ग्वालियर : मान्यता प्राप्त राजैतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में पूरी पारदर्शिता के साथ ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) से मॉक पोल किया गया। यहां एमएलबी कॉलेज में विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के समक्ष ईवीएम का स्ट्रांग रूम खोला गया। इसके बाद राजैतिक दलों के प्रतिनिधियों द्वारा बताई गईं ईवीएम से पूरी पारदर्शिता के साथ मॉक पोल कराया गया। भारत निर्वाचन आयोग एवं राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के दिशा-निर्देशों के तहत ग्वालियर जिले में भी ईवीएम का प्रथम स्तरीय परीक्षण कराने के बाद उपलब्ध मशीनों में से 5 प्रतिशत ईवीएम से मॉक पोल कराया जा रहा है।

मॉकपोल के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के श्री अरूण कुलश्रेष्ठ, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रतिनिधि देशराज भार्गव, बहुजन समाज पार्टी के जितेन्द्र सिंह कुशवाह व रामदुलारे जाटव, सीपीआई के प्रकाश वर्मा व अशोक पाठक मौजूद रहे। साथ ही उप जिला निर्वाचन अधिकारी राघवेन्द्र पाण्डेय व राष्ट्र स्तरीय मास्टर ट्रेनरबी जी तेलंग व निर्वाचन से जुड़े अन्य संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री राघवेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि प्रथम स्तरीय परीक्षण के बाद ग्वालियर जिले में उपलब्ध 2124 ईवीएम में से 5 प्रतिशत अर्थात 108 ईवीएम का मॉक पोल कराया जाना है। पहले दिन मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में 24 ईवीएम से मॉकपोल कराया गया। मॉकपोल की प्रक्रिया पांच दिनों में एमएलबी कॉलेज में पूरी होगी। मॉक पोल के दौरान राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों ने ईवीएम से वोट डालकर देखे। साथ ही वीवीपेट में देखकर मत डलने की पुष्टि भी की। सभी प्रतिनिधि मॉकपोल की प्रक्रिया से पूरी तरह संतुष्ट हुए।