BREAKING NEWS

खट्टर ने स्थानीय युवाओं को नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने वाला विधेयक न लाने के संकेत दिए ◾सबरीमला में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़, 2 महिलायें वापस भेजी गयी ◾जेएनयू छात्रसंघ पदाधिकारियों का दावा, एचआरडी मंत्रालय के अधिकारी ने दिया समिति से मुलाकात का आश्वासन ◾प्रियंका गांधी ने इलेक्टोरल बांड को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾TOP 20 NEWS 18 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद पवार बोले- किसी के साथ सरकार बनाने पर चर्चा नहीं◾INX मीडिया धनशोधन मामला : चिदंबरम ने जमानत याचिका खारिज करने के आदेश को न्यायालय में दी चुनौती ◾मनमोहन सिंह ने कहा- राज्य की सीमाओं के पुनर्निधार्रण में राज्यसभा की अधिक भूमिका होनी चाहिए◾'खराब पानी' को लेकर पासवान का केजरीवाल पर पटलवार, कहा- सरकार इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करना चाहती◾संसद का शीतकालीन सत्र : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾बीजेपी बताए कि उसे चुनावी बॉन्ड के जरिए कितने हजार करोड़ रुपये का चंदा मिला : कांग्रेस ◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾

देश

प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के आसपास कोई भी नेता नहीं : सर्वेक्षण

हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले आईएएनएस और सी-वोटर ने लोगों के बीच सर्वेक्षण किया। इस सर्वेक्षण के अनुसार, मतदाता मानते हैं प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के करीब कोई भी नेता नहीं है। 

हरियाणा में किए गए सर्वेक्षण में 71.6 फीसदी लोगों ने कहा कि मोदी प्रधानमंत्री बनने के लिए सबसे अच्छे उम्मीदवार हैं, जबकि महाराष्ट्र में 65 फीसदी लोगों ने यही राय दी। 

मोदी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके बेटे राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित अन्य सभी नेताओं से काफी आगे हैं। 

हरियाणा में केवल 7.6 फीसदी लोग और महाराष्ट्र में 8.5 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के रूप में राहुल गांधी का समर्थन किया। 

प्रधानमंत्री पद के लिए सोनिया गांधी को हरियाणा में केवल 0.9 फीसदी और महाराष्ट्र में 1.2 फीसदी लोगों का समर्थन मिला। 

हरियाणा में 16 सितंबर और 16 अक्टूबर के बीच कराए गए सर्वेक्षण में शामिल 6.3 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के लिए मनमोहन सिंह का समर्थन किया। वहीं महाराष्ट्र में यह आंकड़ा 5.2 फीसदी रहा। 

प्रधानमंत्री के लिए जनता दल-यूनाइटेड (जदयू) सुप्रीमो और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हरियाणा में महज 0.4 फीसदी और महाराष्ट्र में 0.2 फीसदी वोट मिले। 

इस दिशा में हरियाणा के लोगों से देश के कुछ अन्य नेताओं के बारे में भी पूछा गया। समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता मुलायम सिंह यादव को 0.1 फीसदी, तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को 0.3 फीसदी, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती को 2.7 फीसदी और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 2.2 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के तौर पर पसंद किया। 

महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) नेता शरद पवार को प्रधानमंत्री पद के लिए 7.6 फीसदी लोगों ने समर्थन दिया। जबकि ममता बनर्जी को 0.3 फीसदी, मायावती को 0.9 फीसदी और केजरीवाल को 1.1 फीसदी लोग प्रधानमंत्री देखना चाहते हैं। 

इस पद के लिए भाजपा नेताओं में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को 0.3 फीसदी और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को 0.1 फीसदी वोट मिला। 

सर्वेक्षण का एक अन्य पहलू यह था कि क्या 21 अक्टूबर को होने वाले इन दोनों राज्यों के विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनावों के परिणामों से प्रभावित होंगे? 

सर्वेक्षण में कहा गया है कि हरियाणा में 64.7 जबकि महाराष्ट्र में 64.4 फीसदी लोगों ने इस प्रश्न के लिए 'हां' कहा। 

इस सर्वेक्षण के लिए हरियाणा के 10,061 जबकि महाराष्ट्र के 19,489 लोगों से राय ली गई।