BREAKING NEWS

केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾अखिलेश के ‘अन्न संकल्प’ पर स्वतंत्र देव का पलटवार, ‘गन’ से डराने वाले किसान हितैषी बनने का कर रहे ढोंग ◾12-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए फरवरी अंत तक हो सकती है टीकाकरण की शुरुआत :NTAGI प्रमुख ◾ अबू धाबी में एयरपोर्ट के पास ड्रोन से अटैक, यमन के हूती विद्रोहियों ने UAE में हमले की ली जिम्मेदारी ◾कोरोना संकट के बीच देश की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन, खास तौर पर Omicron के लिए कारगर◾CM चन्नी के भाई को टिकट न देने से सिद्ध होता है कि कांग्रेस ने दलित वोटों के लिए उनका इस्तेमाल किया : राघव चड्ढा◾उत्तराखंड : हरीश रावत बोले-हरक सिंह मांग लें माफी तो कांग्रेस में उनका स्वागत◾इस साल 75वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर 75 एयरक्राफ्ट उड़ान भरेंगे,आसमान से दिखेगी भारत की ताकत◾पंजाब : AAP की ओर से मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा कल करेंगे केजरीवाल◾सम्राट अशोक की तुलना मामले ने बढ़ाई BJP-JDU में तकरार, जायसवाल ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ◾पीएम की सुरक्षा में चूक की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली खालिस्तानियों की धमकी◾

'मन की बात' कार्यक्रम में बोले PM मोदी- हमारी भूमि पर आंख उठाकर देखने वाले को भारत उचित जवाब देना जानता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में कहा कि गलवान घाटी में नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ चल रहे तनाव को भारत मित्रता से निभाना जानता है लेकिन यदि कोई उसकी भूमि पर आंख उठाकर देखता है तो इसका उचित जवाब देना भी जानता है। आकाशवाणी पर मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात 2.0’ की 13वीं कड़ी में प्रधानमंत्री ने गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सपूतों को याद करते हुए देश को आश्वस्त किया कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

 उन्होंने कहा, ‘‘अपनी सीमाओं और संप्रभुता की रक्षा के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दुनिया ने देखा है। भारत मित्रता निभाना जानता है लेकिन भारत की भूमि पर आंख उठाकर देखने वालों को आंख में आंख डालकर देखना और उचित जवाब देना भी जानता है।’’ मोदी ने कहा, ‘‘हमारे वीर सैनिकों ने दिखा दिया कि वे कभी भी मां भारती के गौरव को आंच नहीं आने देंगे। लद्दाख में हमारे जो भी जवान शहीद हुए, उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है। पूरा देश उनका कृतज्ञ है। उनके सामने पूरा देश नतमस्तक है।

Covid-19 : देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 19,906 नए मामले और 410 लोगों ने गंवाई जान

 हर भारतीय उन्हें खोने का दर्द भी अनुभव कर रहा है।’’ कोविड-19 महामारी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश जहां एक तरफ मजबूती से इस संकट का सामना कर रहा है, वहीं दूसरी ओर ‘‘कुछ पड़ोसियों’’ द्वारा पेश की गई चुनौतियों से भी निपट रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘अब से छह-सात महीने पहले हम कहां जानते थे कि कोरोना जैसा संकट आएगा और इसके खिलाफ यह लड़ाई इतनी लंबी चलेगी। यह संकट तो बना ही हुआ है, ऊपर से देश में नित नई चुनौतियां सामने आती जा रही हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने हमेशा, संकटों को सफलता की सीढ़ियों में परिवर्तित किया है। इसी भावना के साथ हमें आज भी आगे बढ़ते ही रहना है। आप भी इसी विचार से आगे बढ़ेंगे, 130 करोड़ देशवासी आगे बढ़ेंगे तो यही साल देश के लिए नए कीर्तिमान बनाने वाला साल साबित होगा। इसी साल में, देश, नए लक्ष्य प्राप्त करेगा, नयी उड़ान भरेगा, नयी ऊंचाइयों को छुएगा। मुझे, पूरा विश्वास, 130 करोड़ देशवासियों की शक्ति पर है, आप सब पर है, इस देश की महान परम्परा पर है।’’प्रधानमंत्री ने कहा कि वाकई, एक-साथ इनती आपदाएं, इस स्तर की आपदाएं, बहुत कम ही देखने-सुनने को मिलती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हालत तो ये हो गयी है, कि, कोई छोटी-छोटी घटना भी हो रही है, तो, लोग उन्हें भी इन चुनौतियों के साथ जोड़कर के देख रहें हैं।’’आपदाओं और अन्य चुनौतियों को लेकर आम जनमानस के बीच चल रही चर्चा का विस्तार से जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि एक साल में एक चुनौती आए या पचास चुनौतियां आएं, नंबर कम-ज्यादा होने से कोई साल ख़राब नहीं हो जाता।

मोदी ने कोरोना वायरस संकट के दौरान भारत की वैश्विक भूमिका का जिक्र करते हुए कहा कि संकट चाहे जितना भी बड़ा हो, भारत के संस्कार, नि:स्वार्थ भाव से सेवा की प्रेरणा देते हैं।उन्होंने कहा, ‘‘भारत ने जिस तरह मुश्किल समय में दुनिया की मदद की, उसने आज, शांति और विकास में भारत की भूमिका को और मज़बूत किया है। दुनिया ने इस दौरान भारत की विश्व बंधुत्व की भावना को भी महसूस किया है।’’