BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा में मारे गए अंकित शर्मा के परिवार ने AAP पार्षद ताहिर हुसैन पर लगाए गंभीर आरोप◾दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या 27 पर पहुंची, हालात अभी भी तनावपूर्ण ◾कांग्रेस ने प्रधानमन्त्री मोदी पर कसा तंज, कहा- अगर शाह पर भरोसा नहीं तो बर्खास्त क्यों नहीं करते◾दिल्ली हिंसा में शामिल 106 लोग गिरफ्तार सहित 18 एफआईआर दर्ज, दिल्ली पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर◾मुख्यमंत्री केजरीवाल ने किया हिंसाग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली का दौरा ◾अपने दौरे के बाद एनएसए डोभाल ने गृह मंत्री अमित शाह को उत्तर पूर्वी दिल्ली में मौजूदा हालात की जानकारी दी◾एनएसए डोभाल ने किया दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, बोले- उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात नियंत्रण में ◾TOP 20 NEWS 26 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल के परिवार को 1 करोड़ और एक सदस्य नौकरी देंगे - अरविंद केजरीवाल ◾दिल्ली HC ने पुलिस को भड़काऊ बयान देने वाले BJP नेताओं पर FIR करने की दी सलाह◾दिल्ली हिंसा : IB अफसर अंकित शर्मा का मिला शव, हिंसा ग्रस्त इलाको में जारी है तनाव ◾हिंसा पर दिल्ली हाई कोर्ट सख्त, कहा-देश में एक और 1984 नहीं होने देंगे◾दिल्ली हिंसा पर PM मोदी की लोगों से अपील, ट्वीट कर लिखा-जल्द से जल्द बहाल हो सामान्य स्थिति◾दिल्ली हिंसा : हाई कोर्ट ने कपिल मिश्रा का वीडियो क्लिप देख कर पुलिस को लगाई कड़ी फटकार ◾सीएए हिंसा पर प्रियंका गांधी ने लोगों से की अपील, बोली- हिंसा न करें, सावधानी बरतें ◾सोनिया गांधी ने दिल्ली हिंसा को बताया सुनियोजित, गृहमंत्री से की इस्तीफे की मांग◾दिल्ली हिंसा : हेड कांस्टेबल रतनलाल को दिया गया शहीद का दर्जा, पत्नी को नौकरी के साथ मिलेंगे 1 करोड़ ◾सुप्रीम कोर्ट ने सीएए हिंसा को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, याचिकाओं पर सुनवाई से किया इनकार ◾दिल्ली में हुई हिंसा के बाद यूपी में हाई अलर्ट, संवेदनशील जिलों में पुलिस बलों के साथ पीएसी तैनात ◾राजस्थान के बूंदी में नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, मृतकों में 3 बच्चे शामिल◾

मोदी सरकार पर भड़के ओवैसी, बोले- यदि तसलीमा भारत में शरण ले सकती है तो रोहिंग्या मुसलमान क्यो नहीं

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असादुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यदि तिब्बत, बांग्लादेश और श्रीलंका के शरणार्थी भारत में रह सकते है तो म्यांमार के रोहिंग्या मुस्लिम क्यों नहीं रह सकते। उन्होंने बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन का भी हवाला दिया। तसलीमा अपने देश में इस्लामी कट्टरपंथियों से धमकी मिलने के बाद अब एक दशक से अधिक समय तक भारत में शरण लिये हुए है।

म्यांमार के हिंसाग्रस्त रखाइने प्रांत से भागे रोहिंग्या पर रूख को लेकर राजग सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा अपना सब कुछ खो चुके उन लोगों को क्या वापस भेजना मानवता है। यह गलत है। उन्होंने कल देर रात यहां लोगों को संबोधित करते हुए पूछा, यदि बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन भारत में शरण ले सकती है तो रोहिंग्या मुसलमान क्यो नहीं।

\"\"

हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ओवैसी ने कहा जब तसलीमा नसरीन आपकी बहन हो सकती हैं तो रोहिंग्या भी आपके भाई हो सकते है, मिस्टर मोदी। उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार को रोहिंग्या को शरणार्थी के रूप में देखना चाहिए न कि मुसलमान के रूप में। ओवैसी ने कहा भारत ने तिब्बत, श्रीलंका और बंगलादेश के चकमा शरणार्थियों को शरण दी।

उन्होंने कहा जब यह बताया गया कि वे (श्रीलंकाई शरणार्थी) आतंक में हिस्सा ले रहे है , क्या किया गया था? उन्हें एक शिविर से दूसरे शिविर में स्थानांतरित कर दिया गया। उन्होंने कहा कि भारत का संविधान सभी को समानता का अधिकार देता है और यह शरणार्थियों पर भी लागू होता है। ओवैसी ने कहा भाजपा सरकार कहती है कि हम रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस भेजेंगे। हम भारतीय प्रधानमंत्री से यह पूछना चाहते है कि किस कानून के तहत आप उन्हें वापस भेजेंगे।