BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस का नहीं हुआ गठबंधन, अब ऑपरेशन लोटस की तैयारी में BJP◾दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾

देश

निपाह वायरस का प्रकोप सिर्फ केरल तक सीमित : हर्षवर्धन

पशुओं से मनुष्यों में संक्रमण फैलाने वाले निपाह वायरस का प्रकोप भारत में अब तक दो राज्यों (पश्चिम बंगाल और केरल) तक ही सीमित रहा है। राज्यसभा में मंगलवार को सरकार की ओर से यह जानकारी दी गयी। स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि पूरे देश में निपाह वायरस के प्रसार पर सतर्क निगरानी तंत्र के कारण इस साल भी इसका संक्रमण सिर्फ केरल तक ही सीमित है।

उन्होंने बताया कि चमगादड़ और सूअर या अन्य जानवरों से होने वाले इस वायरस का संक्रमण सबसे पहले 1998-1999 में मलेशिया में हुआ। इसके बाद 2001 और 2007 में निपाह वायरस का पहली बार भारत में संक्रमण पश्चिम बंगाल में देखने को मिला। केरल में पिछले साल इसका प्रकोप सामने आने के बाद इस साल फिर से निपाह के मामले केरल में सामने आये हैं। उन्होंने बताया कि केरल के एर्णाकुलम जिले में इस साल सिर्फ एक मामला सामने आया। इस दौरान किसी अन्य राज्य में अब तक इसके संक्रमण के मामले सामने नहीं आये हैं। 

डा. हर्षवर्धन ने बताया इसके संक्रमण को रोकने के स्थायी समाधान के तौर पर देश भर में सघन निगरानी तंत्र कार्यरत है। उन्होंने बताया कि इस दिशा में व्यापक शोधकार्य भी चल रहा है जिससे इसके प्रतिरूप एवं अन्य माध्यमों से संक्रमण की संभावनाओं को समय रहते निष्प्रभावी बनाया जा सके। 

स्वास्थ्य सेवाओं के प्रसार से जुड़े एक अन्य सवाल के जवाब में डा. हर्षवर्धन ने बताया कि ग्रामीण और शहरी क्षत्रों में 1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बनाये जा रहे हैं। इनमें सामान्य बीमारियों के मरीजों की सभी प्रकार की जांच और दवा वितरण की सुविधा होगी। उन्होंने बताया कि अब तक लगभग 19 हजार सेंटर बन गये हैं और 2022 तक 1.5 लाख सेंटर बन जायेंगे।