BREAKING NEWS

ट्रैक्टर रैली पर किसान और पुलिस की बैठक बेनतीजा, रिंग रोड पर परेड निकालने पर अड़े अन्नदाता ◾डेजर्ट नाइट-21 : भारत और फ्रांस के बीच युद्धाभ्यास, CDS बिपिन रावत आज भरेंगे राफेल में उड़ान◾किसानों का प्रदर्शन 57वें दिन जारी, आंदोलनकारी बोले- बैकफुट पर जा रही है सरकार, रद्द होना चाहिए कानून ◾कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका◾दिल्ली में अगले दो दिन में बढ़ सकता है न्यूनतम तापमान, तेज हवा चलने से वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान ◾देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 15223 नए केस, 19965 मरीज हुए ठीक◾TOP 5 NEWS 21 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व में आखिर कब थमेगा कोरोना का कहर, मरीजों का आंकड़ा 9.68 करोड़ हुआ ◾राहुल गांधी ने जो बाइडन को दी शुभकामनाएं, बोले- लोकतंत्र का नया अध्याय शुरू हो रहा है◾कांग्रेस ने मोदी पर साधा निशाना, कहा-‘काले कानूनों’ को खत्म क्यों नहीं करते प्रधानमंत्री◾जो बाइडन के शपथ लेने के बाद चीन ने ट्रंप को दिया झटका, प्रशासन के 30 अधिकारियों पर लगायी पाबंदी ◾आज का राशिफल (21 जनवरी 2021)◾PM मोदी ने शपथ लेने पर जो बाइडेन और कमला हैरिस को दी बधाई ◾केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान नेताओं का रुख सकारात्मक, बोले- विचार करेंगे ◾लोकतंत्र की जीत हुई है : अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने पहले भाषण में कहा ◾जो बाइडेन बने अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति ◾कमला देवी हैरिस ने अमेरिका की उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ लेकर रचा इतिहास ◾सरकार एक से डेढ़ साल तक भी कानून के क्रियान्वयन को स्थगित करने के लिए तैयार : नरेंद्र सिंह तोमर◾कृषि कानूनों पर रोक को तैयार हुई सरकार, अगली बैठक 22 जनवरी को◾TMC कार्यकर्ताओं ने रैली में की विवादित नारेबाजी, नारे से तृणमूल ने खुद को किया अलग◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना महामारी ने किसी एक स्रोत पर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की निर्भरता के जोखिम को उजागर किया : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को डेनमार्क की प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसन के साथ डिजिटल द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के दौरान कहा कि कोरोना वायरस महामारी ने किसी एक स्रोत पर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की अति निर्भरता से जुड़े जोखिम को उजागर किया है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान के साथ काम कर रहा है ताकि आपूर्ति श्रृंखला में विविधता लायी जा सके। उन्होंने कहा कि इस पहल में शामिल होने के लिए समान विचारधारा वाले देशों का स्वागत है। 

मोदी ने शिखर सम्मेलन में अपने शुरुआती संबोधन में यह भी कहा कि पिछले कुछ महीनों की घटनाओं ने देशों के लिए आवश्यक बना दिया कि वे मिल कर काम करने के लिए पारदर्शिता, लोकतांत्रिक मूल्य प्रणाली और नियमों पर आधारित आदेश पर भरोसा करें। 

प्रधानमंत्री ने किसी भी देश या स्रोत का नाम लिए बिना कहा, ‘‘महामारी ने किसी एक स्रोत पर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की अत्यधिक निर्भरता से जुड़े जोखिम को उजागर कर दिया है।’’ मोदी ने सरकार की आत्मनिर्भर भारत पहल के साथ ही कृषि, कराधान और श्रम बाजार जैसे क्षेत्रों के विभिन्न सुधार उपायों को भी रेखांकित किया। 

मोदी ने कहा, ‘‘ हम (आत्मनिर्भर भारत) पहल के तहत चौतरफा सुधारों पर ध्यान दे रहे रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि भारत में काम करने वाली कंपनियों को विनियामक और कराधान सुधारों से लाभ होगा। डेनमार्क उत्तरी यूरोप का एक प्रमुख देश है जिसके साथ पिछले कुछ वर्षों में भारत के द्विपक्षीय व्यापारिक संबंधों में महत्वपूर्ण विस्तार हुआ है। 

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार भारत और डेनमार्क के बीच 2016 से 2019 के बीच वस्तुओं और सेवाओं के द्विपक्षीय व्यापार में 30.49 प्रतिशत की वृद्धि हुयी तथा व्यापार का आकार 2.82 अरब डॉलर से बढ़कर 3.68 अरब डॉलर हो गया। 

डेनमार्क की करीब 200 कंपनियों ने भारत में जहाजरानी, नवीकरणीय ऊर्जा, पर्यावरण, कृषि और खाद्य प्रसंस्करण जैसे क्षेत्रों में निवेश किया है। 

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार डेनमार्क की प्रमुख कंपनियों में करीब 5,000 भारतीय पेशेवर काम कर रहे हैं वहीं 20 भारतीय आईटी कंपनियां दशकों से डेनमार्क में काम कर रही हैं। 

ग्रंडफोस, डैनफॉस, वेस्टास, एलएम विंड, नोवोजीम्स, रॉकवूल, हल्डोर टोपसो जैसी प्रमुख डेनिश कंपनियों ने 'मेक इन इंडिया' योजना के तहत भारत में कारखानों और विनिर्माण इकाइयों की स्थापना की है। 

3 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी अटल सुरंग रोहतांग का करेंगे उद्घाटन, सामरिक रूप से है बेहद खास