कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने मंगलवार को वीडियो जारी किया जिसमें कुछ लोग कथित तौर यह दावा करते हुए नजर आ रहे हैं कि नोटबंदी के बाद भाजपा के कुछ नेताओं की मदद से कमीशन की एवज में नोट बदले गए। सिब्बल ने यह दावा भी किया कि नोटबंदी के बाद 15 से लेकर 40 प्रतिशत तक कमीशन की एवज में नोट बदले गए।

demonetisation

सिब्बल ने जो वीडियो जारी किया कि इसकी प्रमाणिकता की स्वतंत्र पुष्टि नहीं हो पाई है और फिलहाल भाजपा की तरफ से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। यह पूछे जाने पर कि वह इस मामले में अदालत जाएंगे तो उन्होंने इससे इनकार किया।

प्रधानमंत्री राफेल और नोटबंदी पर पूरी तैयारी करके मेरे साथ बहस करें : राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने नोटबंदी को सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए कहा, “पिछलों पांच वर्षों में आपने देखा कि पानी की तरह पैसा बहता है। इसकी झलक इन वीडियो में दिखी है। अगर कोई बैंकर, सरकारी कर्मचारी, सरकार के लोग मिलकर 15 से 40 फीसदी कमीशन कमाएं तो इससे बड़ा कोई अपराध नहीं है। यह राष्ट्रद्रोह है।”

सिब्बल ने कहा, “जांच एजेंसियां विपक्षी दलों के नेताओं की जांच करेंगी लेकिन इनके मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों की कोई जांच नहीं होगी। ऐसा लगता है कि ईडी, सीबीआई और एनआईए मोदी सरकार के कब्जे में है। अब लोकतंत्र बचाने का काम जनता है।”