BREAKING NEWS

गिरिराज सिंह ने कहा- सनातन धर्म को खत्म करने की हो रही साजिश, लव जिहाद को बताया आतंकवाद का नया रूप ◾आपसी विवाद के बाद पहली बार साथ नजर आए, अशोक गहलोत और सचिन पायलट◾टोयोटा किर्लोस्कर वाइस चेयरपर्सन विक्रम किर्लोस्कर का 64 साल की उम्र में हार्टअटैक से निधन◾UP के फिरोजाबाद में दुकान-मकान में लगी आग , 3 बच्चों समेत 6 की मौत , CM योगी ने हादसे पर दुःख प्रकट किया ◾एम्स सर्वर हैक मामला : गृह मंत्रालय में हुई उच्चस्तरीय बैठक◾दिल्ली के आसपास 2.4 तीव्रता का भूकंप, हल्के झटके महसूस किए गए◾आज का राशिफल (30 नवंबर 2022)◾सुंदरवन जल्द ही नया जिला होगा : ममता बनर्जी◾भारत में टारगेट हत्याओं के पीछे पाकिस्तान-कनाडा स्थित आतंकवादी, NIA जांच में खुलासा◾ थम गया गुजरात चुनाव का प्रचार, खड़गे ने PM को बताया रावण, BJP ने कांग्रेस पर किया पलटवार ◾MP : महाकाल मंदिर में राहुल गांधी ने की पूजा-अर्चना ◾रामपुर में पहले नहीं होते थे चुनाव, थानों और बूथों पर रहता था सपा के गुंडों का कब्जा : बृजेश पाठक ◾J&K : आजाद बोले- धार्मिक राजनीति ने देश को पहुंचाया गहरा नुकसान, वोट डालने से पहले जांचे 'ट्रैक रिकॉर्ड'◾पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- विनिर्माण की दुनिया में लगातार आगे बढ़ रहा है भारत◾Assam: सीएम शर्मा ने कहा- डिब्रूगढ़ विवि ने रैगिंग की घटना छिपाने की कोशिश की या नहीं, जांच पुलिस करेगी◾'मोदी सरकार' पर निशाना साधते हुए राहुल बोले- नोटबंदी, GST ने लोगों और छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ी◾Gujarat: गुजरात में मिली जहरीली शराब पर भड़के राहुल गांधी- राज्य में फैल हुआ 'मोदी मॉडल'◾ लड़की के साथ दरिंदगी, तीन लोगों ने मिलकर किया दुष्कर्म, पुलिस ने आरोपियों को दबोचा, जानें पूरा मामला ◾Goa: सीएम प्रमोद सांवत ने कहा- ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर इफ्फी के जूरी प्रमुख का बयान कश्मीरी हिंदुओं का अपमान◾Air India: एयर इंडिया-विस्तारा के विलय को मिली मंजूरी...सिंगापुर एयरलाइंस की होगी इतनी हिस्सेदारी◾

नीतीश की विपक्ष को एकजुट करने की मुहिम आरम्भ से पहले ही हुई फेल? रैली से नदारद रहे कई नेता

भारतीय जनता पार्टी को लोकसभा चुनाव में टक्कर देने के लिए विपक्ष की ओर से एनडीए के खिलाफ 'महागठबंधन' बनाने की पूरी कोशिश हो रही है। लेकिन, अभी तक एकजुटता का असर दिखाई देना शुरू नहीं हुआ है। क्योंकि, बीते दिन हरियाणा में इंडियन नेशनल लोक दल (इनेलो) ने रैली आयोजित की थी, जिसमें कई बड़े नेता शामिल हुए थे। 

वही, इन नेताओं ने रैली में शामिल होकर विपक्ष को एकजुट होने की अपील की थी, लेकिन रैली से कुछ अहम पार्टियां और उसके नेता नदारद रहे थे। जिससे कई सवाल अब उठने लगे है। इस रैली में बिहार सीएम नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी, शिरोमणि अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल, एनसीपी के शरद पवार, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सीताराम येचुरी व शिवसेना के अरविंद सावंत जैसे बड़े नेता शामिल हुए थे। 

नीतीश कुमार विपक्ष को करेंगे एकजुट 

इन नेताओं ने एक मंच से खड़े होकर लोकसभा चुनाव में विपक्ष को एकजुट होने की अपील की थी। लेकिन जनता की निगाहें अन्य कई नेताओं को तलाश रही थी, जो विपक्ष के सबसे बड़े चेहरे माने जाते है। जिसमें DMK, TRS और TMC के नेताओं का भी नाम शामिल है। हालांकि, ऐसे कई और नेता भी थे, जो रैली में शामिल नहीं हुए लेकिन उन्होंने अपनी मजबूरी का हवाला देकर माफ़ी मांगी। 

हम आपको बता दें, बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने विपक्ष को एकजुट करने की मुहिम शुरू की है। इसके लिए उन्होंने पिछले माह अरविंद केजरीवाल से लेकर राहुल गांधी तक से मुलाकात की थी। नीतीश कुमार भी अपने बयान में कई बार बोल चुके है की वो विपक्ष को एक करने की कोशिश करते रहेंगे, क्योंकि बीजेपी को 2024 में हटाना है।