BREAKING NEWS

कोर्ट ने उपमुख्यमंत्री सिसोदिया को क्लीनचिट देने वाली एटीआर की खारिज, नयी रिपोर्ट दाखिल करने के दिए निर्देश ◾राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में आयोजित भोज में शामिल नहीं होंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने बांग्लादेश को 18 रन से हराया, लगातार दूसरी जीत दर्ज की ◾TOP 20 NEWS 24 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾

पाक के आतंकवादी समूहों की शरणस्थली बनने को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता : हेली 

नयी दिल्ली  : अमेरिका ने आज कड़े शब्दों में पाकिस्तान से कहा कि वह उसकी सरकार के आतंकवादियों को पनाह मुहैया कराने को बर्दाश्त नहीं कर सकता। उसने यह भी कहा कि वॉशिंगटन और नयी दिल्ली को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अवश्य वैश्विक अगुवा बनना चाहिये।भारत-अमेरिका संबंधों को आगे बढ़ाने पर यहां अपने भाषण में संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि दोनों में से कोई भी देश आतंकवादियों को शरण देने और उनका समर्थन करने वाली व्यवस्था के प्रति आंखें नहीं मूंद सकता। उन्होंने कहा कि अमेरिका का पाकिस्तान के साथ संबंधों के प्रति रवैया पहले से अलग है। उन्होंने कहा कि यद्यपि पाकिस्तान कई मामलों में अमेरिका का भागीदार है, लेकिन आतंकवादियों को पाकिस्तानी सरकार या किसी अन्य सरकार के पनाह देने को वह बर्दाश्त नहीं कर सकता। ऑब्जर्वर रिसर्च फाउन्डेशन (ओआरएफ) द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए 46 वर्षीय भारतीय-अमेरिकी नागरिक हेली ने कहा, ‘‘हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम पाकिस्तान को पहले की तुलना में अधिक सख्ती से यह संदेश दे रहे हैं और हमें बदलाव की उम्मीद है।’’

अमेरिका और भारत दोनों के आतंकवाद के दर्द का अनुभव करने की बात पर गौर करते हुए उन्होंने कहा कि दोनों देश आतंकवादियों और उन्हें प्रेरित करने वाली घृणा की विचारधारा को परास्त करने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हेली ने कहा, ‘‘हमें खतरा पहुंचाने वाले आतंकवादी नेटवर्क का सफाया करने और आतंकवादियों और उसके प्रायोजकों से परमाणु हथियारों को दूर रखने में हमारी दिलचस्पी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दोनों देशों ने एक दशक पहले खौफनाक मुंबई हमले में अपने नागरिकों को गंवाया। लोकतंत्र के तौर पर अमेरिका और भारत को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अवश्य वैश्विक अगुवा बनना चाहिये।’’ ट्रंप प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अमेरिका और भारत ने पिछले दशक में आतंकवाद से मुकाबले में अपने सहयोग को बढ़ाया है। उन्होंने कहा, ‘‘हम कर सकते हैं तथा हमें अवश्य और प्रयास करना चाहिये। हमें अपनी रक्षा के लिये अपनी राष्ट्रीय शक्ति-आर्थिक, राजनयिक और सैन्य शक्ति के सभी तत्वों का अवश्य इस्तेमाल करना चाहिये।’’

हेली ने कहा कि इसमें आतंकवादी नेताओं और नेटवर्कों को प्रतिबंधित सूची में डालने के लिये संयुक्त राष्ट्र में साथ मिलकर काम करना शामिल है। दो दिवसीय यात्रा पर भारत आईं हेली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कल मुलाकात की और आतंकवाद निरोध समेत विभिन्न क्षेत्रों में भारत-अमेरिका सहयोग को बढ़ाने के उपायों पर चर्चा की। उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात की और रणनीतिक भागीदारी को प्रगाढ़ बनाने के उपायों पर चर्चा की। हेली ने 2014 के उत्तरार्द्ध में भारत की यात्रा की थी। उस वक्त वह साउथ कैरोलिना प्रांत की गवर्नर थीं। वह किसी अमेरिकी प्रशासन में कैबिनेट स्तर के पद पर काम करने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी हैं।

अधिक जानकारियों के लिए यहां क्लिक करें।