BREAKING NEWS

कोरोना संकट : सरकार ने 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में पांच-पांच सौ रूपये की सहायता राशि डाली ◾देश में कोरोना का कहर जारी, वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या पांच हजार के पार,140 से ज्यादा लोगों की मौत◾जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों के खिलाफ होगा मामला दर्ज, दिया हुआ समय-सीमा समाप्त : अनिल विज ◾Covid 19 : लखनऊ समेत 15 जिलों में चुनिंदा इलाकों को किया जायेगा सील◾कोरोना संकट : दिल्ली के ये 20 कोरोना हॉटस्पॉट सील, बिना मास्क घर से निकलने पर होगी सख्त कार्रवाई ◾प्रधानमंत्री के साथ बैठक में 80 फीसदी विपक्षी नेताओं ने लॉकडाउन आगे बढ़ाने का दिया सुझाव : कांग्रेस ◾तबलीगी जमात के 800 से ज्यादा लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया : CM येदियुरप्पा◾PM के सम्मान में 5 मिनट खड़े होने वाली मुहीम को प्रधानमंत्री मोदी ने बताया 'खुराफात'◾coronavirus : पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 773 नए मामलों की पुष्टि, अबतक 149 लोगों की मौत◾सर्वदलीय बैठक में PM मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर की चर्चा, बोले-कोरोना के खिलाफ लंबी है लड़ाई ◾Coronavirus : मुख्यमंत्री योगी ने 56 फायर टेंडर्स को दिखाई हरी झंडी, यूपी को सैनिटाइज करने का चलेगा अभियान◾लॉकडाउन आगे बढ़ेगा या नहीं, PM मोदी शनिवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद ले सकते है फैसला ◾ कोरोना संकट : लखनऊ, नोएडा और आगरा सहित 15 जिले पूरी तरह सील, जरूरी सामानों की होगी होम डिलीवरी◾ फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन के दौरान सुरक्षित तरीके से ढील दी जाए : राहुल गांधी◾उत्तर प्रदेश में COVID-19 से चौथी मौत, आगरा में 76 साल की महिला ने तोड़ा दम◾गृह मंत्रालय ने भी राज्यों को लिखा पत्र, कहा- जमाखोरों, कालाबाजारी करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई◾कोविड-19 की जांच को लेकर SC ने कहा-प्राइवेट लैब में मुफ्त हो कोरोना टेस्ट ◾देश में लॉकडाउन से उत्पन्न हालात पर विचार विमर्श के लिए PM मोदी ने की राजनीतिक दलों के नेताओं से चर्चा ◾ब्राजील के राष्ट्रपति ने कोरोना को लेकर PM मोदी को लिखी चिट्ठी, भारत की मदद को बताया संजीवनी◾हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन के निर्यात को मंजूरी मिलने के बाद बदले ट्रंप के सुर, PM मोदी को बताया महान◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कांग्रेस ने विवादित बयान देने पर अपने विधायक को भेजा नोटिस

बेंगलुरू : कर्नाटक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं विधायक रोशन बेग ने एक्जिट पोल में दिखाये जा रहे पार्टी के प्रदर्शन को आधार बना कर पार्टी के खराब प्रदर्शन का ठीकरा मंगलवार को राज्य इकाई के प्रमुख पर फोड़ा और एआईसीसी महासचिव केसी वेणुगोपाल को ‘मसखरा’ बताया, जिसके बाद पार्टी ने उन्हें कारण बताओे नोटिस थमा दिया है। बेग ने पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की आलोचना करते हुये कहा कि उन्होंने हिंदू समाज को ‘‘बांटा’’ है क्योंकि उन्होंने लिंगायत समाज को अलग धर्म का दर्जा देने का प्रयास किया और वोक्कालिंगा समुदाय को अपने कार्यकाल में ‘‘अपशब्द’’ कहे।

बेग ने मुसलमानों से कहा वे ‘‘हालात से समझौता करें (भाजपा नीत संप्रग की सत्ता में) और ‘‘मवेशियों’’ की तरह न रहें जिसे वोट बैंक के लिए हांका जाता है। उनकी इन टिप्पणियों से कांग्रेस की कर्नाटक इकाई को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है और उसने बेग की टिप्पणी पर कड़ा रुख दिखाते हुये उन्हें ‘‘कारण बताओ’’ नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि बेग के बयानों को पार्टी विरोधी गतिविधि के रूप में काफी गंभीरता से लिया जा रहा है। बेग से एक सप्ताह के भीतर यह बताने के लिये कहा गया है कि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई क्यों न की जाए।

राज्य कांग्रेस के महासचिव वी वाई घोरपड़े द्वारा हस्ताक्षर किये गए नोटिस में कहा गया है, जवाब नहीं देने पर आपके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। कर्नाटक में सत्तारूढ़ जनता दल एस के अध्यक्ष ए एच विश्वनाथ ने बेग की नाराजगी का स्वागत करते हुये कहा कि उनकी टिप्पणियां ‘सत्य’ हैं और ‘वास्तविक’ हैं। उन्होंने बेग का शुक्रिया अदा करते हुये कहा कि उन्होंने जो कहा है उसमें कुछ गलत नहीं है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने इस मामले पर टिप्पणी करते हुये कहा कि बेग की नाराजगी से राज्य की राजनीति को नयी दिशा मिल सकती है।

EVM की सुरक्षा पर प्रणब मुखर्जी भी चिंतित, कहा- भरोसा ना टूटने दे EC

भाजपा उन सभी का स्वागत करती है जो भगवा दल की विचारधारा का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि सत्य को और वास्तविक घटनाओं को छिपाया नहीं जा सकता है। बेग ने कहा था कि वेणुगोपाल जैसे ‘‘मसखरे’’ और सिद्धारमैया जैसी मनोवृत्ति और कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडू राव के फ्लाप शो और इसका परिणाम (लोकसभा एक्जिट पोल) यह है। बेग की नाराजगी की वजह मुसलमानों को टिकट देने की कांग्रेस की नीति को भी माना जा रहा है।

कांग्रेस ने मौजूदा लोकसभा चुनाव में केवल एक मुसलमान रिजवान अरशद को ही टिकट दिया था जबकि इस समुदाय को तीन सीटें देने की मांग की जा रही थी। कांग्रेस को छोड़ने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्होंने कोई फैसला नहीं किया है। राव ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा कि अभी परिणाम नहीं आये हैं पर वे बयानबाजी कर रहे हैं। बेग इससे पहले राज्य मंत्रिमंडल में कांग्रेस के कोटे के मंत्रियों में शामिल न किए जाने पर भी नाराजगी जाहिर कर चुके है।