BREAKING NEWS

फागू चौहान और नीतीश ने बसंत पंचमी की दी शुभकामनाएं◾कुछ लोग बिना अनुमति के कर रहे हैं प्रदर्शन : प्रकाश जावड़ेकर◾दिल्ली चुनाव प्रचार से कांग्रेस के बड़े चेहरे गायब, भाजपा और आप ने झोंकी ताकत ◾बीटिंग रिट्रीट: सशस्त्र बलों के बैंडों की 26 प्रस्तुतियों के साथ गणतंत्र दिवस समारोह संपन्न ◾राजनीतिक धुंधलके में पैदा हुआ 'जिन्न' : प्रशांत किशोर◾दिल्ली में चुनाव प्रचार के लिए साझा रैली करेंगे शाह और नीतीश, 2 फरवरी को बुराड़ी में जनसभा◾केजरीवाल बताएं, झूठ का पर्दाफाश करने पर दिल्ली का अपमान कैसे : शाह◾राहुल गांधी वायनाड में “संविधान बचाओ मार्च’ की करेंगे अगुवाई◾दिल्ली पुलिस ने जारी किए जामिया में हिंसा करने वाले 70 व्यक्तियों के चित्र ◾पृथ्वीराज चव्हाण ने लगाया PM मोदी पर आरोप, बोले- एनसीसी कैडेटों को संबोधित करते हुए किया आचार संहिता का उल्लंघन ◾प्रशांत किशोर के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने को लेकर अटकलें जोरों पर ◾राजद्रोह के आरोप में शरजील इमाम को 5 दिन की पुलिस रिमांड, वकीलों ने देशद्रोही बताते हुए लगाए नारे ◾TOP 20 NEWS 29 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾CAA को लेकर कन्हैया कुमार ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार देश में भड़की आग में घी डालने का काम कर रही◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : EC ने अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा को भाजपा की स्टार प्रचारक की सूची से बाहर किया ◾दिल्ली चुनाव : CM केजरीवाल बोले- भाजपा का मुझे ‘‘आतंकवादी’’ कहना बेहद दुखद◾कांग्रेस नेता चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात◾दिल्ली चुनाव : जे पी नड्डा बोले- दिल्ली में पोस्टरबाजी वाली सरकार नहीं, डबल इंजन की भाजपा सरकार चाहिए◾बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल भाजपा में हुई शामिल, दिल्ली विधानसभा चुनाव में करेंगी प्रचार ◾राहुल ने प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री पर साधा निशाना, कहा- अर्थव्यवस्था को लेकर हैं अनभिज्ञ ◾

पी-नोट्स निवेश अक्तूबर महीने में बढ़कर हुआ 1.31 लाख करोड़

भारतीय प्रतिभूति बाजार में पार्टिसिपेटरी नोट यानी पी-नोट्स के माध्यम से होने वाला निवेश अक्तूबर अंत में बढ़कर 1.31 लाख करोड़ पर पहुंच गया है। पिछले महीने पी-नोट्स के जरिए निवेश आठ साल के निचले स्तर पर पहुंच गया था।

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के आंकड़े के मुताबिक भारतीय बाजारों (आईटी , ऋण पत्र और डेरिवेटिव्स बाजार) में पी-नोट्स निवेश का कुल मूल्य अक्तूबर अंत में बढ़कर 1,31,006 करोड़ रुपये पहुंच गया, जो कि सिंतबर महीने के अंत में 1,22,684 करोड़ रुपये था।

अक्तूबर में हुए कुल निवेश में, आईटी में पी-नोट्स की हिस्सेदारी 90,161 करोड़ रुपये और बाकी हिस्सेदारी ऋण पत्र और डेरिवेटिव्स बाजार की है। इसके अतिरिक्त, पी-नोट्स के जरिए एफपीआई निवेश 4.1 प्रतिशत पर अपरिवर्तित बनी हुई है। सभी की ओर से कड़े नियमों को लागू किए जाने के बाद से पी-नोट्स निवेश में जून से गिरावट देखी जा रही थी।

और सितंबर महीने में यह आठ साल के निचले स्तर पर आ गया था। उल्लेखनीय है कि पी-नोट्स, भारत में पंजीकृत विदेशी पोर्टफोलिया निवेशकों द्वारा उनके वैश्विक निवेशकों के लिए जारी किया जाता है जो खुद भारत में पंजीकृत हुए बिना ही भारतीय प्रतिभूति बाजार में निवेश करना चाहते हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।