BREAKING NEWS

भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾

मुलायम-अखिलेश ने की योगी सरकार की छवि खराब करने की कोशिश : शाही 

गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव और पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को आड़े हाथ लेते हुए आज कहा कि पिता-पुत्र दोनों ने ही राज्य की योगी सरकार की छवि खराब करने की कोशिश की है। शाही ने कहा कि खुद को धरती पुत्र और किसानों का मसीहा बताने वाले पिता-पुत्र यह भूल रहे हैं कि वे 15 साल तक प्रदेश में सत्ता में रहे और किसानों के साथ केवल दिखावटी प्रेम करते रहे।

उन्होंने कहा, 'अब दोनों (मुलायम—अखिलेश) राज्य में योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ षडयंत्र कर रहे हैं। किसान रात के अंधेरे में मुख्यमंत्री आवास के सामने आलू फेंकने नहीं आएंगे बल्कि वे दिन में विरोध प्रदर्शन करेंगे क्योंकि वे कोई चोर नहीं हैं जो रात में आते हैं।’’ राजधानी में महत्वपूर्ण स्थानों पर आलू फेंके जाने की घटनाओं पर सपा को आड़े हाथों लेते हुए शाही ने कहा कि आलू किसानों की समस्या को समझते हुए 'मुख्यमंत्री ने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया, जिसका मैं भी सदस्य हूं।’’

उन्होंने बताया कि समिति अपनी रिपोर्ट 22 जनवरी को मुख्यमंत्री को सौंप देगी। शाही ने कहा कि आलू किसानों को पूर्व की सरकारों के समय भी समस्याओं का सामना करना पडा था लेकिन अब आलू का खरीद मूल्य तय कर दिया गया है। जब आलू का दाम 250 से 300 रूपये प्रति क्विंटल था, तब हमने इसे 467 रूपये प्रति क्विंटल कर दिया। मंत्री ने कहा कि पिछले शनिवार सपा के एक कार्यकर्ता सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। इन पर उत्तर प्रदेश विधानभवन के सामने आलू फेंकने का आरोप है।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के किसानों के मुद्दे पर भाजपा सरकार को कोसने संबंधी ट्विटर पर पोस्ट किये गये संदेशों के बारे में शाही ने कहा कि अखिलेश इन दिनों बेरोजगारी का शिकार हैं और वह केवल ट्वीट कर सकते हैं लेकिन ट्वीट में कोई सच्चाई नहीं है। सपा ने किसानों के लिए काम नहीं किया लेकिन भाजपा किसानों के हित में कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के लिए दिन रात मेहनत कर रहे हैं। किसानों की कर्ज माफी की गयी और करोडों रूपये की परियोजनाओं के तहत किसानों को बीज और खेती की मशीनें मुहैया करायी जा रही हैं। शाही ने दावा किया कि भाजपा की कडी मेहनत से अन्य पार्टियां घबरा गयी हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।