BREAKING NEWS

किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए राकेश टिकैत ने कही ये बात◾DRDO ने जमीन से हवा में मार करने वाली VL-SRSAM मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले◾केंद्र की गलत नीतियों के कारण देश में महंगाई बढ़ रही, NDA सरकार के पतन की शुरूआत होगी जयपुर की रैली: गहलोत◾अमरिंदर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, अजय माकन को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने पर उठाए सवाल◾SKM की बैठक खत्म, क्या समाप्त होगा आंदोलन या रहेगा जारी? कल फाइनल मीटिंग◾महाराष्ट्र: आदित्य ठाकरे ने 'ओमिक्रॉन' से बचने के लिए तीन सुझाव सरकार को बताए, केंद्र को भेजा पत्र◾गांधी का भारत अब गोडसे के भारत में बदल रहा है..महबूबा ने केंद्र सरकार को फिर किया कटघरे में खड़ा, पूर्व PM के लिए कही ये बात◾UP चुनाव: सपा-रालोद आई एक साथ, क्या राज्य में बनेगी डबल इंजन की सरकार, रैली में उमड़ा जनसैलाब ◾बेंगलुरु का डॉक्टर रिकवरी के बाद फिर हुआ कोरोना पॉजिटिव, देश में ओमीक्रॉन के 23 मामलों की हुई पुष्टि ◾समाजवादी पार्टी पर PM मोदी का हमला, बोले-'लाल टोपी' वालों को सिर्फ 'लाल बत्ती' से मतलब◾पीेएम मोदी ने पूर्वांचल को दी 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात, सपा के लिए कही ये बात◾सदन में पैदा हो रही अड़चनों के लिए सरकार जिम्मेदार : मल्लिकार्जुन खड़गे◾UP चुनाव में BJP कस रही धर्म का फंदा? आनन्द शुक्ल बोले- 'सफेद भवन' को हिंदुओं के हवाले कर दें मुसलमान... ◾नगालैंड गोलीबारी केस में सेना ने नगारिकों की नहीं की पहचान, शवों को ‘छिपाने’ का किया प्रयास ◾विवाद के बाद गेरुआ से फिर सफेद हो रही वाराणसी की मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने लगाए थे तानाशाही के आरोप ◾लोकसभा में बोले राहुल-मेरे पास मृतक किसानों की लिस्ट......, मुआवजा दे सरकार◾प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾Winter Session: निलंबन वापसी के मुद्दे पर राज्यसभा में जारी गतिरोध, शून्यकाल और प्रश्नकाल हुआ बाधित ◾12 निलंबित सदस्यों को लेकर विपक्ष का समर्थन,संसद परिसर में दिया धरना, राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित ◾

पर्यावरण कानूनों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की आवश्यकता : उपराष्ट्रपति नायडू

देश के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को पर्यावरण कानूनों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की आवश्यकता पर जोर दिया और ‘‘प्रदूषक द्वारा भुगतान’’ के सिद्धांत को लागू करने के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि दुनिया जिस जलवायु संकट से गुजर रही है, उसे देखते हुए पर्यावरण की रक्षा के आंदोलन में सभी को एक योद्धा बनना चाहिए।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, उन्होंने कहा, ‘‘पंचायत से लेकर संसद तक, सभी हितधारकों को पर्यावरण की रक्षा के लिए सक्रिय रूप से कार्य करना चाहिए।’’ बयान में कहा गया है कि उन्होंने प्रदूषण कानूनों के उल्लंघनकर्ताओं के साथ सख्ती से कार्रवाई करने और ‘प्रदूषक द्वारा भुगतान’ सिद्धांत को सख्ती से लागू करने पर विचार करने पर भी जोर दिया।

हाल की आपदाओं जैसे हिमाचल प्रदेश में अचानक आई बाढ़, उत्तराखंड में भूस्खलन और कनाडा तथा अमेरिका में गर्म हवाओं पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि ये जलवायु परिवर्तन के कारण विकराल होती मौसमी घटनाओं की बढ़ती आवृत्ति के उदाहरण हैं।

नायडू ने उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में हाल में बिजली गिरने से हुई मौतों पर भी चिंता व्यक्त की। स्वर्ण भारत ट्रस्ट, हैदराबाद में प्रशिक्षुओं के साथ बातचीत करते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा कि इन ‘‘चिंताजनक’’ प्रवृत्तियों के आलोक में, लोगों के लिए प्रकृति के साथ सामंजस्य स्थापित करना और सभी की भलाई सुनिश्चित करने के लिए पर्यावरण की रक्षा करना अनिवार्य है।

भारतीय सभ्यता में प्रकृति को दिए गए महत्व को याद करते हुए नायडू ने कहा कि लोगों को प्राकृतिक पर्यावरण के ‘न्यासी’ के रूप में कार्य करना चाहिए, जैसा कि गांधी जी ने सलाह दी थी। उन्होंने पेरिस जलवायु समझौते के प्रति भारत की प्रतिबद्धता, अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन बनाने में नेतृत्व का उल्लेख किया और जलवायु परिवर्तन की दिशा में और भी अधिक ठोस वैश्विक प्रयासों का आह्वान किया।