BREAKING NEWS

कोरोना वायरस के 6.87 लाख मामलों के साथ रूस को पीछे छोड़ भारत तीसरे स्थान पर पहुंचा ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,555 नए केस◾खालिस्तानी समर्थक संगठन SFJ पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, 40 वेबसाइट्स पर लगाया प्रतिबंध◾घाटे के चलते आने वाले दिनों में टेलीकॉम कंपनियां बढ़ा सकती है फ़ोन कॉल और इंटरनेट के रेट ◾तमिलनाडु में कोरोना वायरस के 4,150 नये मामले आये सामने , मृतकों की संख्या 1,510 पहुंची ◾राजधानी दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में 2,244 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 99 हजार के पार◾गुजरात के कच्छ जिले में 4.2 तीव्रता का भूकंप आया, वहीं 4.6 तीव्रता के झटकों से फिर थर्राया मिजोरम ◾गाजियाबाद की अवैध पटाखा फैक्ट्री में धमाके से 7 की मौत, कई लोग घायल◾कानपुर एनकाउंटर : शक के दायरे में चौबेपुर थाना, IG बोले-सबूत मिले तो पुलिसवालों पर दर्ज होगा हत्या का केस◾TMC नेता कल्याण बनर्जी का विवादित बयान, वित्तमंत्री सीतारमण को बताया 'काली नागिन'◾राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा-सूर्य, चंद्रमा और सत्य ज्यादा देर छिप नहीं सकते◾रक्षा मंत्री राजनाथ के साथ अमित शाह ने सरदार पटेल कोविड-19 केयर सेंटर का किया दौरा ◾कानपुर घटनाक्रम के लिए ओवैसी ने CM योगी की 'ठोक देंगे' पॉलिसी को बताया जिम्मेदार◾देश में 24 घंटों के दौरान 25 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि,मरीजों की संख्या 6 लाख 73 हजार के पार ◾कानपुर : 8 पुलिसकर्मियों को जान से मारने वाले आरोपी विकास दुबे का साथी दयाशंकर गिरफ्तार◾कोरोना रिकवरी रेट बढ़ने पर बोले CM केजरीवाल- 2 करोड़ लोगों की मेहनत रंग ला रही◾J&K : पुलवामा में आतंकियों ने CRPF के काफिले को IED ब्लास्ट के जरिये बनाया निशाना,एक जवान घायल◾Coronavirus : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 11 लाख के पार ◾दिल्ली में रातभर चली तेज हवाओं और बारिश ने दिलाई गर्मी से राहत, मौसम हुआ सुहाना ◾ पूर्वी लद्दाख गतिरोध : चीन से लगी सीमा पर प्रमुख केंद्रों पर तैनाती बढ़ा रही है वायु सेना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजद के हंगामे के कारण विधानसभा स्थगित

पटना : बिहार विधानसभा में आज राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के सदस्यों ने औरंगाबाद में हिंसा के मुद्दे पर जमकर हंगामा किया जिसके कारण सभा की कार्यवाही आठ मिनट बाद ही दो बजे दिन तक के लिए स्थगित कर दी गयी। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि वह औरंगाबाद के मामले पर सदन में कुछ कहना चाहते हैं।

कल सदन में जब उन्होंने औरंगाबाद में हिंसा के संबंध में सूचना दी थी तब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें बाबू कहकर सम्बोधित किया, इस बात पर उन्हें खुशी और नाराजगी दोनों ही है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी इस बात की है कि मुख्यमंत्री ने उन्हें बाबू कहकर संबोधित किया लेकिन नाराजगी इस बात से है कि उन्होंने मेरी सूचना को ग्रहण नहीं किया और कर्फ्यू की बात को गलत बताया। इतना ही नहीं उन्होंने उनपर अफवाह फैलाने का आरोप लगा दिया।

श्री यादव ने कहा कि औरंगाबाद के विषय पर सदन में चर्चा के लिए कुछ सदस्यों की ओर से कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया गया है जिसे तुरंत मंजूर किया जाना चाहिए। इसपर सभाध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा कि इस विषय को उठाने का अभी समय नहीं है। प्रश्नोत्तरकाल होने दिया जाये और 12 बजे वह इस विषय को उठायें।

सभाध्यक्ष के आग्रह को राजद के सदस्य नहीं माने और शोरगुल करने लगे। इस पर संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि सदन नियम कानून से चलता है। कार्य संचालन नियमावली के तहत विषयों को उठाने के लिए नियम बने हुए है और उसी के तहत विषयों को लाया जाना चाहिए। यदि नियमानुसार विषयों को सदन में नहीं लाया जाता है तो उससे विषय की गंभीरता समाप्त होती है और सरकार भी उसका जवाब देने के लिए बाध्य नहीं होती है।

उन्होंने कहा कि लगता है कि विपक्ष का संसदीय लोकतंत्र और संसदीय परम्परा में विश्वास नहीं है। उनका मकसद सिर्फ हंगामा खड़ा करना और राजनीतिक लाभ उठाना है। राजद के सदस्य शोरगुल और नारेबाजी करते रहे। हंगामे के बीच लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि कल सदन में गृह विभाग की बजट मांग पर चर्चा हुई थी उस समय नेता प्रतिपक्ष ने अपनी बात क्यों नहीं रखी। शोरगुल के बीच ही सभाध्यक्ष ने प्रश्नकाल शुरू कराया।

राजद के सदस्य सदन के बीच में आकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। राजद के कुछ सदस्य हाथों में संविधान की किताब लिये हुए थे और आसन को दिखाकर कुछ कहने की कोशिश कर रहे थे। इस पर सभाध्यक्ष श्री चौधरी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा,‘बताइये, यहां संविधान के किस अनुच्छेद का उल्लंघन हो रहा है।

सिर्फ संविधान की किताब दिखा रहे हैं लेकिन संविधान से कोई मतलब नहीं है।’उन्होंने कहा कि यदि आप सदन को नहीं चलने देना चाहते हैं तो वह सदन की कार्यवाही दो बजे दिन तक के लिए स्थगित करते हैं। राजद सदस्यों के हंगामे के कारण सदन में भोजनावकाश से पूर्व निर्धारित कार्य प्रश्नकाल, शून्यकाल और ध्यानाकर्षण नहीं हो सका।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।