BREAKING NEWS

सावरकर वाले बयान पर कांग्रेस पर हमलावर हुई मायावती, कहा- अब भी शिवसेना के साथ क्यों, यह आपका दोहरा चरित्र नहीं?◾नेपाल के सिंधुपलचौक में यात्रियों से भरी बस दुर्घटनाग्रस्त, 14 लोगों की दर्दनाक मौत◾भारतीय मुसलमान घुसपैठिए और शरणार्थी नहीं, डरना नहीं चाहिए : रिजवी◾निर्भया के दोषियों को फांसी देना चाहती हैं इंटरनेशनल शूटर वर्तिका, अमित शाह को खून से लिखा खत ◾पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन, कई स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध◾नागरिकता संशोधन बिल में बदलाव को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने दिए संकेत◾अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल हुईं बेहोश, LNJP अस्पताल में भर्ती◾CAB के खिलाफ प्रदर्शनों के बाद आज गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील◾झारखंड विधानसभा चुनाव: देवघर में प्रत्याशियों की आस्था दांव पर◾ममता ने नागरिकता कानून को लेकर बंगाल में तोड़फोड़ करने वालों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी ◾भाजपा ने आज तक जो भी वादे किए है वह पूरे भी किए गए हैं - राजनाथ◾असम में हालात काबू में, 85 लोगों को गिरफ्तार किया गया : असम DGP◾पीएम मोदी के सामने मंत्री देंगे प्रजेंटेशन, हो सकता है कैबिनेट विस्तार◾मध्यम आय वर्ग वाला देश बनना चाहते हैं हम : राष्ट्रपति ◾कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रैली में पकौड़े बेच सत्ताधारियों का मजाक उड़ाया ◾भाजपा ने किया कांग्रेस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन : किसानों के प्रति असंवेदनशील होने का लगाया आरोप ◾कांग्रेस जवाब दे कि न्यायालय में उसने भगवान राम के अस्तित्व पर क्यों सवाल उठाए : ईरानी◾दिल्ली के रामलीला मैदान में 22 दिसंबर को रैली कर दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार शुरू करेंगे PM मोदी ◾जामिया के छात्रों ने आंदोलन फिलहाल वापस लिया◾सीएए के खिलाफ जनहित याचिका दायर की, एआईएमआईएम हरसंभव तरीके से कानून के खिलाफ लडे़गी : औवेसी◾

देश

भारत में उत्तर से दक्षिण तक बाढ़ का कहर, 240 से ज्यादा लोगों ने गवाई अपनी जान

 flood
देश के तमाम राज्यों में भूस्खलन, भारी बारिश और बाढ़ का कहर जारी है। अब तक भारत के 9 राज्यों में बाढ़ के कहर ने 240 लोगों को निगल लिया है। बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों को सूची में केरल, कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गोवा शामिल हैं। 

उत्तराखंड में तो बादल फटने, मूसलाधार बारिश और लैंड स्लाइड के कारण कोहराम मचा हुआ है। राज्य में अब तक 34 लोगों की जान जा चुकी है। उत्तराखंड का चमोली जिला इस प्राकर्तिक आपदा से सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। वहां बादल फटने से कई इमारतें और मकान बाढ़ की लहर में बह गए। उत्तराखंड में 13 से 16 अगस्त तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

गुजरात - राजस्थान भी नहीं बचे बाढ़ के प्रकोप से 

गुजरात और राजस्थान भी भारी बारिश की मार से नहीं बच पाए। गुजरात में अब तक 24 से ज्यादा लोग बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं। भारी बारिस से राज्य की सड़कें लापता हो गई हैं, और खेत तालाब में तब्दील हो गए हैं। जो जहां फंसा है, वहीं फंसा रह गया है। राजस्थान में भी हालात गंभीर बने हुए हैं। यहां के बडवानी जिले में मूसलाधार बारिश मुसीबत बनकर बरसी है। नदी किनारों को तोड़कर बह रही है।  

महाराष्ट्र जल मग्न के हालत पर 

बाढ़ का कहर पहाड़ों पर ही नहीं मैदानी इलाकों में भी जारी है। बाढ़ के चलते महाराष्ट्र पानी पानी हो रहा है। राज्य में बाढ़ का पानी तो कम हो रहा है, लेकिन तबाही कम होने का नाम नहीं ले रही है। महाराष्ट्र के कोल्हापुर में हालात बदतर हैं। यहां जहां तक नजर जाती है वहां तक सिर्फ पानी ही पानी नजर आ रहा है। लोगों के पास अपनी जान बचने का कोई रास्ता नहीं है और न ही खाने-पीने का सामान। जान बचाने और किसी सहायता के लिए लोग छतों पर चढ़ गए। एनडीआरएफ, भारतीय नेवी, वायुसेना और सेना के जवान लोगों को बचाने में जुटे हुए हैं। और लोगों को जरूरत की चीजें और खाने के पैकेट पहुंचा रहे हैं। 

दक्षिण भारत में पानी का प्रलय 

बाढ़ और बारिश से दक्षिण भारत भी अछूता नहीं रहा। जहां कर्नाटक में बाढ़ से  40 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है वहीँ केरल में भी लगभग 83 लोग पानी की इस त्रासदी का शिकार हो चुके हैं। कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया तो वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में लोगों से मिले और उन्हें राहत सामग्री वितरण की।