BREAKING NEWS

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा हुआ स्थगित, सैन्य तैयारियों का लेना था जायजा◾राहुल ने केंद्र पर रेलवे का निजीकरण करने का लगाया आरोप, बोले- रेल को भी गरीबों से छीन रही है सरकार◾रविशंकर प्रसाद बोले-अगर कोई बुरी नजर डालता है तो भारत मुंहतोड़ जवाब देगा◾दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शाह ने आज योगी,केजरीवाल और खट्टर की बुलाई बैठक ◾ जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन ◾देश के पहले 'प्लाज्मा बैंक' का CM केजरीवाल ने किया उद्घाटन, जाने कैसे डोनेट कर सकते हैं प्लाज्मा◾मध्यप्रदेश : शिवराज चौहान के मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री ने ली शपथ ◾देश में कोरोना का आंकड़ा 6 लाख के पार, पिछले 20 दिनों के अंदर 3 लाख से अधिक केस आए सामने ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 6 लाख के पार, अब तक 5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾असम में बाढ़ से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 33 हुई, 15 लाख लोग हुए प्रभावित◾प्रियंका गांधी का मकान खाली कराने का कदम PM मोदी और CM योगी की बेचैनी दिखाता है : कांग्रेस◾रेलवे ने दी निजी यात्री ट्रेने शुरू करने को हरी झंडी, 30,000 करोड़ रुपये का होगा निवेश◾भारत के साथ सैन्य कमांडरों की बातचीत में प्रगति का चीन ने किया स्वागत, कहा - तनाव जल्द कम होगा ◾चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, कहा - सुरक्षा के लिए जरूरी ◾दिल्ली में 2,442 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 89 हजार के पार ◾UAPA कानून के तहत गृह मंत्रालय ने खालिस्तानी समूहों से जुड़े नौ लोगों को आतंकवादी घोषित किया ◾ 5,537 नए मामलों के साथ महाराष्ट्र में कोरोना मीटर पहुंचा 1,80,298, अबतक 8,053 मरीजों की मौत ◾59 चीनी ऐप बैन करने के बाद पीएम मोदी ने चीनी सोशल मीडिया प्लेटफार्म वीबो को कहा अलविदा ◾कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से एक महीने में सरकारी बंगला खाली करने का आदेश◾चीन की दादागिरी पर अमेरिका सख्त,कहा - अगर हांगकांग को “निगलने” की कोशिश की हम चुप नहीं बैठेंगे ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मन की बात में बोले PM मोदी - लॉकडाउन का नियम तोड़ने वाले अपने जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं

कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते देश में लगे लॉकडाउन के बीच आज यानि रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात पेश किया। प्रधानमंत्री ने आज सुबह 11 बजे अपने 63 वें 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। इस वर्ष मासिक रेडियो कार्यक्रम के माध्यम से यह उनका तीसरा संबोधन रहा।

कार्यक्रम के शुरुआत में प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये लागू किये गये लॉकडाउन से हुई परेशानी के लिए लोगों खासकर श्रमिक एवं अन्य कम आय वर्ग के लोगों से माफी मांगी। उन्होंने देशवासियों से कोरोना को परास्त करने के लिये रविवार को चिकित्सकों की सलाह मानने और लॉकडाउन का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि "मुझे पता है कि आप में से कुछ लोग मुझसे नाराज होंगे। लेकिन इस लड़ाई को जीतने के लिए इन कठोर उपायों की आवश्यकता थी।"

मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में देशवासियों से कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग कठिन है जो जीवन और मृत्यु के बीच की लड़ाई है जिसे ऐसे कठोर फैसलों की आवश्यकता थी। लॉकडाउन लागू करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आप सभी को जो भी कठिनाई हुई  है उसके लिये क्षमा मांगता हूं।’’ मोदी ने कहा कि बीमारी का प्रकोप फैलने से पहले ही उससे निपटना चाहिये वरना बीमारी असाध्य हो जाती है।

मोदी ने कहा, ‘‘कोरोना सभी को चुनौती दे रहा है। ये देश की सीमाओं से परे है। यह मानव जाति को समाप्त करने की जिद ठान कर बैठा है। लेकिन हमें इसका खात्मा करने का संकल्प लेकर ही आगे बढ़ना होगा।’’ उन्होंने लोगों से आने वाले कई दिनों तक धैर्य बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि हमें लक्ष्मणरेखा का पालन करना ही है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग नियमों का अब भी पालन नहीं कर रहे हैं। उनसे यही कहना है कि अगर लॉकडाउन का पालन नहीं करेंगे तो इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। क्योंकि कुछ देशों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया, इसकी वे आज कीमत चुका रहे हैं।

CM योगी ने जारी किया निर्देश, UP के जेल में बंद 11,000 कैदियों की होगी रिहाई

मोदी ने कहा कि इस संघर्ष में अग्रिम पंक्ति में लगे कई योद्धा खासकर नर्स बहनें, डाक्टर पारामेडिकल स्टाफ कोरोनो को पराजित कर चुके हैं, उनसे प्रेरणा लेनी है। उन्होंने ऐसे ही कुछ लोगों से कार्यक्रम के दौरान फोन पर बात की। मोदी ने हैदराबाद के आईटी विशेषज्ञ रामगंपा तेजा से बात की। राम ने उन्हें बताया कि वह आईटी सेक्टर की एक बैठक में हिस्सा लेने के लिये दुबई गये थे। दुबई से भारत वापस आते ही उन्हें बुखार हुआ। हैदराबाद में एक अस्पताल में उन्हें कोरोना के परीक्षण में संक्रमण की पुष्टि हुई।

राम ने बताया कि उन्होंने डाक्टरों की देखरेख में इलाज कराया और 14 दिन बाद ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी मिली। मोदी ने उनके अनुभवों से देशवासियों से सबक लेने की अपील करते हुए कहा कि राम ने हर उस निर्देश का पालन किया जो डाक्टर ने दिये तभी वह कोरोना को पराजित कर स्वस्थ हो सके।प्रधानमंत्री ने आगरा के अशोक कपूर से भी बात की जिनका पूरा परिवार कोरोना वायरस की चपेट में आ गया था। मोदी ने अशोक से सोशल मीडिया के जरिए आगरा में इसके बारे में जागरुकता फैलाने की अपील की।