BREAKING NEWS

दस साल तक प्रदर्शन के लिए तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों को लागू नहीं होने देंगे : राकेश टिकैत◾संयुक्त किसान मोर्चा की सोमवार को भारत बंद के दौरान शांति की अपील, कई राजनीतिक दलों ने दिया समर्थन◾मंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा ने विधानसभा चुनाव को लक्ष्य कर जातीय और क्षेत्रीय समीकरण साधा◾दिग्विजय सिंह ने RSS संचालित सरस्वती शिशु मंदिर के खिलाफ दिया विवादित बयान◾PM मोदी ने नए संसद भवन के निर्माण स्थल का किया दौरा ◾RCB vs MI : पटेल की हैट्रिक और मैक्सवेल के शानदार प्रदर्शन से आरसीबी ने मुंबई इंडियंस को 54 से हराया◾अर्थव्यवस्था की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत को ‘एसबीआई जैसे’ 4-5 बैंकों की जरूरत : सीतारमण◾आरएसएस से जुड़ी साप्ताहिक पत्रिका 'पांचजन्य' ने अमेजन को 'ईस्ट इंडिया कंपनी 2.0' बताया◾‘भारत बंद’ से पहले दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में पुलिस ने गश्त बढ़ायी, अतिरिक्त कर्मियों की तैनाती की◾गन्ना खरीद मूल्य 350 रुपये किए जाने पर प्रियंका का CM योगी पर तंज, कहा- किसानों के साथ किया धोखा◾पारंपरिक पोशाक पहनने वालों को प्रवेश नहीं देने वाले रेस्तरां के खिलाफ हो कार्रवाई : कांग्रेस◾बिहार : CM नीतीश कुमार बोले- राष्ट्र हित में है जातिगत जनगणना◾UP: योगी कैबिनेट में शामिल हुए 7 नए मंत्री, इन विधायकों ने ली शपथ◾पंजाब : चन्नी कैबिनेट में शामिल हुए 15 नए चेहरे, जाने किसको मिली जगह तो किसका कटा पत्ता ◾योगी सरकार का किसानो के लिए बड़ा फैसला, गन्ने का समर्थन मूल्य 325 रूपए से बढ़ाकर 350 किया ◾MP में एक व्यक्ति की अजीबोगरीब मांग, कहा- प्रधानमंत्री की मौजूदगी में ही लगवाउंगा वैक्सीन ◾स्वास्थ्य मंत्री ने AIIMS के डॉक्टरों का बड़े पैमाने पर तबादले वाली खबरों का बताया गलत, कही ये बात ◾पंजाब : मंत्रिमंडल विस्तार से पहले कांग्रेस नेताओं ने नवजोत सिंह सिद्धू को लिखा पत्र, जानिए क्या है मामला ◾भारत ने रिकॉर्ड लक्ष्य का पीछा करते हुए आस्ट्रेलिया को 2 विकेट से दी मात, कंगारू टीम के 26 मैचों के अजेय अभियान को रोका◾बिना थके डटे रहे PM मोदी, अमेरिका के 65 घंटे के दौरे पर की 20 बैठकें◾

सावन की पहली सोमवारी पर भक्ति में सराबोर रहे शिवभक्त, घर-घर गूंजा हर-हर महादेव

सावन की पहली सोमवारी को लेकर शिवभक्त भक्ति में सराबोर रहे हैं और उनमें उत्साह और ऊर्जा का संचार नजर आ रहा है। रविवार से शिव के अति प्रिय मास श्रावण मास आरंभ हो गया है। श्रद्धालु भक्ति में सराबोर हैं। कोरोना महामारी के कारण मंदिर तथा धार्मिक स्थलों को जहां बंद रखा गया है।

घरों में ही हर-हर महादेव, बोलबम के जयकारे गूंजने लगे है

वहीं घरों में ही भोलेनाथ की भक्ति, पूजा-आराधना के साथ ॐ नमः शिवाय, हर-हर महादेव, बोलबम के जयकारे गूंजने लगे है। कल सावन के प्रथम दिन शिव भक्तों ने सीमित संसाधनों में ही भगवान भोलेनाथ को गंगाजल, दूध, दही आदि से स्नान कराकर पुष्प और बेलपत्र अर्पण किया।

सावन महीने में सोमवार के दिन को लेकर हिंदू धर्म में मान्यता

सावन महीने में सोमवार के दिन को लेकर हिंदू धर्म में मान्यता है कि इस दिन पूजा पाठ एवं व्रत करने से भगवान शिव अपने भक्त पर प्रसन्न होते हैं। सोमवारी व्रत करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में प्राप्त करने के लिए सोमवारी व्रत किया था। सोमवार के व्रत का शिव की आराधना और आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए विशेष महत्व है।

श्रावणी मेला और सावन के दौरान मंदिरों में जाकर पूजा-पाठ करने की अनुमति नहीं

श्रावण माह की पहली सोमवारी को लेकर शिवभक्तों के बीच मंदिर जाकर महादेव के पूजन को लेकर काफी उत्साह रहता है, लेकिन सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसबार भी इसकी अनुमति नहीं दी है। दूसरी लहर के लगभग शांत होने के बाद अब संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बिहार सरकार कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहती है। इस बार भी प्रदेश में श्रावणी मेला और सावन के दौरान मंदिरों में जाकर पूजा-पाठ करने की अनुमति नहीं दी गयी है।

विभिन्न प्रसिद्ध मंदिरों में पूजा अर्चना पर रोक है तथा बेरिकेडिंग भी किया गया है

सावन महोत्सव से जुड़े किसी भी कार्यक्रम पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगा दिया गया है। श्रद्धालुओं से यह अपील की है कि वो अपने घरों में रहकर ही पूजा-पाठ करें। मंदिर में आम लोगों को प्रवेश नहीं करने दिया जायेगा। मंदिर के पुजारियों को अंदर आने की इजाजत होगी जो दैनिक पूजन करेंगे। जिला प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। विभिन्न प्रसिद्ध मंदिरों में पूजा अर्चना पर रोक है तथा बेरिकेडिंग भी किया गया है। पुलिस बल एवं मजिस्ट्रेट की तैनाती भी की गई है।

राज्यसभा में विपक्ष के जोरदार हंगामे पर बोले सभापति - हम दिन पर दिन असहाय होते जा रहे हैं