पर हत्या के प्रयास और दंगा करने के आरोप में मामला दर्ज ◾दिल्ली के निरंकारी मैदान में इकट्ठा हुए सैकड़ों किसान, नारों, गीतों व ढोल-नगाड़ों से गूंजा मैदान◾कोरोना वैक्सीन निर्माण की समीक्षा करने के लिए पुणे के सीरम इंस्टिट्यूट पहुंचे PM मोदी◾किसानों से बात करने के लिए पूरी तरह तैयार केंद्र, आंदोलन पर राजनीति न करें पार्टियां : नरेंद्र सिंह तोमर◾हजारों किसानों ने सिंघू बॉर्डर पर डटे रहने का किया फैसला, लगा सात किलोमीटर लंबा जाम◾राकेश टिकैत के ऐलान के बाद दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भी किसान मोर्चा खुलने की आशंका, पुलिस सतर्क ◾कोरोना महामारी की चपेट में आए NCP के विधायक भारत भालके का हुआ निधन◾दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का हल्लाबोल जारी, बोले - छह महीने तक भी कर सकते है प्रदर्शन ◾राहुल और प्रियंका का वार- PM मोदी के अहंकार ने जवान को किसान के खिलाफ खड़ा कर दिया◾आंदोलन में भाग लेने के लिए 2 लाख और किसान पहुंचेंगे दिल्ली, 40 किलोमीटर लंबा है गाड़ियों का काफिला◾UP : राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गैर कानूनी धर्म परिवर्तन के खिलाफ अध्यादेश को दी मंजूरी◾TOP 5 NEWS 28 NOVEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व के लगभग हर देश में कोरोना का प्रकोप तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 6 करोड़ 15 लाख से अधिक ◾देश में कोरोना के एक्टिव केस साढ़े चार लाख से अधिक, संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 93 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तीन तलाक के संबंध में दोबारा अध्यादेश लाएगी मोदी सरकार

मोदी सरकार तीन तलाक से जुड़ विधेयक तथा दो अन्य विधेयकों के संसद के शीतकालीन सत्र में पारित नहीं होने के कारण इस संबंध अध्यादेश दोबारा लायेगी। संसदीय कार्य राज्यमंत्री विजय गोयल ने आज संवाददाताओं से कहा कि तीन तलाक की प्रथा को दंडनीय अपराध बनाने संबंधी मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधयेक, 2018, भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (संशोधन) विधेयक, 2018 और कंपनी (संशोधन) विधेयक, 2019 लोकसभा में पारित हो गये, लेकिन इन्हें राज्यसभा में पारित नहीं किया जा सका। इसलिए, सरकार इस पर दोबारा अध्यादेश लायेगी। तीन तलाक और आयुर्विज्ञान परिषद, पर अध्यादेश पिछले साल सितंबर में तथा कंपनी कानून में संशोधन के लिए अध्यादेश पिछले साल नवंबर में लाया गया था।

संसद के शीतकालीन सत्र में तीनों से संबंधित विधेयक लोकसभा में पारित हो गये, लेकिन हंगामे के कारण राज्यसभा में ज्यादातर समय कार्यवाही बाधित रहने से ये उच्च सदन में पारित नहीं हो सके। उल्लेखनीय है कि अध्यादेश लाने के बाद अगले संसद सत्र में यदि उसकी जगह विधेयक पारित नहीं हो पाता है तो अध्यादेश स्वत: निरस्त हो जाता है। तीन तलाक से संबंधित अध्यादेश में लिखित, मौखिक या किसी अन्य माध्यम से तलाक-ए-बिद्दत या तीन तलाक देने को गैर-कानूनी बनाया गया है। इसमें डिजिटल माध्यमों से दिये गये तीन तलाक को भी शामिल किया गया है। तीन तलाक देने वाले को तीन साल तक की सजा और जुर्माने का प्रावधान है।

अध्यादेश के जरिये इसे गैर-जमानती अपराध बनाया गया है, हालाँकि मजिस्ट्रेट को पति-पत्नी के बीच सुलह कराने और पत्नी का पक्ष सुनने के बाद पति को जमानत देने का अधिकार है। कंपनी कानून में संशोधन वाले अध्यादेश के जरिये कंपनी कानून की 16 धाराओं में संशोधन किया गया है। सजा के प्रावधान में कुछ बदलाव करके आर्थिक दंड के प्रावधान किये गये हैं। इससे अदालत पर छोटे मामलों का बोझ घटेगा और वे अधिक गंभीर कॉरपोरेट अपराधों की सुनवाई पर अपना ध्यान केन्द्रित कर सकेंगे। भारतीय चिकित्सा परिषद, (एमसीआई) से जुड़ अध्यादेश के जरिये संचालन मंडल बनाकर एमसीआई का कामकाज उसे सौंपा गया है। एमसीआई का कामकाज देख रही निगरानी समिति के सभी सदस्यों के एक साथ त्यागपत्र दे देने से सरकार को संचालन मंडल के गठन के लिए अध्यादेश लाना पड़ा।