BREAKING NEWS

J&K : शूटिंग पर जाने से मना किया तो टीवी कलाकार को मारी गोली, आतंकियों की तलाश में जारी है सर्च ऑपेरशन◾डिंपल यादव नहीं... जयंत चौधरी होंगे राज्यसभा जाने वाले तीसरे उम्मीदवार, SP-RLD के संयुक्त प्रत्याशी ◾महाराष्ट्र : परिवहन मंत्री अनिल परब के घर ED ने मारा छापा, सौमेया बोले- कैबिनेट के तीसरे मंत्री जेल...... ◾World Corona: 52.7 करोड़ नए मामलों की हुई पुष्टि, जानें अब तक कितने लोगों ने गंवाई जान ◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,628 नए केस, 18 मरीजों की हुई मौत ◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,628 नए केस, 18 मरीजों की हुई मौत ◾अभ्यास बाद में करें खिलाड़ी, IAS अफसर को ट्रैक पर टहलाना है कुत्ता, जानिए क्या है मामला ◾योगी सरकार आज पेश करेगी अपने 2.O कार्यकाल का बजट, संकल्प पत्र में किए गए वादों पर रहेगा जोर ◾अफगानिस्तान : दो अलग-अलग विस्फोट में हुई 14 लोगों की मौत, ISIS ने ली हमले की जिम्मेदारी ◾J&K: कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों ने ढेर किए LET के 3 आतंकी, 24 घंटे में 6 का हुआ सफाया ◾Yasin Malik News: टेरर फंडिंग मामले में यासीन मलिक को हुई उम्रकैद की सजा! 10 लाख का लगाया गया जुर्माना◾यासिन मलिक को उम्रकैद की सजा मिलने के बाद घाटी में मचा कोहराम! हिंसा की वजह से बंद हुआ इंटरनेट ◾ओडिशा में दुर्घटना को लेकर मोदी बोले- इस घटना से काफी दुखी हूं, जल्द स्वस्थ होने की करता हूं कामना◾वहीर पारा को जमानत मिलने पर महबूबा मुफ्ती बोलीं- मैं आशा करती हूं वह जल्द ही बाहर आ जाएंगे◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 26 मई को महिला जनप्रतिनिधि सम्मेलन-2022 का उद्घाटन करेंगे◾UP विधानसभा में भिड़े केशव मौर्य और अखिलेश यादव.. जमकर हुई तू-तू मैं-मैं! CM योगी को करना पड़ा हस्तक्षेप◾सपा का हाथ थामने पर जितिन प्रसाद ने कपिल सिब्बल पर किया कटाक्ष, कहा- कैसा है 'प्रसाद'?◾Chinese visa scam: कार्ति चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें! धन शोधन के मामले में ED ने दर्ज किया मामला ◾ज्ञानवापी मामले को लेकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई, दायर हुई नई याचिका पर हुआ बड़ा फैसला! ◾यासीन मलिक की सजा पर कुछ देर में फैसला, NIA ने सजा-ए-मौत का किया अनुरोध◾

NYT की रिपोर्ट में दावा, भारत ने इजरायल से डिफेंस डील में खरीदा था Pegasus

भारत में जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस (Pegasus) लेकर काफी विवाद रहा। सॉफ्टवेयर को लेकर सामने आई एक रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे किए गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार भारत सरकार ने इजराइल के साथ 2017 में हुई मिसाइल डील के साथ इजराइली स्पाइवेयर पेगासस भी खरीदा गया था। ये डील 2 अरब डॉलर की थी।

अमेरिका के दैनिक समाचार पत्र ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने अपनी एक रिपोर्ट में यह दावा किया है। पिछले साल उस समय विवाद खड़ा हो गया था, जब भारत सहित कई देशों में पत्रकारों, मानवाधिकार रक्षकों, नेताओं और अन्य लोगों की जासूसी करने के लिए कुछ सरकारों द्वारा कथित तौर पर एनएसओ समूह के पेगासस सॉफ्टवेयर के उपयोग की बात सामने आई थी। 

बजट सत्र : संसद के दोनों सदनों में 31 जनवरी और 1 फरवरी को नहीं होगा शून्य काल

इसके चलते गोपनीयता संबंधी मुद्दों के लेकर चिंताएं पैदा हो गई थीं। 'द न्यूयॉर्क टाइम्स' ने 'द बैटल फॉर द वर्ल्ड्स मोस्ट पावरफुल साइबरवेपन' शीर्षक वाली एक रिपोर्ट में कहा कि इजराइली कंपनी एनएसओ ग्रुप लगभग एक दशक से इस दावे के साथ ''अपने निगरानी सॉफ्टवेयर को दुनिया भर में कानून-प्रवर्तन और खुफिया एजेंसियों को बेच’’ रहा था कि वह जैसा काम कर सकता है, वैसा कोई और नहीं कर सकता। 

रिपोर्ट में जुलाई 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इजराइल यात्रा का भी उल्लेख किया गया। यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली इजराइल यात्रा थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत-इजराइल के बीच हुए लगभग दो अरब डॉलर के हथियार एवं खुफिया उपकरण सौदे में स्पाइवेयर पेगासस और एक मिसाइल प्रणाली ''केंद्रबिंदु'' थे।