मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को छिंदवाड़ा में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने 40 साल छिंदवाड़ा की सेवा कर ली, अब यहां की जिम्मेदारी वह बेटे नकुलनाथ को सौंपते हैं। उनके इस बयान को कमलनाथ द्वारा बेटे को छिंदवाड़ा की राजनीतिक जिम्मेदारी सौंपे जाने की आधिकारिक घोषणा माना जा रहा है।

कमलनाथ ने यहां अपने बेटे के साथ मंच साझा किया। उन्होंने कहा, ‘आने वाले चुनाव में आप लोग कांग्रेस, मेरा साथ देंगे, मैंने तो 40 साल आपकी सेवा कर ली। अपनी जवानी समर्पित कर दी छिंदवाड़ा के लिए, अब यह बोझ अपने पुत्र नकुलनाथ को दे रहा हूं।’

श्यामा चरण गुप्ता ने भाजपा छोड़ सपा का थामा दामन : सपा ने बांदा से बनाया प्रत्याशी

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, ‘अब इनसे (नकुलनाथ) अपना काम कराइएगा। मैं तो पीछे रहूंगा ही, मगर इनको भी आपको सिखाना है। इनको भी मौका देना है, ताकि हम विकास का नया इतिहास बनाएं।’

कमलनाथ नौ बार से छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र के सांसद हैं। राज्य में कांग्रेस को बहुमत मिलने के बाद कमलनाथ मुख्यमंत्री बने। वह खुद छिंदवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री बनने के बाद छह माह की अवधि के भीतर विधायक निर्वाचित होना आवश्यक है। राज्य में कांग्रेस की सुरक्षित सीटों में से एक छिंदवाड़ा संसदीय क्षेत्र भी है, लिहाजा कमलनाथ यहां से अपने पुत्र नकुलनाथ को चुनाव लड़ाने वाले हैं। यह संदेश उन्होंने शनिवार को खुले मंच से दे दिया।