BREAKING NEWS

लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1330 नए मामले आए सामने , मौत का आंकड़ा 708 पहुंचा ◾हथिनी की मौत पर विवादित बयान देने पर केरल पुलिस ने मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की FIR◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,436 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 80 हजार के पार◾लद्दाख तनाव : कल सुबह 9 बजे मालदो में होगी भारत और चीन के बीच ले. जनरल स्तरीय बातचीत ◾पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : मुंह में गहरे घावों के कारण दो हफ्ते भूखी थी गर्भवती हथिनी, हुई दर्दनाक मौत◾केंद्रीय गृह मंत्रालय की मीडिया विंग में भारी फेरबदल, नितिन वाकणकर नये प्रवक्ता नियुक्त किये गए ◾भाजपा नेता और टिक टोक स्टार सोनाली फोगाट ने हिसार मंडी समिति के सचिव को पीटा , वीडियो वायरल ◾सैन्य बातचीत से पहले बोला चीन-भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध◾PM मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के ऐलान को कपिल सिब्बल ने बताया 'जुमला'◾दिल्ली के पीतमपुरा में एक मेड से 20 लोगों को हुआ कोरोना, 750 से ज्यादा लोग हुए सेल्फ क्वारंटाइन◾कोरोना संकट पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, नई योजनाओं पर मार्च 2021 तक लगी रोक◾गुजरात में कांग्रेस को तीसरा झटका, एक और विधायक ने दिया इस्तीफा◾दिल्ली मेट्रो में हुई कोरोना की एंट्री, 20 कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि◾'विश्व पर्यावरण दिवस' पर PM मोदी का खास सन्देश, कहा- जैव विविधता को संरक्षित रखने का संकल्प दोहराएं◾उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में ट्रक और स्कॉर्पियो की भीषण टक्कर, 9 लोगों की मौत◾World Corona : दुनिया में पॉजिटिव मामलों की संख्या 66 लाख के पार, अब तक करीब 4 लाख लोगों की मौत ◾कोविड-19 : देश में 10 हजार के करीब नए मरीजों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 27 हजार के करीब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लॉकडाउन पर PM मोदी को मिला सोनिया का समर्थन, बोलीं- कोरोना संकट से निपटने के लिए कांग्रेस है सरकार के साथ

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उठाए गए 21 दिनों के लॉकडाउन का समर्थन किया। उन्होंने गुरुवार को पीएम मोदी से आग्रह किया कि ''न्यूनतम आय गारंटी योजना'' (न्याय) लागू करके आजीविका के संकट का सामना कर रहे मजदूरों एवं गरीबों के खातों में आर्थिक मदद भेजी जाए और किसानों एवं छोटे कारोबारियों को राहत देने के लिए कदम उठाए जाएं।

प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर सोनिया ने यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी कोरोना वायरस के कारण पैदा हुए इस संकट से निपटने के लिए पूरी तरह से सरकार के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा, ''कोरोना वायरस की महामारी ने लाखों लोगों का जीवन खतरे में डाल दिया है तथा पूरे देश में खासकर समाज के सबसे कमजोर वर्ग के लोगों की आजीविका एवं रोजमर्रा के जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। कोरोना महामारी को रोकने व हराने के संघर्ष में पूरा देश संगठित होकर एक साथ खड़ा है।'' 

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''कोराना वायरस से लड़ने के लिए आपकी सरकार द्वारा घोषित ‘21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन’ का हम समर्थन करते हैं। मैं विश्वास दिलाती हूँ कि इस महामारी को रोकने के लिए उठाए गए हर कदम में हम सरकार को अपना पूरा सहयोग देंगे।'' कांग्रेस अध्यक्ष ने आग्रह किया कि कोरोना वायरस से लड़ रहे चिकित्साकर्मियों के लिए एन-95 मास्क एवं दूसरे सभी स्वास्थ्य सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराए जाएं । उन्होंने कहा कि मजदूरों और गरीबों को राहत देने के लिए न्याय योजना लागू करके उनके खातों में सीधी आर्थिक मदद भेजी जाए।

दिल्ली : मोहल्ला क्लिनिक डॉक्टर में था कोरोना पॉजिटिव, अब मौजपुर इलाके के 900 लोग होंगे क्वॉरनटाइन

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ''इस समय भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा प्रस्तावित ‘न्याय योजना’ यानि ‘न्यूनतम आय गारंटी योजना’ को लागू करना सबसे ज्यादा जरूरी है। इस मुश्किल दौर में जिन गरीबों पर इस महामारी की सबसे ज्यादा आर्थिक मार पड़ने वाली है, उन्हें न्याय योजना से सबसे अधिक राहत मिलेगी।'' दरअसल, पिछले लोकसभा चुनाव के समय ठीक एक साल पहले तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 25 मार्च को ‘न्याय’ का वादा किया था। इसके तहत देश के करीब पांच करोड़ गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपये देने का वादा किया गया था।

सोनिया ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया, ''इस विपदा की घड़ी में किसानों के रिण व बकाया राशि की वसूली को छः महीनों के लिए रोक दिया जाना चाहिए एवं नए सिरे से तथा उदार हृदय से किसानों की कर्जमुक्ति के बारे में निर्णय लिया जाना चाहिए।'' उन्होंने छोटे एवं मध्यम व्यापारियों की दिक्कतों का उल्लेख करते हुए कहा, ''केंद्र सरकार को हर सेक्टर के लिए विशेष राहत पैकेजों की घोषणा करनी चाहिए तथा उन्हें आवश्यक टैक्स ब्रेक, ब्याज माफी एवं देनदारियों पर छूट अनिवार्य होना चाहिए।''