BREAKING NEWS

अयोध्या के विवादित ढांचा को ढहाए जाने के मामले में कल्याण सिह को समन जारी◾‘Howdy Modi’ के लिए ह्यूस्टन तैयार, 50 हजार टिकट बिके ◾‘Howdy Modi’ कार्यक्रम के लिए PM मोदी पहुंचे ह्यूस्टन◾प्रधानमंत्री का ह्यूस्टन दौरा : भारत, अमेरिका ऊर्जा सहयोग बढ़ाएंगे ◾क्या किसी प्रधानमंत्री को ऐसे बोलना चाहिए : पाक को लेकर मोदी के बयान पर पवार ने पूछा◾कश्मीर पर भारत की निंदा करने के लिये पाकिस्तान सबसे ‘अयोग्य’ : थरूर◾राजीव कुमार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज ◾AAP ने अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने में देरी पर ‘धोखा दिवस’ मनाया ◾ शिवसेना, भाजपा को महाराष्ट्र चुनावों में 220 से ज्यादा सीटें जीतने का भरोसा◾आधारहीन है रिहाई के लिए मीरवाइज द्वारा बॉन्ड पर दस्तखत करने की रिपोर्ट : हुर्रियत ◾TOP 20 NEWS 21 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामदास अठावले ने किया दावा - गठबंधन महाराष्ट्र में 240-250 सीटें जीतेगा ◾कृषि मंत्रालय से मिले आश्वासन के बाद किसानों ने खत्म किया आंदोलन ◾फडणवीस बोले- भाजपा और शिवसेना साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव, मैं दोबारा मुख्यमंत्री बनूंगा◾चुनावों में जनता के मुद्दे उठाएंगे, लोग भाजपा को सत्ता से बाहर करने को तैयार : कांग्रेस◾चुनाव आयोग का ऐलान, महाराष्ट्र-हरियाणा के साथ इन राज्यों की 64 सीटों पर भी होंगे उपचुनाव◾महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगी वोटिंग, 24 को आएंगे नतीजे◾ISRO प्रमुख सिवन ने कहा - चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर अच्छे से कर रहा है काम◾विमान में तकनीकी खामी के चलते जर्मनी के फ्रैंकफर्ट में रुके PM मोदी, राजदूत मुक्ता तोमर ने की अगवानी◾जम्मू-कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन◾

देश

पेरिस में PM मोदी का संबोधन, बोले-हिंदुस्तान में अब टेंपरेरी के लिए व्यवस्था नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पेरिस में यूनेस्को कार्यालय पहुंचे है। जहां प्रधानमंत्री का शानदार स्वागत किया गया। इस दौरान पीएम मोदी ने यूनेस्को की महानिदेशक ऑड्रे एज़ोले से मुलाकात की। यूनेस्को कार्यालय में पीएम मोदी ने भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने पेरिस में यूनेस्को मुख्यालय में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, मैं उन सभी महान भारतीय परमाणु भौतिक विज्ञानी होमी भाबा को नमन करता हूं, जिन्होंने दो दुर्घटनाओं (एयर इंडिया विमान दुर्घटना में, 1950 और 1966 में फ्रांस के सेंट ग्वारिस ) में अपनी जान गंवाई है।

उन्होंने ने कहा , मैं आपको बताना चाहता हूं कि भारत अब आगे बढ़ रहा है, हमें जो जनादेश मिला है वह केवल सरकार चलाने के लिए नहीं है, बल्कि नए भारत के निर्माण के लिए है। मैं फुटबॉल प्रेमियों के देश आया हूं, आप एक लक्ष्य के महत्व को अच्छी तरह से जानते हैं, यही अंतिम उपलब्धि है। पिछले 5 वर्षों में हमने ऐसे लक्ष्य निर्धारित किए जिन्हें पहले पूरा करना असंभव माना जाता था।

प्रधानमंत्री ने कहा , जब मैं 4 साल पहले फ्रांस आया था, तो हजारों की संख्या में भारतीयों से संवाद का अवसर मिला था।  मुझे याद है, तब मैंने आपसे एक वादा किया था। मैंने कहा था कि भारत आशाओं और आकांक्षाओं के नए सफर पर निकलने वाला है। आज जब आपके बीच आया हूं तो कह सकता हूं कि हम न सिर्फ उस सफर पर निकल पड़े, बल्कि 130 करोड़ भारतवासियों के सामूहिक प्रयासों से भारत तेज़ गति से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। यही कारण है कि इस बार फिर देशवासियों ने अधिक प्रचंड जनादेश देकर हमारी सरकार को समर्थन दिया है। 

पीएम मोदी ने कहा की इन दिनों पेरिस राम मैं रम गया है, पूज्य बापू (महात्मा गाँधी) की निश्रा में सब लोग राम की भक्ति मैं डूबे हैं। पीएम मोदी ने पेरिस में भ्रष्टाचार और आतंकवाद जैसे मुद्दों का जिक्र करते हुए कहा, नए भारत में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद, लोगों के पैसे की लूट, आतंकवाद के खिलाफ जिस तरह से कार्रवाई हो रही है, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। 

पीएम मोदी ने कहा की नए सरकार के सत्ता में आने के 75 दिनों के भीतर हमने कई मजबूत फैसले लिए है। आज 21 वीं सदी में हम इन्फ्रा की बात करते हैं। मैं कहना चाहूंगा कि मेरे लिए यह IN + FRA है, जिसका अर्थ है भारत और फ्रांस के बीच गठबंधन। मुझे बताया गया कि गणेश महोत्सव पेरिस के सांस्कृतिक कैलेंडर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। इस दिन पेरिस एक मिनी इंडिया की तरह दिखता है, जिसका मतलब है कि कुछ दिनों में हम यहां 'गणपति बप्पा मोरया' का जाप करेंगे। 

उन्होंने कहा, ये जनादेश सिर्फ एक सरकार चलाने के लिए नहीं, बल्कि नए भारत के निर्माण के लिए है। ऐसा नया भारत जिसकी समृद्ध सभ्यता और संस्कृति पर पूरे विश्व को गर्व हो, और जो 21वीं सदी को संचालन करे। पूरी दुनिया में, एक तय समय में सबसे ज्यादा बैंक अकाउंट अगर किसी देश में खुले हैं, तो वो भारत है। पूरी दुनिया की अगर आज सबसे बड़ी हेल्थ एश्योरेंस स्कीम किसी देश में चल रही है, तो वो भारत है। 

अपने संबोधन में पीएम ने कहा, ‘हिंदुस्तान में अब टेंपरेरी के लिए व्यवस्था नहीं है, आपने देखा होगा कि 125 करोड़ लोगों का देश, गांधी और बुद्ध की धरती, राम-कृष्ण की भूमि से टेंपरेरी को निकालते-निकालते सत्तर साल चले गए। टेंपरेरी को निकालने में 70 साल, मुझे तो समझ नहीं आया कि हंसना है या रोना है।’