BREAKING NEWS

मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾ Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾आर्यन खान केस में पूर्व निदेशक की जांच में थी गलतियां.. NCB ने कबूली यह बात, जानें वानखेड़े की प्रतिक्रिया ◾ शेख जफर से बना चैतन्य सिंह राजपूत...,MP के मुस्लिम शख्स ने अपनाया सनातन धर्म ◾कांग्रेस में फिर दोहरा रहा इतिहास? पंजाब की तरह राजस्थान में CM गहलोत के खिलाफ बन रहा माहौल... ◾ J&K : TV एक्ट्रेस अमरीन भट्ट के परिजनों से मिलीं महबूबा मुफ्ती, बोलीं- बेगुनाहों का खून बहाना रोज का मामूल बन गया ◾गुजरात बंदरगाह पर मिली ड्रग्स को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- देश को बताएं किसका संरक्षण है ◾Maharashtra: कोरोना ने फिर एक बार सरकार की बढ़ाई चिंता, जानें- CM ठाकरे ने जनता से क्या कहा? ◾

अब उड़ान के दौरान भी कर सकेंगे इंटरनेट का उपयोग, फोन पर बात, BSNL को मिला लाइसेंस

हवाई जहाज में उड़ते वक्त मोबाइल पर इंटरनेट का प्रयोग और बातें करना इसी माह संभव होगा। सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनल को देश में इनमारसैट के ग्लोबल एक्सप्रेस (जीएक्स) मोबाइल ब्रॉडबैंड सेवाओं की पेशकश को लेकर लाइसेंस मिला है। इससे इनमारसैट टर्मिनल का उपयोग कर एयरलाइन के लिये उड़ानों के दौरान तथा समुद्री जहाजों को उच्च गति की संपर्क सुविधा दी जा सकेगी। ब्रिटेन की मोबाइल सैटेलाइट संचार कंपनी इनमारसैट ने बुधवार को यह घोषणा की। 

इनमारसैट इंडिया के प्रबंध निदेशक गौतम शर्मा ने पीटीआई-भाषा से कहा कि स्पाइसजेट लि. और शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया पहले ही नई जीएक्स सेवाओं के लिये समझौते कर चुकी हैं। इससे 50 एमबीपीएस की क्षमता उपलब्ध हो सकेगी। शर्मा के अनुसार, जीएक्स सेवा की शुरुआत के साथ भारतीय घरेलू एयरलाइंस और अंतरराष्ट्रीय विमानन कंपनियां देश के ऊपर से उड़ान के दौरान उच्च गति की संपर्क सुविधा प्रदान कर सकेंगी। साथ ही यात्री इंटरनेट का उपयोग कर सकेंगे, सोशल मीडिया मंचों का उपयोग कर सकेंगे और ई-मेल आसानी से भेज सकेंगे। इतना ही नहीं वे उड़ान के दौरान ऐप के जरिये कॉल भी कर सकेंगे। इनमारसेट द्वारा जारी बयान में स्पाइसजेट ने कहा कि वह इस साल के अंत तक नये बोइंग 737 मैक्स विमान पेश करने के साथ अपने यात्रियों को महत्वपूर्ण संपर्क सुविधा उपलब्ध कराने को उत्सुक है। बयान के अनुसार बीएसएनएल को दूरसंचार विभाग से मिले उड़ान और समुद्री संपर्क लाइसेंस (आईएफएमसी) के तहत जीएक्स सेवाएं सभी भारतीय ग्राहकों के लिये उपलब्ध होंगी। 

यह घोषणा महत्वपूर्ण है। क्योंकि इसका मतलब है कि भारतीय विमानन कंपनियां देश और विदेश में उड़ान के दौरान संपर्क सुविधा के लिये जीएक्स का उपयोग कर सकेंगी। साथ ही इससे भारतीय समुद्र क्षेत्र में काम करने वाली देश की वाणिज्यिक कंपनियां जहाजों के बेहतर संचालन और चालक दल से जुड़ी कल्याण सेवाओं के लिए अपने जहाजों में डिजिटलीकरण को बढ़ाने में सक्षम होंगी। बीएसएनएल (भारत संचार निगम लि.) के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी के पुरवार ने कहा कि इस सेवा के लिये शुल्क का निर्धारण अभी नहीं किया गया है। यह पूछे जाने पर कि ये सेवाएं कब शुरू होंगी, उन्होंने कहा, ‘‘हमारी तरफ से बीएसएनएल नवंबर से इन सेवाओं के साथ पूरी तरह से तैयार होगी।’’ बीएसएनएल को मिले लाइसेंस के तहत जीएक्स सेवाएं सरकार और अन्य उपयोगकर्ताओं को पेश की जाएंगी। ग्राहकों तथा भागीदारों के लिये सेवाओं की पेशकश चरणबद्ध तरीके से होगी। 

स्पाइसजेट लि. के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अजय सिंह के हवाले से बयान में कहा गया है, ‘‘हम इस बात से खुश हैं कि उड़ान के दौरान यात्रियों को संपर्क सेवा देने वाली ग्लोबल एक्सप्रेस की सुविधाएं अब भारत में आ रही हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम अपने यात्रियों को यह सेवा इस साल के अंत तक उपलब्ध कराएंगे... इस सेवा से ग्राहक हवाई यात्रा के दौरान लोगों से जुड़े रहेंगे, जैसे वे अन्य जगहों पर होते हैं।’’ जीएक्स, के बैंड में काम करता है। यह उच्च गति का ब्रॉडबैंड नेटवर्क है। इसे दुनिया में कहीं भी आवाजाही के दौरान बेहतर संपर्क सुविधा प्रदान करने के मकसद से तैयार किया गया है। यह सेवा उच्च बैंडविड्थ, विश्वसनीयता और सुरक्षा प्रदान करती है। यह आवाजाही के दौरान वाणिज्यिक और सरकारी स्तर के ग्राहकों की आवश्यकताओं को पूरा करती है। इनमारसैट के सीईओ (मुख्य कार्यपालक अधिकारी) राजीव सूरी ने कहा, ‘‘आज का दिन इनमारसैट और भारत के साथ हमारी मूल्यवान और दीर्घकालिक भागीदारी के लिए महत्वपूर्ण है। भारत 1979 में इनमारसैट की स्थापना से जुड़ी संधि पर हस्ताक्षर करने वालों में शामिल है।’