BREAKING NEWS

बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾दुनिया बदलीं लेकिल हमारी दोस्ती नही....रूसी राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी◾UP चुनाव को लेकर प्रियंका ने बताया कैसा होगा कांग्रेस का घोषणापत्र, कहा- सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाएगा◾'Omicron' के बढ़ते खतरे के बीच MP में 95 विदेशी नागरिक हुए लापता, प्रशासन के हाथ-पांव फूले ◾महबूबा ने दिल्ली के जंतर मंतर पर दिया धरना, बोलीं- यहां गोडसे का कश्मीर बन रहा◾अखिलेश सरकार में होता था दलितों पर अत्याचार, योगी बोले- जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो होगा जानामाना गुंडा ◾नागालैंड मामले पर लोकसभा में अमित ने कहा- गलत पहचान के कारण हुई फायरिंग, SIT टीम का किया गया गठन ◾आंग सान सू की को मिली चार साल की जेल, सेना के खिलाफ असंतोष, कोरोना नियमों का उल्लंघन करने का था आरोप ◾शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾विपक्ष ने लोकसभा में उठाया नगालैंड का मुद्दा, घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया, बिरला ने कही ये बात ◾UP विधानसभा चुनाव में BSP बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार, मायावती ने किया दावा ◾दिल्ली में हल्का बढ़ा पारा, 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज हुई वायु गुणवत्ता, फ्लाइंग स्क्वॉड की कार्रवाई जारी ◾पीएम मोदी ने किया ट्वीट! लोगों से टीकाकरण अभियान की गति बनाए रखने की अपील की◾

कोरोना वैक्सीन लगवाने वाले लोगों पर उसके प्रभाव का पता लगाने के लिए होगी राष्ट्रीय निगरानी मंच की स्थापना

कोविड-19 रोधी टीका लगवाने वाले लोगों पर उसके प्रभाव का पता लगाने और पहला तथा दूसरा टीका लगने के बाद लोगों में सभावित संक्रमण निर्धारित करने के लिए जल्द एक राष्ट्रीय निगरानी मंच की स्थापना की जाएगी। ऐसा मंच स्थापित करने के लिए ‘नेशनल टेक्नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन’ (टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह) की सिफारिशों को टीकाकरण के राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह और केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वीकार कर लिया है।

‘आईएनसीएलईएन ट्रस्ट’ के प्रमुख डॉ. एनकेअरोड़ा ने कहा कि कोविड-19 कार्यदल, जो ‘नेशनल टेक्नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेशन’ (एनटीएजीआई) का हिस्सा है, उसने कोविड-19 रोधी टीका लगवाने वाले लोगों पर उसके प्रभाव का पता लगाने और पहला तथा दूसरा टीका लगने के बाद लोगों में सभावित संक्रमण निर्धारित करने के लिए जल्द एक राष्ट्रीय निगरानी मंच की स्थापना की जाने की सिफारिश की है। ‘आईएनसीएलईएन ट्रस्ट’,कोविड-19 के कार्यदल का नेतृत्व कर रहा है।

उन्होंने कहा कि ‘कोविशील्ड’ टीके की दो खुराक के बीच के समय को बढ़ाने के बाद उसके प्रभाव पर नजर रखना जरूरी हो गया है। गौरतलब है कि सरकार ने गुरुवार को कोविड-19 कार्यदल के ‘कोविशील्ड’ के टीके की दो खुराक लेने के बीच के अंतर को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह करने की सिफारिश भी स्वीकार कर ली थी।

एनटीएजीआई ने सिफारिश की है कि भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और अन्य एजेंसियों के वास्तविक समय में वर्तमान आंकड़ों का इस्तेमाल इस सुविधा की स्थापना करने के लिए किया जा सकता है, ताकि जमीनी हकीकत की समीक्षा की जा सके। सरकारी पैनल ने यह भी सुझाव दिया है कि अब गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी टीका लगवाने का विकल्प दिया जा सकता है।

सूत्रों के अनुसार, एनटीएजीआई ने यह भी सुझाव दिया है कि जिन लोगों प्रयोगशाला परीक्षण में सार्स-सीओवी-2 की पुष्टि हुई है, उन्हें संक्रमण मुक्त होने के छह महीने बाद तक कोविड-19 रोधी टीका लगवाने से रोका जाए। स्वास्थ्य मंत्रालय के मौजूदा दिशा-निर्देशों के अनुसार, कोविड-19 से उबरने के चार से आठ सप्ताह बाद लोग टीका लगवा सकते हैं और गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अभी टीके नहीं लगाए जा रहे।