BREAKING NEWS

कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾प्रियंका की गैरकानूनी गिरफ्तारी भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का संकेत: राहुल गांधी ◾सरकार बचाने के लिए सत्ता का नहीं करूंगा दुरुपयोग : कुमारस्वामी◾कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष बोले- विश्वास मत पर मतदान में देरी नहीं कर रहा हूं◾सोनभद्र मामले में 3 सदस्यीय समिति का गठन, 10 दिनों के अंदर सौंपेगी रिपोर्ट : योगी ◾कुमारस्वामी शुक्रवार को देंगे अपना विदाई भाषण : येदियुरप्पा◾कर्नाटक : विश्वास मत पर रोक के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कुमारस्वामी◾बिहार : छपरा में मवेशी चोरी के आरोप में भीड़ ने की युवकों की पिटाई, 3 की मौत◾मोहम्मद मंसूर खान से पूछताछ कर रही है ईडी : SIT◾आयकर विभाग के एक्शन से भड़कीं मायावती, कहा- अपने गिरेबान में झांके भाजपा ◾कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करेगा पाकिस्तान◾IMA पोंजी घोटाला: संस्थापक मंसूर खान दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार◾कर्नाटक विधानसभा में नहीं हो सका विश्वास मत पर फैसला, सदन के अंदर BJP का धरना ◾सपा सांसद आजम भूमाफिया हुए घोषित, किसानों की जमीन पर कब्जा करने का है आरोप◾विपक्षी दलों को निशाना बना रही है भाजपा : BSP◾कर्नाटक : राज्यपाल ने सरकार को दिया शुक्रवार 1.30 बजे तक बहुमत साबित करने का समय◾

देश

TDP के सांसदों के BJP में शामिल होने पर नायडू ने कहा - पार्टी के लिए संकट नई बात नहीं

अमरावती (आंध्र प्रदेश) :  तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के चार राज्यसभा सदस्यों के भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस तरह का संकट उनकी पार्टी के लिए नई बात नहीं है। उधर, भाजपा की राज्य इकाई ने दावा किया कि कुछ और नेता उनकी पार्टी में शामिल होंगे। 

पार्टी सूत्रों ने कहा कि यूरोप में छुट्टियां मना रहे नायडू ने स्थिति का जायजा लेने के लिये यहां पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं से फोन पर बात की। 

उन्होंने कहा कि नायडू ने बागी नेताओं के बारे में पूछा और नेताओं से कहा कि इस तरह के संकट तेदेपा के लिए नई बात नहीं है। 

सूत्रों ने उनके हवाले से कहा कि तेदेपा राज्य के हितों की सुरक्षा के लिए भाजपा से लड़ रही है। चार राज्यसभा सदस्यों ने भाजपा का दामन ऐसे समय थामा है जब करीब एक महीने पहले विधानसभा चुनावों में जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआर कांग्रेस ने तेदेपा को पटखनी दी। 

इसके बाद से अटकलें थीं कि पार्टी विभाजन की तरफ बढ़ रही है जिसका एक प्रमुख कारण यह है कि पार्टी के नेता नायडू के बेटे लोकेश को अब नेता मानने को तैयार नहीं हैं। लोकेश खुद भी पहला चुनाव हार गये थे जिसके बाद उनकी पार्टी के भीतर कड़ी आलोचना हुई है। 

तेदेपा को झटका देते हुए, उसके छह में से चार राज्यसभा सदस्यों ने ऊपरी सदन के सभापति एम वेंकैया नायडू को आवेदन देकर उनका भाजपा में विलय करने का अनुरोध किया। बाद में ये सदस्य नयी दिल्ली में भाजपा में शामिल हुए। 

इस बीच, भाजपा की प्रदेश इकाई ने कहा कि नायडू के विदेश में छुट्टियां मनाकर लौटने तक तेदेपा ‘‘पूरी तरह से खाली’’ हो सकती है। 

प्रदेश उपाध्यक्ष एस विष्णुवर्धन रेड्डी ने दावा किया, ‘‘नायडू के लौटने तक आंध्र प्रदेश का राजनीतिक चेहरा बदल जाएगा। पूर्व मंत्रियों और विधायकों सहित कई तेदेपा नेता भाजपा में शामिल होने की तैयारी में हैं।’’