BREAKING NEWS

बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : सिल्ली में जीत का 'चौका' लगा पाएंगे सुदेश महतो?◾झारखंड: विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए 20 सीटों पर मतदान जारी, PM मोदी ने की लोगों से वोट डालने की अपील ◾जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव रेप पीड़िता, सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत◾महिलायें अपने हाथ में लें देश की बागडोर : प्रियंका गांधी वाड्रा◾हैदराबाद मुठभेड़ मामले में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोली चलाई : येदियुरप्पा◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने ताबड़तोड़ बैठकें कर जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की ◾TOP 20 NEWS 6 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

देश

बजाज की टिप्पणियों पर सीतारमण ने कहा- अपनी खुद की सोच के प्रचार से राष्ट्र का नुकसान हो सकता है

 372

 उद्योगपति राहुल बजाज की टिप्पणी पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि अपनी खुद की राय का प्रचार करने से ‘‘राष्ट्रीय हित का नुकसान हो सकता है।’’ बजाज ने पिछले दिनों मुंबई में एक समारोह में गृहमंत्री अमित शाह और कुछ अन्य वारिष्ठ मंत्रियों के सामने नरेन्द्र मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा था कि इस एस समय उद्योग जगत को सरकार के खिलाफ कुछ बोलने में डर लगता है। 

वित्त मंत्री सीतारमण के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया में तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है। शनिवार शाम को इकोनोमिक टाइम्स के ईटी प़ुरस्कार वितरण समाराह में शाह के अलावा रेल, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और सीतारमण भी थीं। 

शाह ने बजाज की बात का जवाब देते हुए कहा था कि किसी को भी किसी चीज से डरने की जरूरत नहीं है। मीडिया में नरेंद्र मोदी सरकार की लगातार आलोचना होती रही है। गृह मंत्री ने यह भी कहा था कि ‘‘यदि आप कहते हैं कि इस तरह का माहौल है तो हमें इसमें सुधार करने के लिए काम करने की जरूरत है।’’ 

बायोकॉन की चेयरपर्सन किरण मजूमदार शा ने बजाज की बात का सोमवार को समर्थन किया। उन्होंने कहा कि सरकार भारतीय उद्योग जगत को ‘अछूत’ समझती है और अर्थव्यवस्था को लेकर किसी तरह की आलोचना को सुनना नहीं चाहती है। रविवार को ट्वीट कर शा ने कहा, ‘‘उम्मीद है कि सरकार भारतीय उद्योग जगत से बात करेगी और उपभोग और वृद्धि को प्रोत्साहन के लिए कोई समाधान निकालेगी।’’ 

इसके तत्काल बाद सीतारमण ने ईटी कार्यक्रम का वीडियो जारी करते हुये कहा, ‘‘किस प्रकार गृह मंत्री अमित शाह ने श्री राहुल बजाज द्वारा उठाए गए मुद्दों का जवाब दिया। सवालों और आलोचना को सुना गया और उनका जवाब-समाधान दिया गया।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘किसी की निजी सोच को फैलाने के बजाय बेहतर यही होगा कि जवाब मांगा जाये। इस तरह का प्रसार तेज होने से राष्ट्र हित को नुकसान पहुंच सकता है।’’ सीतारमण के इस बयान के बाद कांग्रेस ने सरकार की आलोचना की है। कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा, ‘‘राहुल बजाज ने सिर्फ यह कहा था कि उद्योग जगत सरकार की आलोचना करने से डरता है।’’ सिब्बल ने ट्वीट कर सवाल किया, ‘‘क्या आपकी तारीफ करना ही राष्ट्रीय हित है।’’ 

उनकी पार्टी के प्रवक्ता सलमान अनीस सोज ने कहा कि केवल असुरक्षित, अक्षम और असहिष्णु सरकार ही किसी आलोचना को राष्ट्रीय हित से जोड़ने तक नीचे गिर सकती है।’ रेलवे एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने बजाज की टिप्पणी के बाद शाह के जवाब का हवाला देते हुए कहा कि कोई डर नहीं है। 

गोयल ने ट्वीट किया, ‘‘बजाज के इस दावे कि लोग अपनी बात कहने से डरते हैं, पर गृह मंत्री अमित शाह की प्रतिक्रिया देखें।‘‘ ‘‘आपका सवाल सुनने के बाद मुझे संदेह है कि कोई आपके इस दावे को मानेगा कि लोग डरते हैं।’’