BREAKING NEWS

आगामी दिल्ली विधानसभा चुनावों को एक और 'स्वतंत्रता संग्राम' मानें : केजरीवाल ◾अयोध्या मामला : मध्यस्थता समिति ने न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी ◾राहुल गांधी ने कहा- भूख सूचकांक में भारत का लुढ़कना मोदी सरकार की घोर विफलता◾श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जानी जाएगी जम्मू-कश्मीर की चेनानी-नासरी सुरंग : नितिन गडकरी ◾वोट की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल : वेंकैया नायडू ◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- 5 साल में घुसपैठियों को देश से बाहर करेंगे◾देवेन्द्र और नरेन्द्र महाराष्ट्र में विकास के दोहरा इंजन हैं : PM मोदी◾TOP 20 NEWS 16 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई पूरी, SC ने फैसला रखा सुरक्षित ◾PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति आती है नजर ◾अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका का केंद्र पर तंज, कहा-विश्व बैंक के बाद IMF ने भी दिखाया सरकार को आईना◾साक्षी महाराज बोले- 6 दिसंबर से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण◾महाराष्ट्र रैली में PM मोदी ने कहा-राष्ट्र निर्माण का आधार हैं सावरकर के संस्कार◾कपिल सिब्बल का PM पर तंज, बोले- मोदी जी, राजनीति पर कम और बच्चों पर ज्यादा ध्यान दीजिए◾आईएनएक्स मीडिया मामला: तिहाड़ जेल में पूछताछ के बाद ED ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार◾अयोध्या विवाद : CJI गोगोई ने मामले की सुनवाई को आज शाम 5 बजे पूरी करने का दिया निर्देश◾होमगार्ड मामले में मायावती का यूपी सरकार पर वार, बेरोजगारी बढ़ाने का लगाया आरोप◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए 3 आतंकवादी◾होमगार्ड मामले पर प्रियंका का सवाल- योगी सरकार पर कौन सा फितूर है सवार ◾आईएनएक्स मीडिया: चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ED टीम, कार्ति और नलिनी भी मौजूद◾

देश

परनीत कौर बोली- गठबंधन सरकारों में भारतीय अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा

कांग्रेस सांसद परनीत कौर ने नयी मोदी सरकार के पहले बजट को आशाओं के विपरीत बजट करार देते हुए मंगलवार को कहा कि आजाद भारत में गठबंधन की सरकारों में देश की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश बजट लोगों की उम्मीदों के प्रतिकूल रहा है। 

बजट पर चर्चा में भाग लेते हुए कौर ने देश की पहली पूर्णकालिक वित्त मंत्री के तौर पर बजट पेश करने के लिए निर्मला सीतारमण को बधाई दी। उन्होंने कहा कि देश में तीन बजट को परिवर्तनकारी माना जाता है। पहला ऐसा बजट 1991 में तत्कालीन वित्त मंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पेश किया गया जिसने भारत की अर्थव्यस्था की दशा और दिशा बदल दी। 

कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाया कर्नाटक में 'शिकार की राजनीति' करने का आरोप

कौर ने कहा कि इसके बाद 1997 में पी चिदंबरम ने ड्रीम बजट पेश किया और फिर 2004 में संप्रग सरकार का पहला बजट आया। इन दोनों बजट ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में बड़ी भूमिका निभाई। पटियाला से कांग्रेस सांसद ने कहा कि गठबंधन की सरकारों में भारत की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा। 

उन्होंने कहा कि प्रचंड बहुमत होने के बावजूद मोदी सरकार का यह बजट लोगों की आशाओं और अकांक्षाओं के विपरीत रहा है। कौर ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि बजट में रक्षा खर्च के लिए कोई स्पष्ट उल्लेख नहीं किया गया।