BREAKING NEWS

ममता बनर्जी ने गोवा में गठबंधन के लिये सोनिया से किया था संपर्क - TMC◾कोरोना वायरस टीके की बूस्टर खुराक अब लोगों को दी जानी चाहिए - WHO◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी ; को-विन पोर्टल से कोई डेटा लीक नहीं हुआ है◾कांग्रेस आलाकमान की हरी झंडी के बाद हरक सिंह रावत की पार्टी में हुई वापसी ◾अमेरिका-कनाडा सीमा पर 4 भारतीयों की मौत : विदेश मंत्री ने भारतीय राजदूतों से तत्काल कदम उठाने को कहा ◾अमर जवान ज्योति को लेकर गरमाई राजनीति, BJP ने साधा राहुल पर निशाना◾PM मोदी कल विभिन्न जिलों के DM के साथ करेंगे बातचीत , सरकारी योजनाओं का लेंगे फीडबैक ◾DELHI CORONA UPDATE: सामने आए 10756 नए केस, 38 की हुई मौत◾केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह से नौसेना प्रमुख ने की मुलाकात, डीप ओशन मिशन के तौर-तरीकों पर हुई चर्चा◾गोवा: उत्पल पर्रिकर ने भाजपा छोड़ी, पणजी से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लड़ेंगे चुनाव ◾BJP ने 85 उम्‍मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी की, कांग्रेस छोड़कर आईं अदिति सिंह को रायबरेली से मिला टिकट◾उत्तर प्रदेश : मुख्‍यमंत्री योगी ने किया चुनावी गीत जारी, यूपी फ‍िर मांगें भाजपा सरकार◾ भारत सरकार ने पाक की नापाक साजिश को एक बार फिर किया बेनकाब, देश विरोधी कंटेंट फैलाने वाले 35 यूट्यूब चैनल किए बंद ◾भाजपा ने पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 34 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की ◾मणिपुर के 50 वें स्थापना दिवस पर पीएम ने दिया बयान, राज्य को भारत का खेल महाशक्ति बनाना चाहती है सरकार ◾15-18 आयु के चार करोड़ से अधिक किशोरों को मिली कोविड की पहली डोज, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी ◾शाह ने साधा वाम दलों पर निशाना, कहा- कम्युनिस्टों का सियासी प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ हिंसा का रहा इतिहास ◾UP चुनाव को लेकर बिहार में गरमाई सियासत, तेजस्वी शुरू करेंगे SP के समर्थन में प्रचार, BJP पर कसा तंज... ◾ कर्नाटक सरकार ने खत्म किया कोरोना का वीकेंड कर्फ्यू, लेकिन ये पाबंदी लागू ◾नेशनल वॉर मेमोरियल में जल रही लौ में मिली इंडिया गेट की अमर जवान ज्‍योति◾

PM मोदी ने परिवारवाद पर कसा तंज, कहा- लोकतांत्रिक चरित्र खो चुकी पार्टियां नहीं कर सकती लोकतंत्र की रक्षा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संविधान दिवस के अवसर पर कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि जो राजनीतिक दल अपना लोकतांत्रिक चरित्र खो चुके हैं, वह लोकतंत्र की रक्षा नहीं कर सकते हैं। संसद के केंद्रीय कक्ष में संविधान दिवस पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने पारिवारिक पार्टियों को संविधान के प्रति समर्पित राजनीतिक दलों के लिए चिंता का विषय बताया।

पीएम मोदी ने विपक्ष को लिया आड़े हाथों, कही ये बात 

मोदी ने कहा,‘‘देश में एक संवैधानिक लोकतांत्रिक परंपरा है और इसमें राजनीतिक दलों का अपना एक महत्व है। राजनीतिक दल भी हमारे संविधान की भावनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का एक प्रमुख माध्यम हैं, लेकिन संविधान की भावना को चोट तब पहुंचती है, जब राजनीतिक दल अपना लोकतांत्रिक चरित्र खो देते हैं।’’ उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि जो दल स्वयं लोकतांत्रिक चरित्र खो चुके हो, वह लोकतंत्र की रक्षा कैसे कर सकते हैं?

पारिवारिक पार्टियां बन गई है लोकतंत्र के लिए संकट 

उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर से कन्याकुमारी तक हिंदुस्तान के हर कोने में जाइए...आज भारत एक ऐसे संकट की तरफ बढ़ रहा है जो संविधान के समर्पित लोगों के लिए चिंता का विषय है। लोकतंत्र के प्रति आस्था रखने वालों के लिए चिंता का विषय है और वह है पारिवारिक पार्टियां।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी फॉर द फैमिली... पार्टी बाय द फैमिली... अब आगे कहने की जरूरत नहीं लगती है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि यह लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है।

प्रधानमंत्री ने संविधान निर्माताओं को दी श्रद्धांजलि 

अपने संबोधन की शुरुआत में प्रधानमंत्री ने संविधान निर्माताओं को श्रद्धांजलि दी स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया। प्रधानमंत्री ने मुंबई आतंकी हमले का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे लिए 26/11 दुखद दिन, क्योंकि इस दिन देश के दुश्मनों ने मुंबई में आतंकवादी हमले को अंजाम दिया था। मोदी ने 26/11 को मुंबई में हुए आतंकवादी हमले के दौरान देश की रक्षा करते हुए प्राण न्यौछावर करने वाले सुरक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि दी।

संसदीय कार्य मंत्री जोशी के स्वागत भाषण से हुई कार्यक्रम की शुरुआत 

कार्यक्रम की शुरुआत संसदीय कार्य मंत्री जोशी के स्वागत भाषण से हुई और उसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि संविधान एक भावना है, जो हमें जोड़ने की ताकत देती है और जनता की आकांक्षाओं और उम्मीदों को पूर्ण करने का मार्ग दिखाता है।

ज्ञात हो कि संविधान दिवस 26 नवंबर को मनाया जाता है क्योंकि 1949 में इसी दिन संविधान सभा ने भारत के संविधान को अंगीकार किया था। संविधान दिवस की शुरुआत 2015 से की गई थी। भारत का संविधान 26 जनवरी, 1950 को लागू हुआ था।