BREAKING NEWS

हाफिज सईद की गिरफ्तारी का डोनाल्ड ट्रंप ने किया स्वागत, ट्वीट कर कही ये बात ◾पीएम मोदी सहित कई दिग्गज नेताओं ने कुलभूषण जाधव पर ICJ के फैसले का किया स्वागत◾कुलभूषण जाधव ICJ के फैसले पर सुषमा ने मोदी को कहा शुक्रिया◾ICJ में भारत की बड़ी जीत : 15-1 से कुलभूषण यादव के पक्ष में गया फैसला , फांसी पर रोक ◾ICJ : जाधव मामले में पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन किया, अब लगा तगड़ा झटका◾प्रधानमंत्री मोदी ने 47 से 56 वर्ष आयु वर्ग के भाजपा सांसदों से की मुलाकात ◾उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद, प्रशासन सो रहा है : प्रियंका गांधी◾रामनाथ कोविंद ने नौ क्षेत्रीय भाषाओं में फैसले उपलब्ध कराने के प्रयासों की प्रशंसा की ◾बंगाल ने पोषण अभियान अपनाने से इंकार कर दिया : स्मृति ईरानी◾UP : सोनभद्र में जमीनी विवाद को लेकर हुई हिंसक झड़प में 9 की मौत, CM योगी ने जांच के दिए निर्देश ◾उत्तराखंड से बीजेपी विधायक प्रणव सिंह चैम्पियन 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित ◾व्हिप को निष्प्रभावी करने वाले SC के फैसले ने खराब न्यायिक मिसाल पेश की : कांग्रेस◾इंच-इंच जमीन से अवैध प्रवासियों को करेंगे बाहर : अमित शाह◾चीन-भारत सीमा पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों द्वारा बरता जा रहा है संयम : राजनाथ◾पीछे हटने का सवाल नहीं, विधानसभा की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्सा : कर्नाटक के बागी विधायक◾मुंबई आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद लाहौर से गिरफ्तार◾सुप्रीम कोर्ट का फैसला असंतुष्ट विधायकों के लिए नैतिक जीत : येदियुरप्पा◾कर्नाटक संकट : विधानसभा अध्यक्ष बोले- संवैधानिक सिद्धांतों का करुंगा पालन◾कर्नाटक संकट : SC ने कहा-बागी विधायकों के इस्तीफों पर स्पीकर ही करेंगे फैसला◾जम्मू एवं कश्मीर : सोपोर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़◾

देश

ISRO के इतिहास के सर्वाधिक जटिल मिशन में एक है चंद्रयान-2 : कस्तूरीरंगन

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व अध्यक्ष के. कस्तूरीरंगन ने चंद्रमा पर भारत का दूसरा अभियान चंद्रयान-2 को इसरो के इतिहास में सबसे जटिल मिशन में एक करार दिया है। 

डॉ, कस्तूरीरंगन ने एक वीडियो संदेश में कहा, ‘‘मुझे इस बात की प्रसन्नता है कि इसरो अपनी शुरुआत से अब तक के सबसे जटिल मिशन में से एक चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग कर रहा है। इसमें चंद्रमा की कक्षा में ऑर्बिटर भेजने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य है जो चंद्रमा का चक्कर लगायेगा। इसके बाद इसमें एक हिस्से यानी लैंडर को अलग कर चंद्रमा की सतह पर उतारा जायेगा। अंतत: लैंडर से एक रोवर निकलकर लैंडिंग वाली जगह के आसपास घूमकर स्वयं चंद्रमा की भूगर्भशास्त्रीय तथा चंद अन्य विशेषताओं की जानकारी जुटायेगा।’’ 

इसरो के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर शनिवार जारी इस संदेश में डॉ. कस्तूरीरंगन ने कहा कि अभी तत्काल लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि मिशन पूरी तरह सफल रहे और इसकी लॉन्चिंग तथा ऑपरेशन सफल रहें। उन्होंने इसरो को इसके लिए शुभकामनायें दी हैं। 

चंद्रयान-2 की लॉनि्चंग 15 जुलाई को तड़के 2.51 बजे होनी है। प्रक्षेपण का रिहर्सल शुक्रवार को पूरा हो चुका है। इसकी उल्टी गिनती रविवार शाम 6:51 बजे शुरू होगी। आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से जीएसएलवी-एमके-3 प्रक्षेपणयान के जरिये इसे प्रक्षेपित किया जायेगा। 

इस मिशन का उद्देश्य चंद्रमा की बनावट, वहाँ की जमीन, उसमें मौजूद खनिजों तथा रसायनों का अध्ययन करना है। मिशन के तहत यह भी पता लगाने की कोशिश की जायेगी कि चंद्रमा पर पानी किस मात्रा में मौजूद है। चंद्रयान-1 ने पृथ्वी के इस उपग्रह पर पानी की खोज की थी। 

इसरो ने आज एक ट्वीट में कहा, ‘‘पृथ्वी और चंद्रमा के बीच हममें से अधिकतर लोग जितना सोचते हैं उससे कहीं ज्यादा समानतायें हैं। इन समानताओं के अध्ययन से हम धरती को बेहतर समझ सकेंगे। हम चंद्रयान-2 के जरिये यह करने की उम्मीद रखते हैं।’’