BREAKING NEWS

अडानी पर हिंडनबर्ग का हमला, कहा- 'धोखाधड़ी को राष्ट्रवाद से ढका नहीं जा सकता'◾1 फरवरी को संसद के पटल पर होगा बजट पेश, 'लोगों को काफी उम्मीदें'◾राजस्‍थान में शीतलहर का कहर, 5वीं कक्षा तक के स्‍कूल 31 जनवरी तक बंद ◾आज का राशिफल (30 जनवरी 2022)◾सिर्फ मोदी को लगता है, चीन ने हमारी जमीन नहीं ली : राहुल गांधी◾BCCI ने भारतीय अंडर-19 महिला टीम के लिए 5 करोड़ के नकद पुरस्कार की घोषणा की◾भारतीय महिला टीम बनी अंडर-19 टी20 विश्व कप चैम्पियन, बधाइयों का लगा तांता◾बारिश भी नहीं डिगा सका बीटिंग रिट्रीट के जज्बे को, गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ औपचारिक समापन◾दिल्ली में बारिश, अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे◾ओडिशा के मंत्री नब किशोर दास की गोली लगने से मौत, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने शोक जताया◾IND vs NZ : स्पिनरों के दबदबे के बीच भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, श्रृंखला 1-1 से बराबर◾हमीरपुर में दूषित जल पीने से बीमार पड़ने वालों की संख्या 535 हुई, मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगी◾प्रधानमंत्री मोदी : 'तकनीकी दशक बनाने का भारत का सपना होगा साकार'◾रामचरितमानस विवाद में घिरे स्वामी प्रसाद को अखिलेश ने बनाया राष्ट्रीय महासचिव, चाचा शिवपाल को भी मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾यूपी के मंत्री जितिन प्रसाद ने स्वामी प्रसाद मौर्य के रामचरितमानस बयान को बताया चुनावी रणनीति◾Air Asia Flight: एयर एशिया के विमान से टकराया पक्षी, लखनऊ एयरपोर्ट पर हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾ सपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट में पार्टी नेताओं के नाम किए घोषित,विवादों में रहें स्वामी प्रसाद मौर्य को बनाया गया महासचिव◾पाकिस्तान की जनता पर टूटा दुखों का पहाड़, पेट्रोल, डीजल के दाम 35-35 रुपये लीटर बढ़े◾Gonda Crime : धारदार हथियार से की शिक्षक की हत्या, मिले कुछ महत्वपूर्ण सुराग ◾2024 के लिए कठिन क्यों है कांग्रेस का डगर, भारत जोड़ो यात्रा से लोगों में दिखा असर◾

नितिन गडकरी की अपील, कहा- सभी दलों को यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के लिए सामूहिक प्रयास करना चाहिए

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि सभी दलों को समान नागरिक संहिता लागू करने के लिए सामूहिक प्रयास करना चाहिए, क्योंकि यह राष्ट्र और मानवता के लिए अच्छा होगा।गडकरी ने ‘एजेंडा आजतक’ कार्यक्रम में समान नागरिक संहिता के सवाल पर कहा, ‘‘ अगर कोई पुरुष, किसी महिला से शादी करता है तो नैसर्गिक है। लेकिन कोई चार शादी करता है, तो अप्राकृतिक है। इसलिए प्रगतिशील और शिक्षित मुस्लिम यह नहीं करते हैं।’’

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा, ‘‘समाज में गुणात्मक परिवर्तन होने चाहिए। यह किसी धर्म या वर्ग के खिलाफ नहीं है। हमें एकजुट होकर विकसित राष्ट्र बनाना चाहिए।’’उन्होंने सवाल किया कि क्या किसी भी धर्म की महिला को चाहे वह हिंदू हो , मुस्लिम हो या सिख हो उन्हें समान अधिकार नहीं मिलना चाहिए? गडकरी ने पूछा कि दुनिया के किस मुस्लिम देश में दो नागरिक संहिता है?

मानवता एवं राष्ट्र के लिए होगा अच्छा

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘अगर केंद्र सरकार किसी मुद्दे पर कोई फैसला लेती है और राज्य आपत्ति करते हैं, तो इससे बाहर जो संदेश जाएगा वो अच्छा नहीं होगा, क्योंकि ऐसे मामले समवर्ती सूची में है। इसलिए मेरा मानना है कि अगर राज्य और सभी पार्टी सामूहिक रूप से फैसला लेते हैं, तो यह मानवता एवं राष्ट्र के लिए अच्छा होगा।’’उल्लेखनीय है कि हाल में संपन्न गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में समान नागरिक संहिता को लागू करना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रमुख मुद्दों में शामिल था। गुजरात सरकार ने 29 अक्टूबर को घोषणा की थी कि वह समान नागरिक संहिता लागू करने लिए समिति का गठन करेगी। यह फैसला उस दिन राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया था।