BREAKING NEWS

UP News: 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर योगी बोले- 75 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर हमे आगे बढ़ना होगा◾ IPL 2022 Final: आईपीएल का फाइनल मुकाबला देखने आएंगे मोदी-शाह! एक लाख से ज्यादा दर्शक होंगे मौजूद◾यूपी : योगी सरकार ने पुलिस विभाग में किया बड़ा फेरबदल, 11 IPS अधिकारियों के किए तबादले, देखें सभी की लिस्ट ◾J&K News: जम्मू कश्मीर के कठुआ में सुरक्षाबलों ने पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया गया◾'मन की बात' में बोले मोदी- देश में 'यूनिकॉर्न' कंपनियों की संख्या हुई 100, महामारी में भी बढ़ा स्टार्टअप और धन ◾नेपाल : 22 लोगों को लेकर जा रहा तारा एयरलाइन्स का विमान लापता, 4 भारतीय भी थे सवार, तलाश जारी ◾दिल्ली : साकेत कोर्ट के जज की पत्नी ने की आत्महत्या, कल से थी लापता, जांच में जुटी पुलिस ◾दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना की फोटो का इस्तेमाल कर युवक को दी धमकी, स्पेशल सेल कर रही जांच ◾यूपी : कर्नाटक से अयोध्या जा रहे श्रद्धालुओं के वाहन की ट्रक से टक्कर, 6 की मौत, 10 घायल ◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,828 नए केस, उपचाराधीन मामलों की संख्या हुई 17 हजार 87 ◾इंडोनेशिया : इंजन फेल होने से मकासर जलडमरूमध्य में डूबा जहाज, 25 लोग लापता, तलाश जारी ◾भारत के टीकाकरण अभियान की बिल गेट्स ने की तारीफ, दुनिया को सीख लेने की दी नसीहत ◾राज्यसभा को लेकर झारखंड के CM हेमंत सोरेन ने की सोनिया गांधी से की मुलाकात, मिल सकती है एक सीट ? ◾लिपुलेख, कालापानी को लेकर नेपाल ने फिर दोहराया बयान, PM देउबा बोले- जमीन वापस लेने के लिए है प्रतिबद्ध ◾आज का राशिफल ( 29 मई 2022)◾पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल पानी के मुद्दों पर वार्ता के लिए अगले हफ्ते भारत आएगा◾वेंकैया नायडू ने तमिलनाडु में करुणानिधि की 16 फुट ऊंची प्रतिमा का किया अनावरण ◾ योगी सरकार का कामकाजी महिलाओं के लिए बड़ा फैसला, जानें ऑफिस टाइमिंग को लेकर क्या दिया आदेश ◾ J&K : अनंतनाग इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, दो दहशतगर्द हुए ढेर ◾ Asia Cup 2022: रोमांचक मुकाबले में टीम इंडिया का शानदार प्रदर्शन, जापान को 2-1 से दी मात ◾

राहुल के ट्वीट पर पीयूष गोयल ने निशाना साधते हुए पूछा तीखा सवाल, खड़गे द्वारा लगाए गए आरोपों की कड़ी निंदा की

संसद का शीतकालीन सत्र का आज दूसरा दिन है, ऐसे में विपक्ष ने संसद के दोनों सदनों में भारी हंगामा किया। तो वहीं, पिछले सत्र यानी कि मॉनसून सत्र में विपक्ष के 12 सांसदों के द्वारा कथित तौर पर किया गया बुरा व्यवहार अब उनके गले की ऐसी फास बन गया है, जो विपक्ष को बैकफुट पर लाने में केंद्र सरकार की काफी सहायता कर रहा है।  

सदन में जनता की बात उठाने का पूरा अधिकार है लेकिन उसका एक तरीका होता है 

ऐसे में कांग्रेस के नेता राहुल गांधी के ट्वीट पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री और राज्य सभा में नेता सदन पीयूष गोयल ने कहा कि सांसदों को सदन में जनता की बात उठाने का पूरा अधिकार है लेकिन उसका एक तरीका होता है, नियम होता है। राहुल गांधी से सवाल पूछते हुए गोयल ने कहा कि उन्हें अपने अगले ट्वीट में देश को यह बताना चाहिए कि क्या इन 12 सांसदों ने जिस तरह का व्यवहार सदन में किया, उसे वो सही मानते हैं ? 

इन सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करने का पूरा अधिकार था 

राज्य सभा सभापति पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा लगाए गए आरोपों की भी कड़ी निंदा करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सदन और सभापति का अपमान इन सांसदों द्वारा किया गया था और इन सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करने का पूरा अधिकार था। 

12 सांसदों के निलंबन पर राहुल का ट्वीट, 'किस बात की माफी, संसद में जनता की बात उठाने की'

सभापति का अपमान करने वाले इन सांसदों को माफी मांग लेनी चाहिए, ताकि 

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सदन और सभापति का अपमान करने वाले इन सांसदों को माफी मांग लेनी चाहिए, ताकि अच्छे वातावरण में लोक सभा और राज्य सभा दोनों सदन चल सके और सदन में कोरोना के बढ़ रहे खतरे ( नए वैरिएंट ) और देश की अन्य समस्याओं पर सही तरीके से चर्चा हो सके। 

पीयूष गोयल ने कहा- पूरा देश उनकी मंशा को समझ और देख रहा था 

विरोधी दलों पर तीखा हमला जारी रखते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि सभापति लगातार विपक्ष से सदन चलने देने की अपील करते रहे, लेकिन मानसून सत्र में विपक्ष पहले दिन से ही सदन नहीं चलने देने पर आमादा था। पूरा देश उनकी मंशा को समझ और देख रहा था। विरोधी दल पहले दिन से ही लगातार सदन और चेयर का अपमान कर रहे थे और मानसून सत्र के आखिरी दिन 11 अगस्त को उन्होंने जो घिनौनी हरकत की उसका सच उन्ही के द्वारा किए गए वीडियो रिकॉडिर्ंग के जरिए सारे देश ने देखा।  

उन सांसदों के निलंबन का प्रस्ताव लेकर राज्यसभा में आ जाए, हम उनका समर्थन करेंगे 

इसलिए उसके बाद आए पहले सत्र के पहले दिन ही सरकार ने सदन, अध्यक्ष और उपाध्यक्ष की गरिमा बनाए रखने के लिए इन 12 सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध सदन से किया। टेबल पर चढ़ने वाले विरोधी दलों के अन्य सांसदों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के विपक्षी नेताओं के बयान पर बोलते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि अगर ऐसा है तो ये दल उन सांसदों के निलंबन का प्रस्ताव लेकर राज्य सभा में आ जाए, हम उनका समर्थन करेंगे।